scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

छोटे बच्चे को बचाने के लिए 40 फीट गहरे कुएं में कूदी 13 साल की लड़की, DC ने की तारीफ, बोले- वीरता पुरस्कार के लिए भेजेंगे नाम

Jharkhand के चतरा जिले के डीसी ने कहा है कि वो लड़की का नाम वीरता पुरस्कार के लिए भेजेंगे।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Yashveer Singh
Updated: May 10, 2023 14:18 IST
छोटे बच्चे को बचाने के लिए 40 फीट गहरे कुएं में कूदी 13 साल की लड़की  dc ने की तारीफ  बोले  वीरता पुरस्कार के लिए भेजेंगे नाम
13 साल की बच्ची छोटे बच्चे को बचाने के लिए कुएं में कूदी (ANI Image)
Advertisement

झारखंड के चतरा में इस समय एक 13 साल की बच्ची की हर तरफ चर्चा है। चर्चा हो भी क्यों न! 13 साल की छोटी सी उम्र में बच्ची ने काम ही इतनी बहादुरी का किया जो बड़े-बड़े न कर पाएं। दरअसल झारखंड के चतरा में रहने वाली 13 साल की काजल कुमारी एक तीन साल के बच्चे को बचाने के लिए 40 फीट गहरे कुएं में कूद गई।

काजल के गांव के लोगों ने बताया कि काजल के परिवार का एक बच्चा कुएं में गिर गया था, जिसके बाद काजल ने आव देखा न ताव और तुरंत उसे बचाने के लिए 40 फीट गहरे कुएं में कूद गई। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि काजल ने एक हाथ से बच्चे को पकड़ा और एक हाथ से कुएं में लगे मोटर पंप के पाइप को थाम कर खुद को तब तक संभाले रखा, जब तक गांव वाले उसकी मदद के लिए पहुंच गए।

Advertisement

गांव के एक व्यक्ति ने बताया, "तीन साल का शिवम कुमार कुएं के पास खेल रहा था, जब वह कुएं में गिर गया तो काजल तुरंत बिना एक सेकेंड खराब किए कुएं में कुद गई। वह शिवम को पकड़ने में सफल रही और उसने पाइप पकड़ लिया और मदद के लिए चिल्लाई।

काजल शिवम की मौसी है। वह शिवम को थामने के बाद तब तक चिल्लाती रही, जब तक गांव वाले वहां जमा नहीं हो गए। गांव के लोगों ने बताया कि शिवम और काजल को रस्सी की मदद एक घंटे बाद रेस्क्यू किया गया। मामले पर न्यूज एजेंसी PTI से बातचीत में चतरा के डिप्टी कमिश्नर अबू इमरान ने कहा कि उन्होंने घटना की डिटेल्स मांगी है और वो असाधारण साहस के लिए बच्ची का नाम ब्रेवरी अवार्ड्स (वीरता पुरस्कार) के लिए भेजेंगे।

Advertisement

बता दें कि ये घटना झारखंड की राजधानी रांची से 170 किलोमीटर दूर चतरा जिले के मयूरहंड प्रखंड का हुसियां गांव में रविवार देर शाम को हुई। अपने भाई को बचाने में काजल कुमारी सफल हुई लेकिन वो बुरी तरह से घायल हो गई। गांव के मुखिया, पंचायत नेताओं की मदद से लड़की को इलाज के लिए मंगलवार को हजारी बाग के शेख बुखारी मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो