scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी को CBI का नोटिस, बोले- बंगाल के लोगों की सेवा करता रहूंगा

टीएमसी की ओर से कहा गया है कि सीबीआई को यह मालूम है कि अभिषेक बनर्जी फिलहाल कोलकाता में नहीं हैं, ऐसे में कम से 48 घंटे का समय दिया जाना चाहिए था।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Mohammad Qasim
Updated: May 20, 2023 14:10 IST
ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी को cbi का नोटिस  बोले  बंगाल के लोगों की सेवा करता रहूंगा
तृणमूल कांग्रेस सांसद अभिषेक बनर्जी (PTI file Photo)
Advertisement

सीबीआई ने तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और ममता बनर्जी के भतीजे सांसद अभिषेक बनर्जी को नोटिस भेजा है। उन्हें शनिवार को सीबीआई के कोलकाता स्थित कार्यालय निजाम पैलेस में सुबह 11 बजे हाजिर होने का आदेश दिया गया है। सीबीआई उनसे कुंतल घोष पत्र मामले पूछताछ करने वाली है।

अभिषेक बनर्जी ने ट्वीट कर दी जानकारी

अभिषेक बनर्जी ने ट्वीट कर सीबीआई की ओर से दिए गए नोटिस की जानकारी देते हुए लिखा, "मुझे सीबीआई से कल, 20 मई, 23 को पूछताछ के लिए उनके सामने पेश होने का समन मिला है। एक दिन पहले भी नोटिस नहीं दिए जाने के बावजूद मैं समन का पालन करूंगा। जांच के दौरान मैं अपना पूरा सहयोग दूंगा"

Advertisement

उन्होने आगे लिखा, "हां तक मेरी JonoSanjogYatra की बात है, यह 22 मई 23 को फिर से बांकुरा में उसी स्थान से शुरू होगी जहां मैं आज रुका हूं। इन घटनाओं से विचलित हुए बिना, मैं और अधिक समर्पण, उत्साह और प्रतिबद्धता के साथ पश्चिम बंगाल के लोगों की सेवा करने का प्रयास करूंगा।

अभिषेक बनर्जी जनसंपर्क अभियान के दौरान बंगाल के जिलों में पहुंच रहे हैं। ऐसे में सीबीआई के नोटिस से उनकी मुसीबत बढ़ सकती है। टीएमसी ने सीबीआई के नोटिस पर सवाल उठाया है। टीएमसी की ओर से कहा गया है कि सीबीआई को यह मालूम है कि अभिषेक बनर्जी फिलहाल कोलकाता में नहीं हैं, ऐसे में कम से 48 घंटे का समय दिया जाना चाहिए था।

 इससे पहले हाई कोर्ट ने अभिषेक बनर्जी की याचिका को खारिज कर दिया था जिसमें कोर्ट से अपने पहले के आदेश को वापस लेने की अपील की गई थी। इस आदेश में कहा गया था कि केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) जैसी जांच एजेंसियां शिक्षक भर्ती घोटाले में अभिषेक बनर्जी से पूछताछ कर सकती हैं।

Advertisement

जस्टिस अमृता सिन्हा ने याचिका खारिज करते हुए अभिषेक बनर्जी पर 25 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था। सिन्हा ने इतना ही जुर्माना कोर्ट का समय बर्बाद करने के लिए कुंतल घोष पर लगाया है। घोष पश्चिम बंगाल के सरकारी एवं सहायता प्राप्त स्कूलों में भर्तियों में कथित अनिमियतता को लेकर सीबीआई की हिरासत में हैं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो