scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

'हिंदुत्व कोई धर्म नहीं', दिग्विजय सिंह बोले- बजरंग दल 'गुंडों की जमात'

Madhya Pradesh News: दिग्विजय सिंह ने कहा कि यह दुखदायक है कि बीजेपी और पीएम नरेंद्र मोदी बजरंग दल की तुलना बजरंगबली से कर रहे हैं।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Yashveer Singh
May 15, 2023 21:00 IST
 हिंदुत्व कोई धर्म नहीं   दिग्विजय सिंह बोले  बजरंग दल  गुंडों की जमात
Digvijay Singh ने बजरंग दल पर बड़ा हमला बोला है (File Photo -Express)
Advertisement

कांग्रेस पार्टी के सीनियर नेता दिग्विजय सिंह ने सोमवार को दावा किया कि हिंदुत्व धर्म नहीं है क्योंकि इसमें उन लोगों पर हमला करना शामिल है जो सहमत नहीं हैं। उन्होंने कहा कि वह सनातन धर्म में विश्वास करते हैं, जो सद्भाव और सभी के कल्याण की बात करता है। जबलपुर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य ने विश्व हिंदू परिषद की यूथ विंग बजरंग दल को 'गुंडों की जमात' कहा।

एक सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि हमारा सनातन धर्म है। हम हिंदुत्व को धर्म नहीं मानते। 'धर्म की जय हो, अधर्म का नाश हो, प्राणियो में सदभावना हो, विश्व का कल्याण' हो जैसे नारे सनातन धर्म की सभाओं में लगा जाते हैं। यह सनातन धर्म है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि लेकिन हिंदुत्व के साथ ऐसा नहीं है। हिदुत्व 'जो नहीं माने उन्हें डंडों से मारो, उनके घर तोड़ो, पैसे उड़ाओ' है।

Advertisement

दिग्विजय सिंह ने कहा कि यह दुखदायक है कि बीजेपी और पीएम नरेंद्र मोदी बजरंग दल की तुलना बजरंगबली से कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि इस 'गुंडों की जमात' ने जबलपुर कांग्रेस कमेटी कार्यालय में तोड़फोड़ करने के लिए धावा बोला था। उन्होंने कहा कि बजरंग दल की तुलना बजरंगबली से करना देवता का अनादर करने के समान है। आपको क्षमा मांगनी चाहिए। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस संविधान, नियमों और कानूनों का पालन करती है।

जब उनसे कर्नाटक में बजरंग दल को बैन करने के कांग्रेस के चुनावी वादे को लेकर सवाल किया गया तो दिग्विजय सिंह ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने नफरत फैलाने के लिए बयान देने वाले किसी भी धर्म के व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज करने का निर्देश दिया है। हम इससे चिपके रहते हैं।

Advertisement

आपको बता दें कि हाल ही में हुए कर्नाटक चुनावों के लिए कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में कहा था कि पार्टी जाति और धर्म के आधार पर समुदायों के बीच “नफरत फैलाने” वाले बजरंग दल और पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया जैसे व्यक्तियों और संगठनों के खिलाफ दृढ़ और निर्णायक कार्रवाई करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने चुनावी प्रचार में बजरंगबली का जिक्र किया। 13 मई को घोषित हुए परिणाम में बीजेपी को निराशा का सामना करना पड़ा। कर्नाटक की जनता ने कांग्रेस के पक्ष में जनादेश दिया।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो