scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

KANGANA RANAUT: सिनेमा से सियासत में आईं कंगना रनौत के लिए मंडी के लोगों का भरोसा जीतना बड़ी चुनौती, जानिए खास बातें

कंगना खुद को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का प्रशंसक बताती हैं और उनके कड़े फैसले और जुझारू तेवर की हमेशा तारीफ करती हैं। वह अपनी बात को बहुत ही बेबाकी से रखने के भी लिए जानी जाती हैं।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
नई दिल्ली | Updated: April 14, 2024 14:40 IST
kangana ranaut  सिनेमा से सियासत में आईं कंगना रनौत के लिए मंडी के लोगों का भरोसा जीतना बड़ी चुनौती  जानिए खास बातें
पॉलिटिकल ड्रामा ‘इमरजेंसी’ में कंगना ने भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का किरदार निभाया है। (Photo: Instagram/Kangana Ranaut)
Advertisement

लोकसभा चुनाव 2024 में पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश से राजनीति में कदम रखने वाली कंगना रनौत बॉलीवुड की दुनिया छोड़कर आई हैं। उनके लिए राजनीति बिल्कुल नई जगह जरूर होगी, लेकिन उनका स्वभाव किसी राजनेता से बिल्कुल अलग नहीं है। देश की मुख्य धारा की राजनीति के हर मुद्दे पर वे अपने विचार खुलकर रखती हैं। वह खुद को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का प्रशंसक बताती हैं और उनके कड़े फैसले और जुझारू तेवर की हमेशा तारीफ करती हैं। कंगना अपनी बात को बहुत ही बेबाकी से रखने के लिए भी चर्चित हैं।

पूरा परिवार रहा है कांग्रेसी, परदादा थे विधायक

कंगना राजनीति में पहली बार कदम रख रही हैं, लेकिन उनके परिवार के लिए राजनीति नई नहीं है। उनके परदादा सरजू सिंह रनौत कांग्रेस विधायक रह चुके हैं। उनकी मां आशा रनौत मंडी से एक स्कूल शिक्षक के रूप में सेवानिवृत्त हुईं, और उनके पिता अमरदीप एक व्यवसायी हैं। उनकी मां ने एक बार कहा था कि परिवार शुरू में कांग्रेस समर्थक था लेकिन कंगना के कारण बीजेपी में आ गया था।

Advertisement

गृहनगर और प्रशंसकों की तादाद है बड़ा सहारा

कंगना का जन्म मंडी जिले के एक छोटे से कस्बे में हुआ था। कंगना को इस बार के चुनाव में न केवल अपने क्षेत्र के मतदाताओं का विश्वास हासिल करना होगा, बल्कि राजनीति में अपनी जगह पक्की करने के लिए जीतना भी होगा। कंगना फिल्मों से राजनीति में आई हैं, लिहाजा उनके प्रशंसकों की तादाद काफी ज्यादा है। बीजेपी ने मंडी जिले से उनको टिकट दिया है। मंडी उनका गृहनगर है। इसलिए उम्मीदें भी काफी अधिक हैं। हालांकि कांग्रेस ने उनके खिलाफ विधायक विक्रमादित्य सिंह को उतारा है। वह राजघराने के हैं और उनके माता-पिता दोनों लोग पहले से राजनीति में हैं।

कांग्रेस उम्मीदवार के सामने कंगना का अनुभव भी कम है

विक्रमादित्य के पिता वीरभद्र सिंह राज्य के छह बार सीएम रह चुके हैं और उनकी मां प्रतिभा सिंह मौजूदा सांसद हैं। कंगना के सामने अनुभवी उम्मीदवार हैं तो खुद कंगना अभी राजनीति में नई हैं। ऐसे में उनके लिए रास्ता आसान नहीं है, लेकिन पीएम मोदी की लहर और केंद्र सरकार के जनहितकारी कार्य तथा कंगना की व्यक्तिगत छवि से बीजेपी को उम्मीद है कि वह जीत हासिल करने में सफल रहेंगी।

सिनेमाई सफर में कंगना की आखिरी रिलीज फिल्म तेजस थी। हालांकि तेजस सिनेमाघरों में कोई कमाल नहीं दिखा पाई थी। दूसरी तरफ कंगना की दूसरी फिल्म ‘इमरजेंसी’ पर काफी चर्चा हुई है। पॉलिटिकल ड्रामा ‘इमरजेंसी’ में कंगना ने भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का किरदार निभाया है।

Advertisement

2009 से 2021 तक मंडी सीट पर तीन आम चुनाव और दो उपचुनाव हो चुके हैं। इन चुनावों में कांग्रेस की उल्लेखनीय उपस्थिति रही और उसने तीन बार जीत हासिल की। 2009 के आम चुनाव में वीरभद्र सिंह और 2013 और 2021 के उपचुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार प्रतिभा सिंह मंडी सीट से सांसद चुनी गईं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो