scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

US China Conflict: 'जल्द-से-जल्द छोड़ दो चीन', दिग्गज अमेरिकी कंपनी ने अपने कर्मचारियों को दिया ये बड़ा आदेश

US China Conflict: चीन और अमेरिका के बीच आयात को लेकर पिछले कुछ समय से काफी टकराव देखने को मिल रहा है और अब बिग टेक कंपनी ने अपने कर्मचारियों के लिए एक फरमान जारी कर दिया है।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | May 16, 2024 20:33 IST
us china conflict   जल्द से जल्द छोड़ दो चीन   दिग्गज अमेरिकी कंपनी ने अपने कर्मचारियों को दिया ये बड़ा आदेश
China को फिर लगेगा बड़ा झटका! (सोर्स - PTI/File)
Advertisement

China vs USA: दुनिया के दो बड़े देश, यानी चीन और अमेरिका के बीच टकराव को लेकर पूरी दुनिया में उठा-पटक की स्थिति है। इस बीच अमेरिका की दिग्गज सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट की ओर से ड्रैगन को करारा झटका लगा है। वॉल स्ट्रीट जनरल की रिपोर्ट के अनुसार, अरबपति बिल गेट्स की कंपनी ने अपने कर्मचारियों से कहा है कि वह चीन छोड़कर कहीं और शिफ्ट होने के लिए विचार करें।

दरअसल, US प्रेसिडेंट जो बिडेन प्रशासन द्वारा विभिन्न सेक्टर्स में चीन से आयातित सामानों पर कई क्षेत्रों पर शुल्क बढ़ाने के फैसले से अमेरिका और चीन में तनाव बढ़ा है।

Advertisement

रिपोर्ट के मुताबिक कथित तौर पर माइक्रोसॉफ्ट क्लाउड-कंप्यूटिंग और AI सेक्शन में काम करने वाले तकरीबन 700-800 कर्मचारियों को दूसरे देशों में स्थानांतरित होने पर विचार करने के लिए कहा है।

Microsoft द्वारा जिन कर्मचारियों को स्थानांतरित होने के लिए कहा गया है, उनमें से ज्यादातर चीन के ही नागरिक हैं। इन सभी को अमेरिका, आयरलैंड, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड जैसे में रिलोकेट का विकल्प दिया गया है। China में माइक्रोसॉफ्ट करीब 2 दशक से काम कर रही है और बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार दे रही है।

Advertisement

जानकारी के मुताबिक, टेक दिग्गज ने साल 1992 में चीनी मार्केट में एंट्री ली थी और यहां कंपनी का कारोबार काफी विराट हो गया था। अमेरिका की ओर से चीनी आयात पर लिए गए फैसलों के बारे में बताएं, तो जो बिडेन प्रशासन ने इलेक्ट्रिक व्हीकल (EV) बैटरी, कंप्यूटर चिप्स और मेडिकल इक्विपमेंट्स समेत विभिन्न सेक्टर्स में चीन से आयात होने वाले सामानों शुल्क बढ़ा दिया है।

वॉल स्ट्रीट जनरल के अनुसार माइक्रोसॉफ्ट के प्रवक्ता ने इस बात की पुष्टि की है कि कंपनी ने चीन में काम कर रहे अपने कर्मचारियों को अन्य देशों में रिलोकेट होने का ऑप्शन दिया है। गौरतलब है कि चीन ने सीरीज से लेकर बैटरी तक करीब 18 अरब डॉलर के चीनी सामानों पर टैरिफ बढ़ाने के अमेरिकी फैसले पर सावधानी से रिएक्शन दिया है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 चुनाव tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो