scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

चीफ जज ने गलती की, शुभेंदु अधिकारी के खिलाफ दायर मानहानि याचिका को स्वीकार करने पर बोला HC, जानिए फिर क्या हुआ

हाईकोर्ट के जस्टिस बिबेक चौधरी ने कहा कि शुभेंदु के खिलाफ मानहानि की जो याचिका दायर की गई उसे सेशन कोर्ट के बजाए MP/MLA स्पेशल कोर्ट में दाखिल किया जाना चाहिए था।
Written by: shailendragautam | Edited By: शैलेंद्र गौतम
May 31, 2023 14:19 IST
चीफ जज ने गलती की  शुभेंदु अधिकारी के खिलाफ दायर मानहानि याचिका को स्वीकार करने पर बोला hc  जानिए फिर क्या हुआ
Suvendu Adhikari: भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी। (File/ANI)
Advertisement

पश्चिम बंगाल के नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी को कलकत्ता हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है। बीजेपी नेता के खिलाफ दायर मानहानि याचिका को कलकत्ता हाईकोर्ट ने खारिज करते हुए कहा कि चीफ सेशन जज ने याचिका को स्वीकार करके गलती की। उनको ऐसा नहीं करना चाहिए था।

हाईकोर्ट के जस्टिस बिबेक चौधरी ने कहा कि शुभेंदु के खिलाफ मानहानि की जो याचिका दायर की गई उसे सेशन कोर्ट के बजाए MP/MLA स्पेशल कोर्ट में दाखिल किया जाना चाहिए था। जस्टिस ने कहा कि वो याचिका को खारिज करने के लिए पब्लिक प्रासीक्यूटर की सहायता भी नहीं ले रहे हैं। उन्हें लगता है कि ये याचिका चीफ जज को स्वीकार ही नहीं करनी चाहिए थी। उन्होंने ऐसा करके सरासर गलत फैसला किया।

Advertisement

विधायक, सांसद के खिलाफ कोई भी याचिका MP/MLA कोर्ट में दायर हो

जस्टिस बिबेक चौधरी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने कई दफा कहा है कि विधायक व सांसदों के खिलाफ कोई भी याचिका MP/MLA स्पेशल कोर्ट ही स्वीकार कर सकती है। उनका कहना था कि 6 मार्च 2018 और 27 जनवरी 2021 के नोटिफिकेशन के तहत ऐसी अदालतों की स्थापना पश्चिम बंगाल में की जा चुकी है। विधायक व सांसदों के खिलाफ कोई शिकायत है तो इन अदालतों में ही उसे दायर किया जाना चाहिए।

हाईकोर्ट ने चीफ सेशन जज के पास दायर याचिका को खारिज करते हुए शिकायतकर्ता को छूट दी कि वो इसे फिर से नए सिरे से MP/MLA स्पेशल कोर्ट में दायर कर सकता है। जस्टिस बिबेक चौधरी का कहना था कि शिकायतकर्ता विशेष अदालत के पास जाकर अपनी याचिका दायर करे। MP/MLA स्पेशल कोर्ट के स्पेशल मजिस्ट्रेट या फिर स्पेशल जज उनकी याचिका पर संज्ञान लेकर अपने हिसाब से सुनवाई कर सकते हैं।

Advertisement

पब्लिक प्रासीक्यूटर ने शुभेंदु पर दायर किया था मानहानि का केस

शुभेंदु अधिकारी के खिलाफ मानहानि का केस एक पब्लिक प्रासीक्यूटर ने दायर किया था। उनका कहना है कि शुभेंदु ने बस को बंधक बनाए जाने को लेकर ट्विटर पर भ्रामक पोस्ट की थी। उनका दावा है कि शुभेंदु ने जो ट्वीट किया वो सरासर झूठा था। उन्होंने मानहानि का अपराध किया है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो