scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Pune Porsche Case: नाबालिग आरोपी के पिता-दादा को मिली जमानत, ड्राइवर के अपहरण का था आरोप

पिछले हफ़्ते बॉम्बे हाई कोर्ट के आदेश के बाद नाबालिग को निगरानी गृह से रिहा कर दिया गया और उसकी कस्टडी उसकी मौसी को सौंप दी गई थी।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Nitesh Dubey
नई दिल्ली | Updated: July 02, 2024 23:21 IST
pune porsche case  नाबालिग आरोपी के पिता दादा को मिली जमानत  ड्राइवर के अपहरण का था आरोप
पुणे पोर्श एक्सीडेंट मामले में नाबालिग के पिता और दादा को जमानत मिली।
Advertisement

पुणे में पोर्श कार दुर्घटना में कथित रूप से शामिल नाबालिग के पिता और दादा को एक पारिवारिक ड्राइवर के अपहरण और गलत तरीके से बंधक बनाने के मामले में जमानत मिल गई है। आरोपी के दादा और पिता के वकील प्रशांत पाटिल ने बताया कि उनके मुवक्किलों को कथित अपहरण और गलत तरीके से बंधक बनाने के मामले में अदालत ने जमानत दे दी है।

Advertisement

आरोपी के माता, पिता और दादा जेल में थे

प्रशांत पाटिल ने कहा, "मेरे मुवक्किल जांच एजेंसी के साथ सहयोग करेंगे और अदालत की कड़ी (जमानत) शर्तों का पालन करेंगे।" नाबालिग के माता-पिता और दादा इस घटना से संबंधित दो अलग-अलग मामलों में जेल में हैं। लड़के के ब्लड के सैंपल की कथित अदला-बदली और परिवार के ड्राइवर के कथित अपहरण और गलत तरीके से बंधक बनाए रखने का मामला तीनों पर चल रहा है।

Advertisement

पिछले हफ़्ते बॉम्बे हाई कोर्ट के आदेश के बाद नाबालिग को निगरानी गृह से रिहा कर दिया गया और उसकी कस्टडी उसकी मौसी को सौंप दी गई थी। हालांकि पुलिस कमिश्नर अमितेश कुमार के हवाले से पीटीआई ने बताया कि पुणे पुलिस बॉम्बे हाई कोर्ट के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने की योजना बना रही है।

19 को घटी थी दर्दनाक घटना

जब यह घटना घटी तब नाबालिग कथित तौर पर नशे में था और अपने पिता (एक रियल एस्टेट व्यवसायी) की लग्जरी कार चला रहा था। 19 मई की सुबह पुणे के कल्याणी नगर इलाके में कार ने एक दोपहिया वाहन को टक्कर मार दी, जिसमें दो आईटी प्रोफेशनल्स की मौत हो गई थी। घटना के तुरंत बाद आक्रोश फैल गया क्योंकि किशोर न्याय बोर्ड (JJB) ने उसी दिन 17 वर्षीय किशोर को जमानत दे दी। बोर्ड ने आदेश दिया था कि उसे उसके माता-पिता और दादा की देखभाल और निगरानी में रखा जाए और उसे सड़क सुरक्षा पर 300 शब्दों का निबंध लिखने का निर्देश दिया था। निबंध वाले आदेश पर काफी विवाद हुआ था।

Advertisement

आरोपी नाबालिग के माता-पिता को ब्लड सैंपल की अदला-बदली में उनकी संदिग्ध भूमिका के लिए गिरफ्तार किया गया था। नाबालिग की मां ने 1 जून को सबूतों से छेड़छाड़ की बात स्वीकार करते हुए कहा कि उसने इस तथ्य को छिपाने के लिए उसके ब्लड सैंपल बदल दिए कि वह नशे में था।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो