scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Israel Hamas War: श्मशान में बदला गाजा, कई शहर खंडहर… 6 महीने बाद कैसे हैं हालात?

Israel Hamas War: इजरायल-हमास युद्ध मिडिल ईस्ट के लिए पिछले 6 महीने से संघर्ष का गढ़ बना हुआ है, जिसके चलते हजारों लोग अपनी जान गंवा चुके हैं लेकिन अभी भी यह युद्ध खत्म नहीं हुआ है।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | Updated: April 07, 2024 21:56 IST
israel hamas war  श्मशान में बदला गाजा  कई शहर खंडहर… 6 महीने बाद कैसे हैं हालात
युद्धविराम के प्रयास कर रहे US प्रेसिडेंट जो बाइडन (सोर्स - रायटर्स/फाइल फोटो )
Advertisement

इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने आज बड़ा देते हुए कहा कि हम हमास के खिलाफ जीत से एक कदम दूर है। उन्होंनने कहा कि हमने कसम खाई है कि जब तक हमास सभी बंधकों को मुक्त नहीं कर देता, तब तक कोई सीजफायर न या युद्ध विराम नहीं होगा। इजरायली पीएम का बयान ऐसे वक्त में आया है कि जब इजरायल हमास युद्ध के 6 महीने हो चुके हैं।

बता दें कि हमास द्वारा हुए आतंकी हमले के जवाब में 7 अक्टूबर को इजरायल ने फिलीस्तीन के गाजा पर हमला बोल दिया था और आज के दिन इस युद्ध के 6 महीने पूरे हो गए हैं। अंतरराष्ट्रीय मध्यस्थों के साथ काहिरा में संघर्ष विराम वार्ता फिर से शुरू होने की उम्मीद के बीच नेतन्याहू ने कहा है कि बंधकों की वापसी के बिना कोई युद्धविराम नहीं होगा और हम जीत से महज एक कदम दूर हैं।

Advertisement

1 अप्रैल को गाजा हवाई हमले में अमेरिका स्थित खाद्य चैरिटी वर्ल्ड सेंट्रल किचन के सात सहायता कर्मियों की हत्या पर इज़राइल को अंतरराष्ट्रीय रोष का सामना करना पड़ा है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन गुरुवार को नेतन्याहू के साथ एक फोन कॉल में "तत्काल युद्धविराम" की मांग की और नागरिकों की हत्या को कम करने और मानवीय स्थितियों में सुधार पर इजरायल के लिए अमेरिकी समर्थन को सशर्त बनाने का संकेत दिया।

6 महीन में त्रासदी का अड्डा बना गाजा

इजराइल हमास युद्ध की त्रासदी की बात करें तो 6 महीने बाद युद्ध के चलते भयंकर त्रासदी का शिकार हुए गाजा में बीमारी, भुखमरी का प्रकोप है। इसके चलते फिलीस्तीन बर्बाद हो चुका है। दूसरी ओर इजरायल की बात करें तो प्रधानमंत्री बिन्यामिन नेतन्याहू इस युद्ध में संपूर्ण जीत का जो दावा कर रहे थे उसे पूरा करने में वो संघर्ष करते दिख रहे हैं, तो दूसरी ओर उसके युद्ध में आक्रामक रुख को लेकर उसका सहयोगी अमेरिका भी उसके ख़िलाफ़ होता दिख रहा है। बता दें कि बीते दिनों ही ईरान के एक प्रमुख जनरल की हत्या हुई थी, जिसका आरोप ईरान ने इजराइल पर लगाया था।

Advertisement

33 हजार से ज्यादा लोगों की गई जान

फिलीस्तीन में हुई जान-माल की हानि को लेकर हमास के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि अब तक गाजा में करीब 33 हज़ार लोग मारे जा चुके हैं और जानकारी ये भी है कि गाजा में अब तक 13 हजार 800 बच्चे मारे जा चुके हैं। इसके अलावा यूनिसेफ़ की रिपोर्ट के मुताबिक़ कम से कम 1 हजार बच्चों के एक या दोनों पैर कट गए हैं, जिसके चलते वे गंभीर रूप से घायल हैं।

एक आतंकी हमले से शुरू हुआ था युद्ध

इजरायल में शुरू हुए युद्ध की बात करें तो 7 अक्टूबर 2023 को हमास ने इजराइली इलाक़ों पर हमला किया था, जिसमें इस हमले में 1,200 से अधिक इजरायली नागरिक मारे गए थे, जिसमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे। इसके अलावा हमास ने 253 लोगों को बंधक बनाकर अपने साथ ले गए थे, जिसके बाद एक भयानक युद्ध शुरू हो गया था। इजरायल का आरोप है कि हमास ने अभी भी 130 नागरिकों को बंधक बना कर रखा है और उनमें से ही 34 की मौत भी हो गई है।

फिलहाल एक बार फिर अमेरिकी राष्ट्रपति एक बार फिर युद्ध विराम की पहल कर रहे हैं और अब देखना है कि उनके प्रस्ताव को क्या इजरायल कोई तवज्जो देता भी है या नहीं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो