scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

डॉक्टरों ने ही बंद कराया था केजरीवाल का इंसुलिन, झूठ बोल रही AAP : LG वीके सक्सेना

Arvind Kejriwal in Tihar: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल तिहाड़ में न्यायिक हिरासत में हैं और इस दौरान उनके शुगर लेवल और स्वास्थ्य को लेकर काफी सियासी वार-पलटवार जारी है।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | Updated: April 20, 2024 23:29 IST
डॉक्टरों ने ही बंद कराया था केजरीवाल का इंसुलिन  झूठ बोल रही aap   lg वीके सक्सेना
केजरीवाल की हेल्थ के मुद्दे पर आमने-सामने आए LG वीके सक्सेना और AAP (सोर्स - PTI/File)
Advertisement

Delhi Arvind Kerjiwal: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल 1 अप्रैल से तिहाड़ जेल में न्यायिक हिरासत पर हैं, उनके स्वास्थ्य को लेकर दिल्ली की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (Aam Adami Party) ने हंगामा कर दिया है। आप नेताओं का दावा है कि अरविंद केजरीवाल शुगर की बीमारी से पीड़ित हैं लेकिन उन्हें इंसुलिन की डोज नहीं दी जा रही है, जो कि उनके स्वास्थ्य के साथ ही, उनकी जान के लिए भी एक बहुत बड़ा खतरा है। इसको लेकर जारी सियासत के बीच अब दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना (Delhi LG VK Saxena) का बयान सामने आया है जिसमें उन्होंने दावा किया है कि दिल्ली के सीएम केजरीवाल के डॉक्टरों ने ही उनको इंसुलिन देने पर रोक लगाई गई थी।

उपराज्यपाल वीके सक्सेना के दफ्तर द्वारा जारी बयान के मुताबिक तिहाड़ जेल प्रशासन ने केजरीवाल के स्वास्थ्य पर जो रिपोर्ट सौंपी थी, उससे आम आदमी पार्टी का झूठ पकड़ा गया है। LG दफ्तर के बयान के मुताबिक केजरीवाल के स्वास्थ्य को लेकर आम आदमी पार्टी द्वारा जो दावे किए जा रहे हैं, वह सभी तेलंगाना के निजी क्लीनिक के उपचार पर आधारित है।

Advertisement

वीके सक्सेना के दफ्तर द्वारा जारी बयान के मुताबिक अरविंद केजरीवाल इंसुलिन रिवर्सल पर थे और डॉक्टर ने उनकी गिरफ्तारी से काफी दिन पहले ही इंसुलिन की डोज बंद कर दी थी। दिल्ली के स्वास्थ्य सिस्टम को लेकर आम आदमी पार्टी के दावे पर भी हमला बोला और कहा कि उन्हें केजरीवाल चोरी छिपे दक्षिण में जाकर इलाज करना पड़ रहा है।

तेलंगाना में निजी डॉक्टर से इलाज करा रहे थे केजरीवाल

एलजी दफ्तर द्वारा जारी बयान में जेल से आई रिपोर्ट का जिक्र किया गया है। इसके मुताबिक अरविंद केजरीवाल तेलंगाना स्थित निजी डॉक्टर से इलाज करा रहे थे और उनके डॉक्टर ने उन्हें इंसुलिन की डोज देना बंद कर दिया था। वह एंटी-डायबिटीज टैबलेट मेटफॉर्मिन ले रहे थे। तिहाड़ जेल में मेडिकल चेक-अप के दौरान केजरीवाल ने डॉक्टरों को बताया कि वह पिछले कुछ सालों तक इंसुलिन ले रहे थे। कुछ महीने पहले कथित तौर पर तेलंगाना के डॉक्टर ने इंसुलिन लेना बंद कर दिया था।

Advertisement

आरएमएल अस्पताल की मेडिकल रिपोर्ट के मुताबिक केजरीवाल को न तो किसी इंसुलिन की सलाह दी गई थी और न ही किसी इंसुलिन की जरूरत बताई गई थी। 10 और 15 अप्रैल को केजरीवाल के स्वास्थ्य की समीक्षा की गई और उन्हें डायबिटीज के लिए टैबलेट देने की सलाह दी गई थी। यह कहना गलत है कि केजरीवाल को उनके इलाज के दौरान किसी भी समय इंसुलिन से इनकार किया गया था।

Advertisement

आतिशी ने बोला बीजेपी पर हमला

विशेषज्ञ डॉक्टरों ने केजरीवाल की जांच करने के बाद यह भी कहा है कि न्यायिक हिरासत में रहने के बाद से केजरीवाल का ब्लड शुगर लेवल चिंताजनक नहीं है और उन्हें इंसुलिन की भी फिलहाल जरूरत नहीं है। एक तरफ जहां एलजी का बयान आया है तो दूसरी तरफ इस पर एलजी की तरफ से जारी इस बयान पर आम आदमी पार्टी ने भी प्रतिक्रिया दी। केजरीवाल की मंत्री आतिशी ने कहा कि तिहाड़ को रिपोर्ट से बीजेपी की साजिश का खुलास हो गया है। कोई भी डॉक्टर बता देगा 300 शुगर लेवल खतरनाक होता है।

आतिशी ने दावा किया कि बीजेपी के कहने पर केजरीवाल को जेल में मारने की साजिश चल रही है। CM केजरीवाल को इंसुलिन देने में जेल प्रशासन को क्यों दिक्कत है। 12 साल से वह इंसुलिन ले रहे हैं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो