scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

लड़के के एकाउंट में बैंक ने गलती से ट्रांसफर कर दिए 21 लाख, वापस लेना साबित हो रहा 'टेढ़ी खीर', पुलिस से मांगी मदद

एसएचओ ने कहा, “जांच में पाया गया कि 23 वर्षीय युवक यूनाइटेड किंगडम में पढ़ता है। हमने उसके पिता से पूछताछ की, जो यहां एमडीसी में रहते हैं और हिमाचल प्रदेश सरकार में एक्जीक्यूटिव इंजीनियर के रूप में काम करते हैं, लेकिन उन्होंने कहा कि उन्होंने अपने बच्चे को छोड़ दिया है।'
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
Updated: April 06, 2023 21:58 IST
लड़के के एकाउंट में बैंक ने गलती से ट्रांसफर कर दिए 21 लाख  वापस लेना साबित हो रहा  टेढ़ी खीर   पुलिस से मांगी मदद
एचडीएफसी बैंक (फाइल फोटो)
Advertisement

पंचकूला का 23 वर्षीय युवक जिसके एकाउंट में बैंक की "गलती से 21 लाख रुपये डाल देने", से वह रातों रात लखपति बन गया था, के बारे में पता चला है कि वह इस यूनाइटेड किंगडम में रह रहा है।

एचडीएफसी बैंक, मनसा देवी कॉम्प्लेक्स, सेक्टर 5, पंचकुला की ओर से पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई है। इसमें उन्होंने कहा था कि जिस व्यक्ति के खाते में उन्होंने गलती से 21 लाख रुपये डाल दिए थे, वह उनके बार-बार पूछे जाने पर भी न तो कोई सूचना दे रहा है और न ही जवाब दे रहा है। बैंक ने कहा कि छात्र का उनके बैंक में बचत और चालू खाता है और सर्वर में तकनीकी खराबी के कारण पैसा उसके खाते में चला गया।

Advertisement

चंडीगढ़ पासपोर्ट कार्यालय से पासपोर्ट और वीजा विवरण भी मांगा गया

मनसा देवी कॉम्प्लेक्स पुलिस स्टेशन के एसएचओ सुशील कुमार के अनुसार, मामले की जांच शुरू हो गई है और वे जल्द ही सरकार के माध्यम से ब्रिटेन में दूतावास से संपर्क करेंगे। कुमार ने कहा, "हम चंडीगढ़ क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय से सभी पासपोर्ट और वीजा विवरण प्राप्त करेंगे और यूके में दूतावास को सूचित करेंगे ताकि उसकी डिटेल हर जगह प्रसारित की जा सके।"

23 वर्षीय युवक यूनाइटेड किंगडम में पढ़ता है

एसएचओ ने कहा, “जांच में पाया गया कि 23 वर्षीय युवक यूनाइटेड किंगडम में पढ़ता है। हमने उसके पिता से पूछताछ की, जो यहां एमडीसी में रहते हैं और हिमाचल प्रदेश सरकार में एक्जीक्यूटिव इंजीनियर के रूप में काम करते हैं, लेकिन उन्होंने कहा कि उन्होंने अपने बच्चे को छोड़ दिया है।" पुलिस ने बताया कि पिता की गारंटी पर ही बैंक खाता खोला गया था।

उन्होंने कहा, “यह मामला पिछले साल अक्टूबर में हुआ था और हमें बैंक अधिकारियों द्वारा सूचित किया गया है कि वे पहले अपने स्तर पर जांच कर रहे थे और बाद में पैसे वापस नहीं होने पर उन्होंने हमसे शिकायत की। जब उन्होंने देखा कि लड़का लापता है, तो बैंक अधिकारियों ने उसके पिता से मुलाकात की लेकिन कुछ भी नहीं हुआ।”

Advertisement

कुमार ने कहा, 'बैंक अधिकारियों की भूमिका भी जांच के दायरे में है। हम इस बात की जांच कर रहे हैं कि इतनी बड़ी राशि गलती से किसी के खाते में कैसे स्थानांतरित हो गई। पिता के बयान में भी कई खामियां हैं। शुरू में उन्होंने हमें बताया कि उसने अपने बच्चे को छोड़ दिया है, लेकिन अब वह कह रहा है कि युवक ने पैसा खर्च कर दिया है।'

Advertisement

इस बीच, इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए, इस मुद्दे से निपटने वाले एचडीएफसी बैंक की कानूनी टीम के कबीर चोपड़ा ने कहा, "हमने पंचकुला पुलिस को सब कुछ सूचित कर दिया है और तकनीकी गड़बड़ी के सभी विवरण जमा कर दिए हैं। मैं इस बारे में और कुछ नहीं कह सकता, सिवाय इसके कि एक प्राथमिकी दर्ज की गई है।”

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो