scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

इस शहर में बनने जा रहा देश का पहला ट्राई-सर्विस कॉमन डिफेंस स्टेशन, जानें तीनों सेनाओं को इससे क्या होगा फायदा

Indian Army: एक ट्राई-सर्विस कॉमन डिफेंस स्टेशन में तीनों सेनाओं से जुड़ी हर सुविधा मौजूद होती है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Mohammad Qasim
नई दिल्ली | April 01, 2024 15:10 IST
इस शहर में बनने जा रहा देश का पहला ट्राई सर्विस कॉमन डिफेंस स्टेशन  जानें तीनों सेनाओं को इससे क्या होगा फायदा
भारतीय सेना की योजना पर काम जारी (फोटो : पीटीआई)
Advertisement

देश के महत्वपूर्ण शहर मुंबई को ट्राई-सर्विस कॉमन डिफेंस स्टेशन बनाने की योजना पर काम जारी है। इस योजना के तहत देश की आर्थिक राजधानी को सेना के सबसे महत्वपूर्ण शहर में तब्दील कर दिया जाएगा। इस बात को आसानी से इस तरह से समझा जा सकता है कि देश की तीनों सेनाएं --थल सेना, वायु सेना और नौसेना का एक ही स्टेशन होगा और इसकी लोकेशन मुंबई होगी। यह जानकारी इंडियन एक्सप्रेस ने दी है। अधिकारियों के मुताबिक इस योजना को जल्द ही अमल में लाया जाएगा।

अभी नहीं हैं एक भी कॉमन स्टेशन

फिलहाल देश में एक भी कॉमन डिफेंस स्टेशन नहीं है। जहां से तीनों सेनाएं एक साथ ऑपरेट करती हों। इससे पहले 2001 में अंडमान और निकोबार कमांड को ट्राई-सर्विस कॉमन डिफेंस के तौर पर तैयार किया गया था। एक ट्राई-सर्विस कॉमन डिफेंस स्टेशन में तीनों सेनाओं से जुड़ी हर सुविधा मौजूद होती है। जिसमें हर सर्विस, सप्लाई हर तरह की सुविधा होगी। मुंबई में बन रहा स्टेशन सेना का सबसे बड़ा अड्डा होगा।

Advertisement

अभी तीनों सेना अलग-अलग जगह से ऑपरेट करती हैं। इस योजना के तहत लॉजिस्टिक्स, इंफ्रास्ट्रक्चर और प्रशासन को एक साथ लाने का प्रयास हो रहा है। एक अधिकारी ने कहा कि इसका मतलब यह होगा कि व्यक्तिगत सेवाओं को एक जगह किया जाएगा और हर सुविधा सभी को एक जगह दी जाएगी, इससे बिखराव कम होगा और एफर्ट भी ज़्यादा नहीं लगाना पड़ेगा।

हर सुविधा को एक करने का मतलब यह है कि व्यक्तिगत सेवाओं के संसाधनों को सभी एक साथ इस्तेमाल करेंगे। जिसमें- स्कूल, अस्पताल और खेल मैदान जैसे बुनियादी ढांचे शामिल होंगे।

एक दूसरे अधिकारी ने कहा कि इससे संसाधनों का बेहतर प्रबंधन होगा और काम रिपिट नहीं होंगे। सेना को दूसरे अहम कामों में शामिल होने का मौका मिल सकेगा। अधिकारियों ने कहा कि मुंबई पहला ऐसा कॉमन रक्षा स्टेशन होने की योजना है। इसके अलावा सुलूर (कोयंबटूर के पास) और गुवाहाटी को दूसरे और तीसरे कॉमन स्टेशनों के तौर पर तैयार किए जाने की उम्मीद है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो