scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

शादी के लिए बुक किया था मैरिज हॉल, ओनर ने दूल्हे की जाति का पता चलते ही कैंसिल किया! मामला दर्ज

जयदीप ने 9 अप्रैल को होने वाली अपनी बहन की शादी के लिए रईस अब्बासी का हॉल बुक कराया था।
Written by: niteshdubey | Edited By: Nitesh Dubey
April 07, 2023 21:33 IST
शादी के लिए बुक किया था मैरिज हॉल  ओनर ने दूल्हे की जाति का पता चलते ही कैंसिल किया  मामला दर्ज
प्रतीकात्मक तस्वीर
Advertisement

उत्तर प्रदेश के मेरठ से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। दरअसल एक व्यक्ति ने अपनी बहन की शादी के लिए मैरिज हॉल बुक किया था लेकिन परिवार की जाति के कारण हॉल मालिक ने बुकिंग रद्द कर दी। वहीं मैरिज हॉल के मालिक ने इन आरोपों का खंडन किया है। वहीं इस मामले को लेकर एफआईआर दर्ज कर ली गई है। जबकि पुलिस ने परिवार को आश्वासन दिया है कि शादी समारोह स्थल पर होगी।

क्षेत्र की सर्किल ऑफिसर रुचिता चौधरी ने कहा कि एक स्थानीय निवासी जयदीप ने 9 अप्रैल को होने वाली अपनी बहन की शादी के लिए रईस अब्बासी का हॉल बुक कराया था। ये मामला मेरठ के खरखौदा थाना क्षेत्र का है। खरखौदा थाना क्षेत्र के अलीपुर गांव में निवासी जयदीप नगर निगम के सफाई कर्मचारी हैं और उनकी बहन पिंकी की शादी 9 अप्रैल को होनी थी, जिसके लिए उन्होंने एक मंडप बुक किया था।

Advertisement

आरोप है कि मंडप के मालिक रईस अब्बासी ने परिवार के वाल्मीकि समाज का होने की जानकारी मिलते ही बुकिंग रद्द कर दी और पैसे लेकर जाने के लिए कहा था। इस घटना के सामने आने के बाद वाल्मीकि समाज के लोगों ने गुरुवार को मेरठ के एसएसपी का घेराव कर कार्रवाई की मांग की थी।

जयदीप ने अपनी शिकायत में कहा, "जब अब्बासी को पता चला कि दूल्हा वाल्मीकि (अनुसूचित जाति समुदाय) है, तो उन्होंने मुझे सूचित किया कि बुकिंग रद्द कर दी गई है और मुझे दूसरे स्थान की तलाश करनी चाहिए।" जयदीप ने बताया कि रईस अब्बासी के खिलाफ खार खौदा थाने में प्राथमिकी दर्ज की गयी है।

Advertisement

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, "हमने जयदीप के परिवार के सदस्यों को भी आश्वासन दिया है कि शादी उसी स्थान पर होगी। हम मैरिज हॉल के प्रबंधन से बात कर रहे हैं।" वहीं हॉल के मालिक रईस अब्बासी ने कहा कि उन्होंने बुकिंग रद्द नहीं की, बल्कि वह कार्यक्रम स्थल पर मांसाहारी भोजन (non-vegetarian food) पकाने के खिलाफ थे। उन्होंने कहा कि मैंने कभी किसी से नहीं कहा कि बुकिंग जाति के कारण रद्द की गई है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो