scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

घोटाला, गैंगस्टर के साथ विवाद, भाई का बदला… क्या तमिलनाडु पुलिस ने सुलझा ली आर्मस्ट्रांग मर्डर केस की गुत्थी?

अधिकारियों ने कहा कि वेल्लोर के मूल निवासी और दलित सुरेश पेरम्बूर में एक प्रसिद्ध व्यक्ति थे, लेकिन आर्मस्ट्रांग के साथ उनके विवादास्पद संबंध थे।
Written by: अरुण जनार्दनन | Edited By: Nitesh Dubey
नई दिल्ली | July 06, 2024 23:27 IST
घोटाला  गैंगस्टर के साथ विवाद  भाई का बदला… क्या तमिलनाडु पुलिस ने सुलझा ली आर्मस्ट्रांग मर्डर केस की गुत्थी
आर्मस्ट्रांग की हत्या के विरोध में चेन्नई में प्रदर्शन (पीटीआई फोटो)
Advertisement

बहुजन समाज पार्टी के तमिलनाडु प्रदेश अध्यक्ष के आर्मस्ट्रांग की हत्या कर दी गई। वहीं पुलिस अधिकारियों ने अपनी प्रारंभिक जांच के आधार पर कहा है कि पिछले साल अगस्त में एक गैंगस्टर अर्कोट सुरेश की हत्या के विरध में आर्मस्ट्रांग की हत्या की गई। 47 वर्षीय आर्मस्ट्रांग की शुक्रवार शाम चेन्नई के पेरम्बूर के पास छह बदमाशों ने हत्या कर दी थी।

Advertisement

अधिकारियों ने कहा कि वेल्लोर के मूल निवासी और दलित सुरेश पेरम्बूर में एक प्रसिद्ध व्यक्ति थे, लेकिन आर्मस्ट्रांग के साथ उनके विवादास्पद संबंध थे। सुरेश ने कथित तौर पर वित्तीय घोटाले में शामिल एक सोने की ट्रेडिंग कंपनी का समर्थन किया, जिसने सितंबर 2020 और मई 2022 के बीच एक लाख से अधिक जमाकर्ताओं से 2,438 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की। आर्मस्ट्रांग ने पीड़ितों का साथ दिया और पैसा वापस देने का वादा किया था। अधिकारियों ने कहा कि इससे दोनों के बीच तनाव पैदा हो गया है।

Advertisement

पुलिस जांच में पता चला है कि सुरेश की हत्या जयपाल के नेतृत्व वाले गिरोह ने की थी। मामले की जांच कर रहे एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "हमलावरों का मानना ​​​​है कि जयपाल ने आर्मस्ट्रांग के आदेश पर सुरेश की हत्या कर दी। जयपाल फिलहाल एक अलग मामले में जेल में हैं। उन्हें निवेशकों से अपना खोया हुआ पैसा वापस पाने के लिए कमीशन लेने की भी शिकायतों का सामना करना पड़ता है। आर्मस्ट्रांग की हत्या में सुरेश के भाई बालू (जिस पर कम से कम तीन आपराधिक मामले चल रहे हैं) को अब गिरफ्तार कर लिया गया है। बालू ने कथित तौर पर उस गिरोह का नेतृत्व किया जिसने शुक्रवार को आर्मस्ट्रांग की हत्या कर की।"

चेन्नई शहर पुलिस ने अब तक आठ लोगों को गिरफ्तार किया है। इसमें सुरेश के भाई पोन्नई वी बालू, डी रामू, के थिरुवेंगटम, एस थिरुमलाई, डी सेल्वराज, जी अरुल, के मणिवन्नन और जे संतोष शामिल हैं।

Advertisement

पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की समीक्षा के बाद मोबाइल फोन लोकेशन और बाइक नंबरों के माध्यम से हमलावरों का पता लगाया। हालांकि सूत्रों ने कहा, हमलावरों ने अपराध के बाद आत्मसमर्पण कर दिया, क्योंकि उन्हें पीछा करने पर पकड़े जाने पर एनकाउंटर का डर था। अधिकारियों ने कहा कि एक अन्य अपराधी नागेंद्रन (जो वर्तमान में जेल में है) पर बालू को अपराध को अंजाम देने में मदद करने का संदेह है।

Advertisement

शुक्रवार की रात आर्मस्ट्रांग अपने घर के पास दोस्तों और समर्थकों के साथ बातचीत कर रहे थे, तभी हमलावरों ने उन पर छुरी और दरांती से हमला कर दिया। उसके दोस्त भाग गए और उसकी चीख-पुकार सुनकर उसके परिवार के सदस्य घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने आर्मस्ट्रांग को खून से लथपथ पाया और उनके सिर और गर्दन पर चोट लगी थी। उन्हें शहर के एक निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने एक बयान में कहा, ''पुलिस ने कल रात उन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है जो हत्या के पीछे थे। मैं उनके परिवार के सदस्यों और पार्टीजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं।”

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो