scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Fact Check: EVM को नुकसान पहुंचाने वाले व्यक्ति का वायरल वीडियो हाल का नहीं

2023 के कर्नाटक विधानसभा चुनाव का पुराना वीडियो जिसमें मानसिक रूप से परेशान व्यक्ति ईवीएम को नष्ट कर रहा था, उसे हाल ही में चल रहे  लोकसभा चुनाव, 2024 का बताकर वायरल किया जा रहा है।
Written by: akshat.kakkad@rtcamp.com
नई दिल्ली | Updated: April 28, 2024 07:56 IST
fact check  evm को नुकसान पहुंचाने वाले व्यक्ति का वायरल वीडियो हाल का नहीं
वायरल दावे स्क्रीनशॉट। (PC: X)
Advertisement

26 अप्रैल, 2024 को दूसरे चरण के चुनाव शुरू होने के साथ ही लाइटहाउस जर्नलिज्म को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक वीडियो खूब शेयर होता हुआ मिला। वीडियो में एक व्यक्ति मतदान प्रक्रिया के दौरान मशीन को नुक्सान पहुंचाता हुआ दिखाई दे रहा है। जांच के दौरान हमने पाया कि वायरल हो रहा दावा फर्जी है। हाल ही का बताकर वायरल किया जा रहा वीडियो पुराना है।

क्या है दावा?

X यूजर Megh Updates  वायरल वीडियो अपने प्रोफ़ाइल पर साझा किया.

Advertisement

इस पोस्ट का आर्काइव वर्जन यह देखे।

अन्य उपयोगकर्ता भी इसी दावे के साथ वीडियो साझा कर रहे हैं कि वीडियो हाल ही का है।

जांच पड़ताल:

हमने अपनी जांच की शुरुआत इनविड टूल में वीडियो अपलोड करके प्राप्त कीफ्रेम्स पर रिवर्स इमेज सर्च करके की।

Advertisement

हमें साक्षी टीवी के यूट्यूब चैनल पर अपलोड की गई घटना के बारे में एक वीडियो न्यूज़ रिपोर्ट मिली।

Advertisement

ग्यारा महीने पहले अपलोड किये इस वीडियो का शीर्षक था: Man Breaks EVM Machine | Karnataka Elections | Garam Garam Varthalu @SakshiTVWatch

हमें द हिन्दू के वेबसाइट पर भी इस घटना के बारे में खबर मिली। इस रिपोर्ट को १२ मई, २०२३ को अपलोड किया गया था.

'मानसिक रूप से विक्षिप्त व्यक्ति द्वारा ईवीएम नियंत्रण इकाई को क्षतिग्रस्त किया गया' इस शीर्षक वाली रिपोर्ट में कहा गया था, "उल्लिखित घटना मैसूर के चामुंडेश्वरी विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत हूटागली मतदान केंद्र पर हुई।"

अधिकारियों ने बताया कि व्यक्ति की पहचान 48 वर्षीय शिवमूर्ति के रूप में हुई है। उस व्यक्ति पर भारतीय दंड संहिता की धारा 84 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

हमें starofmysore.com इस वेबसाइट पर भी ये दावा मिला.

रिपोर्ट में उल्लेख किया गया: बाद में, क्षतिग्रस्त बैलेट कंट्रोल यूनिट को बदल दिया गया और मतदान प्रक्रिया सुचारू रूप से चली। इस बीच, विजयनगर पुलिस ने उस व्यक्ति को हिरासत में लिया, जिसने कहा कि वह मानसिक रूप से परेशान था और पूछताछ के बाद उसे छोड़ दिया गया।

निष्कर्ष: 2023 के कर्नाटक विधानसभा चुनाव का पुराना वीडियो जिसमें मानसिक रूप से परेशान व्यक्ति ईवीएम को नष्ट कर रहा था, उसे हाल ही में चल रहे  लोकसभा चुनाव, 2024 का बताकर वायरल किया जा रहा है। वायरल दावा झूठा है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 चुनाव tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो