scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Canada: जस्टिन ट्रूडो ने चुनाव जीतने में ली चीन की सीक्रेट मदद? खुफिया विभाग की रिपोर्ट में बड़ा खुलासा

कनाडा की खुफिया एजेंसी ने चीन को लेकर गंभीर खुलासा किया है। एजेंसी ने कहा कि है कि चीन ने पिछले दो आम चुनाव में गुपचुप तरीके से हस्तक्षेप किया है। एजेंसी को इस संबंध में सबूत भी हाथ लगे हैं।
Written by: न्यूज डेस्क
Updated: April 10, 2024 08:59 IST
canada  जस्टिन ट्रूडो ने चुनाव जीतने में ली चीन की सीक्रेट मदद  खुफिया विभाग की रिपोर्ट में बड़ा खुलासा
कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (PTI)
Advertisement

कनाडा की सरकार ने पिछले दिनों आरोप लगाते हुए कहा था कि भारत उसके चुनाव में दखल दे रहा है। हालांकि बाद में वह उन आरोपों से पीछे हट गया। अब कनाडाई सुरक्षा खुफिया सेवा (CSIS) की ओर से बड़ा खुलासा किया गया है। एक रिपोर्ट सामने आई है जिसमें चीन पर कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन ने कनाडा के पिछले दो चुनाव में हस्तक्षेप किया है। सीएसआईएस की जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि 2019 और 2021 के आम चुनाव में चीन ने दखल दिया है।

जस्टिन ट्रुडो ने किया था जांच आयोग का गठन

2019 और 2021 के कनाडा के आम चुनाव में चीन ने दखल दी है और उसमें प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो की लिबरल पार्टी को जीत मिली थी। विपक्ष लगातार इस मुद्दे को उठा रहा था और विदेशी दखल की बात कर रहा था। इसके बाद प्रधानमंत्री ट्रुडो ने जांच आयोग का गठन किया था। इन दोनों मामलों में विदेश दखल के ठोस सबूत हैं। दूसरी तरफ चीन ने कनाडा की राजनीति में दखल के आरोपों से इनकार किया है। कनाडा में 2021 में हुए चुनाव में कंजरवेटिव पार्टी के प्रचार की अगुवाई कर रहे एरिन ओटूली ने चुनाव में चीन के दखल का अंदेशा जताया था।

Advertisement

आज होगी ट्रूडो की गवाही

रिपोर्ट सामने आने के बाद से जस्टिन ट्रूडो को लेकर विपक्ष हमलावर है। आयोग ने सोमवार को एक प्रेजेंटेंशन दी। इसमें कहा गया कि 'हम जानते हैं कि PRC ने 2019 और 2021 दोनों चुनावों में गुप्त और भ्रामक तरीके से हस्तक्षेप किया।' आगे कहा गया कि दोनों ही मामलों में विदेशी हस्तक्षेप का मुख्य उद्देश्य पीआरसी के हित वाले मामलों पर चीन समर्थक या तटस्थ माने जाने वाले व्यक्तियों का समर्थन करना था। चीन ने इसमें दखल से इंतजार किया है। खुफिया विश्लेषकों का तर्क है कि ट्रूडो सरकार ने चीनी हस्तक्षेप को लेकर पर्याप्त उपाय नहीं किए हैं। इस मामले में जस्टिन ट्रूडो की बुधवार को आयोग के सामने गवाही होगी।

गौरतलब है कि इन दोनों चुनावों में जस्टिन ट्रूडो की पार्टी को जीत मिली थी। दस्तावेज में आगे आरोप लगाया गया कि कई राजनीतिक दल शामिल थे और कम से कम 11 उम्मीदवारों और 13 स्टाफ सदस्यों को चीनी सरकार द्वारा विदेशी हस्तक्षेप में फंसाया गया था। इस बीच, जांच में पहले पेश किए गए एक अन्य सीएसआईएस दस्तावेज में सात लिबरल उम्मीदवारों और कनाडा की कंजर्वेटिव पार्टी के चार उम्मीदवारों का उल्लेख किया गया था।

इनपुट-एजेंसी

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 चुनाव tlbr_img2 Shorts tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो