scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

कई राज्यों में वैक्सीन की कमी, दिल्ली में भी 7 दिन का स्टॉक, केजरीवाल बोले- नहीं लगेगा लॉकडाउन लेकिन...

महाराष्ट्र में पुणे के एरंडवणा में एक वैक्सीनेशेन केंद्र पर वैक्सीन खत्म हो गई। वैक्सीन के स्टॉक का इंतजार करते हुए केंद्र पर लंबी लाइन लग गई। लाइन में लगे एक व्यक्ति ने बताया कि यहां लोग सुबह 6 बजे से खड़े हैं।
Written by: जनसत्ता ऑनलाइन | Edited By: अभिषेक गुप्ता
Updated: April 10, 2021 18:53 IST
कई राज्यों में वैक्सीन की कमी  दिल्ली में भी 7 दिन का स्टॉक  केजरीवाल बोले  नहीं लगेगा लॉकडाउन लेकिन
कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच यूपी के प्रयागराज में संक्रमण की जांच के लिए नेजल स्वैब सैंपल देती हुई महिला। (फोटोः पीटीआई)
Advertisement

देश में कोरोना वायरस का संक्रमण एक बार फिर तेजी से फैल रहा है। महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश और दिल्ली समेत ज्यादातर राज्यों ने अपने यहां तमाम पाबंदियां लगा दीं हैं। इसी बीच कई राज्यों में दवाओं और वैक्सीन की भारी किल्लत देखने को मिल रही है। महाराष्ट्र में पुणे के एरंडवणा में एक वैक्सीनेशेन केंद्र पर वैक्सीन खत्म हो गई। वैक्सीन के स्टॉक का इंतजार करते हुए केंद्र पर लंबी लाइन लग गईं।  यहां वैक्सीन का स्टॉक उपलब्ध नहीं है।

महाराष्ट्र के बाद राजस्थान ने भी कोरोना वैक्सीन की कमी की बात कही है। आने वाले रविवार को राजस्थान टीकाकरण अभियान का संचालन नहीं कर पाएगा क्योंकि राज्य में वैक्सीन का केवल दो दिनों का स्टॉक ही बचा है। राजस्थान टीकाकरण अभियान में आगे चल रहे राज्यों में से एक है, और औसतन यहां हर रोज चार से पांच लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है। अब राज्य को कोविड टीकों की एक स्थिर सप्लाई की जरूरत है।

Advertisement

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच कहा कि दिल्ली में 7-10 दिन की वैक्सीन बची हुई है। अगर हमें समुचित संख्या में डोज उपलब्ध कर दी जाए, आयु सीमा हटा दी जाए और बड़े स्तर पर वैक्सीनेशन सेंटर खोलने की इजाजत दे दी जाए, तो हम 2-3 महीने में पूरी दिल्ली को वैक्सीनेट कर सकते हैं। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा लेकिन कड़े प्रतिबंध लागू किए जा सकते हैं।

देश में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के रिकॉर्ड 1,45,384 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,32,05,926 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के शनिवार सुबह आठ बजे के अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, उपचाराधीन लोगों की संख्या करीब साढ़े छह महीने बाद फिर से 10 लाख से अधिक हो गई।

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो