scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

कौन हैं दिनेश कुमार त्रिपाठी जो होंगे देश के नए नेवी चीफ, इस मेडल से किया जा चुका है सम्मानित

वह संचार और इलेक्ट्रॉनिक युद्ध विशेषज्ञ हैं। उन्होंने नौसेना के फ्रंटलाइन युद्धपोतों पर सिग्नल संचार अधिकारी और इलेक्ट्रॉनिक युद्ध अधिकारी के रूप में और बाद में गाइडेड मिसाइल डिस्ट्रॉयर आईएनएस मुंबई के कार्यकारी अधिकारी और प्रधान युद्ध अधिकारी के रूप में भी काम किया है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
नई दिल्ली | Updated: April 19, 2024 11:14 IST
कौन हैं दिनेश कुमार त्रिपाठी जो होंगे देश के नए नेवी चीफ  इस मेडल से किया जा चुका है सम्मानित
देश के नए नए नौसेना प्रमुख दिनेश कुमार त्रिपाठी।
Advertisement

नौसेना स्टाफ के उप प्रमुख वाइस एडमिरल दिनेश कुमार त्रिपाठी देश के नए नौसेना प्रमुख होंगे। सरकार ने गुरुवार को उनको अगले नौसेना स्टाफ (सीएनएस) के रूप में नियुक्त किया। वह 30 अप्रैल की दोपहर में अपना चार्ज संभालेंगे। उसी दिन मौजूदा नौसेना प्रमुख (सीएनएस) एडमिरल आर हरि कुमार सेवानिवृत्त होने वाले हैं। वह 30 नवंबर 2021 को नौसेना स्टाफ के 25वें प्रमुख के रूप में सीएनएस के रूप में कार्यभार संभाला था।

सैनिक स्कूल रीवा, NDA खडकवासला के पूर्व छात्र रहे हैं

नए नौसेना प्रमुख बनने जा रहे वाइस एडमिरल दिनेश कुमार त्रिपाठी ने 4 जनवरी 2024 को नौसेना स्टाफ के उप प्रमुख के रूप में जिम्मेदारी संभाली थी। वह सैनिक स्कूल रीवा और राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खडकवासला के पूर्व छात्र रहे हैं। उन्हें 1 जुलाई 1985 को भारतीय नौसेना में नियुक्त किया गया था। उनका विवाह शशि त्रिपाठी से हुआ है। वह एक कलाकार और गृहिणी हैं। दंपति का एक बेटा है, जो पेशे से वकील है, जिसका विवाह तान्या से हुआ है, जो नीति निर्माण क्षेत्र में काम करती है।

Advertisement

उन्होंने कई महत्वपूर्ण परिचालन की जिम्मेदारी भी संभाली है

वह संचार और इलेक्ट्रॉनिक युद्ध विशेषज्ञ हैं। उन्होंने नौसेना के फ्रंटलाइन युद्धपोतों पर सिग्नल संचार अधिकारी और इलेक्ट्रॉनिक युद्ध अधिकारी के रूप में और बाद में गाइडेड मिसाइल डिस्ट्रॉयर आईएनएस मुंबई के कार्यकारी अधिकारी और प्रधान युद्ध अधिकारी के रूप में भी काम किया है। उन्होंने भारतीय नौसेना के जहाजों विनाश, किर्च और त्रिशूल की कमान संभाली। उन्होंने विभिन्न महत्वपूर्ण परिचालन और स्टाफ नियुक्तियों पर भी काम किया है, जिसमें मुंबई में पश्चिमी बेड़े के बेड़े संचालन अधिकारी, नौसेना संचालन निदेशक, प्रमुख निदेशक नेटवर्क सेंट्रिक संचालन और नई दिल्ली में प्रधान निदेशक नौसेना योजना शामिल हैं।

रियर एडमिरल के पद पर पदोन्नति होने पर उन्होंने एनएचक्यू में नौसेना स्टाफ के सहायक प्रमुख (नीति और योजना) और पूर्वी बेड़े के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग के रूप में कार्य किया। जून 2019 में वाइस एडमिरल के पद पर पदोन्नति होने पर फ्लैग ऑफिसर को केरल के एझिमाला में प्रतिष्ठित भारतीय नौसेना अकादमी के कमांडेंट के रूप में नियुक्त किया गया था। वह जुलाई 2020 से मई 2021 तक नौसेना संचालन के महानिदेशक थे। इस अवधि में नौसेना समुद्री संचालन की उच्च गति देखी गई।

Advertisement

उन्होंने यह सुनिश्चित किया कि नौसेना एक 'लड़ाकू तैयार, विश्वसनीय, एकजुट और भविष्य प्रतिरोधी बल' बनी रहे, जो कोविड महामारी की चौतरफा गंभीरता के बावजूद कई जटिल सुरक्षा चुनौतियों से निपटने के लिए तैयार है। बाद में, 21 जून से फरवरी 2023 तक ध्वज अधिकारी ने कार्मिक प्रमुख के रूप में कार्य किया।एडमिरल डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज वेलिंगटन से स्नातक हैं, जहां उन्हें थिमय्या पदक से सम्मानित किया गया था। उन्होंने 2007-08 में यूएस नेवल वॉर कॉलेज, न्यूपोर्ट, रोड आइलैंड्स में नेवल हायर कमांड कोर्स और नेवल कमांड कॉलेज में भी भाग लिया, जहां उन्होंने प्रतिष्ठित रॉबर्ट ई बेटमैन इंटरनेशनल पुरस्कार जीता।

Advertisement

वाइस एडमिरल त्रिपाठी कर्तव्य के प्रति समर्पण के लिए अति विशिष्ट सेवा पदक और नौसेना पदक के प्राप्तकर्ता हैं। वह एक उत्सुक खिलाड़ी भी हैं और टेनिस, बैडमिंटन और क्रिकेट का शौक से अनुसरण करते हैं। फ्लैग ऑफिसर अंतरराष्ट्रीय संबंधों, सैन्य इतिहास और नेतृत्व की कला और विज्ञान के एक उत्सुक छात्र हैं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 चुनाव tlbr_img2 Shorts tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो