scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

नीति आयोग की बैठक में शामिल नहीं होंगी ममता बनर्जी, नए संसद भवन के उद्घाटन का पहले ही बहिष्कार कर चुकी हैं

हालांकि पश्चिम बंगाल सरकार या फिर ममता बनर्जी के दफ्तर की तरफ से इस बात का अभी तक कोई आधिकारिक ऐलान नहीं किया गया है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: शैलेंद्र गौतम
May 24, 2023 20:44 IST
नीति आयोग की बैठक में शामिल नहीं होंगी ममता बनर्जी  नए संसद भवन के उद्घाटन का पहले ही बहिष्कार कर चुकी हैं
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (फोटो- एएनआई)
Advertisement

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 27 मई को नयी दिल्ली में होने वाली नीति आयोग की बैठक में शामिल नहीं होने का फैसला किया है। एक दिन पहले ही तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष बनर्जी ने घोषणा की थी कि वह राष्ट्रीय राजधानी में नए संसद भवन के उद्घाटन का बहिष्कार करेंगी।

नीति आयोग की बैठक में भाग नहीं लेने के बनर्जी के फैसले के पीछे वजह अभी तक पता नहीं चली है, लेकिन राज्य सचिवालय का कहना है कि 2024 के आम चुनाव से पहले भाजपा विरोधी दलों के एक मंच पर आने के प्रयास के तहत यह निर्णय लिया गया है। हालांकि पश्चिम बंगाल सरकार या फिर ममता बनर्जी के दफ्तर की तरफ से इस बात का अभी तक कोई आधिकारिक ऐलान नहीं किया गया है।

Advertisement

ममता बनर्जी ने पहले जताई थी मीटिंग में शामिल होने की इच्छा

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार पश्चिम बंगाल सचिवालय के एक अधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री 27 मई को नई दिल्ली में होने वाली नीति आयोग की बैठक में भाग नहीं लेने जा रही। हालांकि ममता बनर्जी ने इस महीने की शुरुआत में बैठक में भाग लेने की इच्छा जताई थी। उनका कहना था कि वह राज्य के मुद्दों को मीटिंग में उठाएंगी। तब उन्होंने कहा था कि वो नई दिल्ली में 27 मई को नीति आयोग की बैठक में हिस्सा लेंगी, क्योंकि किसी राज्य के मुद्दों को उठाने का यही एक मंच है।

तृणमूल कांग्रेस, आप और वाम दलों माकपा व भाकपा ने मंगलवार को घोषणा की थी कि वो 28 मई नये संसद भवन के उद्घाटन का बहिष्कार करेंगे। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को कहा कि सभी राजनीतिक दलों को नए संसद भवन के उद्घाटन के लिए आमंत्रित किया गया है और वो अपने विवेक के अनुसार निर्णय लेंगे। लेकिन दोपहर होते होते संसद भवन के उद्घाटन को लेकर कांग्रेस और दूसरी कई पार्टियों का विरोध सामने आ गया। कांग्रेस नेता राहुल गांधी का कहना था कि संसद भवन का निर्माण जनता के पैसे से हुआ है। इसका उद्घाटन राष्ट्रपति को करना चाहिए था।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो