scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Rahul Gandhi Speech Analysis: जय महादेव का उद्घोष, डरना नहीं है का संदेश- राहुल के भाषण में क‍िसके ल‍िए है क्‍या संकेत?

राहुल गांधी का भाषण काफी हंगामेदार रहा। कई जगह उन्‍हें व‍िपक्ष के तीखे व‍िरोध का सामना करना पड़ा, लेक‍िन राहुल गांधी 'डरो नहीं' की तर्ज पर पूरे भाषण में बीजेपी, प्रधानमंत्री और नरेंद्र मोदी सरकार पर न‍िशाना साधते रहे।
Written by: विजय कुमार झा
नई दिल्ली | Updated: July 10, 2024 10:19 IST
rahul gandhi speech analysis  जय महादेव का उद्घोष  डरना नहीं है का संदेश  राहुल के भाषण में क‍िसके ल‍िए है क्‍या संकेत
राहुल गांधी और नरेंद्र मोदी।
Advertisement

राहुल गांधी ने एक जुलाई को लोकसभा में बतौर नेता प्रत‍िपक्ष पहला भाषण द‍िया। करीब पौने दो घंटे का भाषण शुरू करते हुए राहुल ने सबसे पहले उस नैरेट‍िव को मजबूती दी क‍ि व‍िपक्ष संव‍िधान को बचाने की लड़ाई लड़ रहा है। संव‍िधान की प्रत‍ि साथी सांसद से मांग कर उन्‍होंने लहराई और 'जय संव‍िधान' का नारा लगाया।

Advertisement

राहुल गांधी का यह भाषण काफी हंगामेदार रहा। कई जगह उन्‍हें व‍िपक्ष के तीखे व‍िरोध का सामना करना पड़ा, लेक‍िन राहुल गांधी 'डरो नहीं' की तर्ज पर पूरे भाषण में बीजेपी, प्रधानमंत्री और नरेंद्र मोदी सरकार पर न‍िशाना साधते रहे। उन्‍होंने कई जगह प्रधानमंत्री की चुटकी ली।

Advertisement

राहुल का ह‍िंंदू व ह‍िंंदुत्‍व से संबंध‍ित सबसे ज्‍यादा चर्च‍ित और व‍िवादास्‍पद बयान रहा। राहुल ने कहा-

इस बयान के बाद राहुल एक्‍स (पहले ट्व‍िटर) पर खूब ट्रोल क‍िए जाने लगे और 'राहुल खान' टॉप ट्रेंड्स में शुमार हो गया।

राहुल के इस भाषण में कई संदेश और संकेत छ‍िपे हैं। सत्‍ता पक्ष, व‍िपक्ष, कांग्रेस, लोकसभा स्‍पीकर और जनता…सभी के ल‍िए।

Advertisement

सत्ता पक्ष को मैसेज

सत्ता पक्ष के ल‍िए मैसेज यही रहा क‍ि इस बार वह व‍िपक्ष के वार सहे ब‍िना नहींं रह सकता। राहुल ने अपने अंदाज में सरकारी एजेंस‍ियों, संस्‍थाओं के कथ‍ित दुरुपयोग, मण‍िपुर, महंगाई, एमएसपी, अग्‍न‍िपथ, बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर सरकार को घेरा। उनके भाषण के करीब 20 म‍िनट बाद ही प्रधानमंत्री को उठना पड़ा।

Advertisement

बाद में एक बार और प्रधानमंत्री उठे। इस बार उन्‍होंने राहुल गांधी पर तंज कसा और कहा क‍ि संव‍िधान ने मुझे स‍िखाया है क‍ि नेता प्रत‍िपक्ष को गंभीरता से लेना चाह‍िए।

Rahul Gandhi
2024 में लगभग दो गुनी हुई हैं कांग्रेस की सीटें। (Source-rahulgandhi/FB)

सरकार के बड़े मंत्री भी उठने को हुए मजबूर

राहुल के पूरे भाषण के बीच अम‍ित शाह, राजनाथ स‍िंंह, क‍िरन रिजिजू, श‍िवराज स‍िंंह चौहान, भूपेंद्र यादव को भी बीच में उठ कर अपनी बात रखनी पड़ी। कभी राहुल की बातों पर आपत्ति जताने या सफाई देने के ल‍िए और कभी स्‍पीकर से व्‍यवस्‍था देने की गुहार लगाने के ल‍िए।

जनता को मैसेज

राहुल ने जनता को यह मैसेज द‍िया क‍ि वह उनसे जुड़े मुद्दों पर लोकसभा में बात करेंगे। मण‍िपुर ह‍िंंसा, महंगाई, बेरोजगारी, ईडी-सीबीआई के दुरुपयोग के आरोप जैसे मुद्दों पर जो बात वह अक्‍सर बाहर कहते हैं, वही बात उन्‍होंने सदन के अंदर भी कही।

Mallikarjun Kharge Rahul gandhi
कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी। (Source-ANI)

स्‍पीकर को मैसेज

राहुल गांधी ने स्‍पीकर को व‍िपक्ष की आवाज को जगह देने और ब‍िना भेदभाव कार्यवाही चलाने का मैसेज भी द‍िया। राहुल ने पूछा- माइक का कंट्रोल क‍िसके हाथ में है। मेरे भाषण के बीच में माइक ऑफ हो जाता है। साफ-साफ यह तक याद द‍िला द‍िया क‍ि आप सदन में नरेंद्र मोदी से झुक कर म‍िलते हैं, व‍िपक्ष के नेता से नहीं।

लोकसभा अध्‍यक्ष ओम ब‍िरला भी बेबस से द‍िख रहे थे। उन्‍हें दोनों तरफ से घेरा गया। सत्ताधारी पक्ष की ओर से अम‍ित शाह ने कहा क‍ि राहुल गांधी को छूट दी जा रही है और वह न‍ियमों की अनदेखी कर रहे हैं, सत्ताधारी पक्ष को संरक्षण की जरूरत है।

स्‍पीकर ने जब कहा क‍ि बहस को राष्‍ट्रपत‍ि के अभ‍िभाषण से जुड़े मुद्दों तक ही सीम‍ित रखें तब भी राहुल ने अपने जवाब से स्‍पीकर को सत्ता पक्ष और विपक्ष के लिए समान रुख रखने का ही संदेश द‍िया।

राहुल के पूरे भाषण के दौरान सत्ता पक्ष ने कई बार स्‍पीकर से संरक्षण की मांग करते हुए न‍ियमों का हवाला देते हुए राहुल के ख‍िलाफ व्‍यवस्‍था देने की गुहार लगाई।

election result| loksabha chunav| election 2024
अप्रत्याशित रहे लोकसभा चुनाव 2024 के परिणाम (Source- PTI)

व‍िपक्ष के साथ‍ियों को मैसेज

राहुल ने इंड‍िया गठबंधन के अपने साथ‍ियों को संदेश द‍िया क‍ि बतौर नेता प्रत‍िपक्ष वह सारे दलों की आवाज बनेंगे। यह कह कर उन्‍होंने गठबंधन की एकता बनाए रखने के ल‍िए भी अपने साथ‍ियों को संदेश दे द‍िया। साथ ही, यह भी संदेश द‍िया क‍ि आगे भी म‍िल कर चुनाव लड़ने की जरूरत है। राहुल ने भाजपा से कहा- इंड‍िया गठबंधन इस बार आपको गुजरात में भी हराएगा।

कांग्रेस को मैसेज

राहुल के भाषण में कांग्रेस के ल‍िए भी मैसेज है। एक मैसेज यह भी हो सकता है क‍ि अब भाजपा को राम का जवाब श‍िव से द‍िया जाए। साथ ही, यह मैसेज भी कि राहुल गांधी पहले से मजबूत नेतृत्‍व क्षमता से लैस हैं।

indira gandhi| priyanka gandhi| congress
(बाएं से दाएं) प्रियंका गांधी, इंदिरा गांधी (Source- PTI/ Express)

जनता को राहुल गांधी का मैसेज यही हो सकता है क‍ि उनकी आवाज सदन में उठती रहेगी। जरूरत पड़ी तो न‍ियमों की परवाह न करते हुए भी वह ऑफ‍िश‍ियल वर्जन के उलट जनता के मन की बात रखेंगे। जैसा क‍ि अग्‍न‍िवीर के मामले में उन्‍होंने क‍िया। एक संदेश यह भी है क‍ि भाजपा ने राहुल गांधी की जो छव‍ि बनाई थी, राहुल के बतौर नेता प्रत‍िपक्ष पहले भाषण से जनता उसकी सच्‍चाई परखे।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो