Uttarkashi: रंग लाई मेहनत, 17 दिन बाद बाहर आए 41 मजदूर

उत्तरकाशी के सिलक्यारा में निर्माणधीन सुरंग में फंसे 41 श्रमिकों को आखिरकार 17 दिन बाद खुला आसमान देखने को नसीब हुआ है।

सुंरग के गेट पर भगवान विराजमान

पूरा देश इन मजदूरों के सकुशल बाहर निकलने की कामना कर रहा था यहां तक कि सुरंग के गेट के पास ही बौखनाग देवता का मंदिर भी स्थापित किया गया था।

इतने दिनों में इन मजदूरों को बाहर निकालने के लिए तमाम कोशिशें की गईं। एनडीआरएफ से लेकर बीआरो तक, आटीबीपी और वायु सेना से लेकर पुलिश प्रशासन तक सबने अपने मोर्चे संभाले।

पाइप के जरिए निकाले गए बाहर

NDRF की टीम पाइप के जरिए मजदूरों तक पहुंची और फिर एक-एक कर उन्हें पाइप के जरिए ही बाहर निकाला।

कुल 5 मिटर तक किया गया था होल

रेस्क्यू टीमों ने रैट होल माइनिंग और सुरंग के ऊपर से वर्टिकल ड्रिलिंग कर इन्हें बाहर निकाला है। कुल 57 मिटर तक होल किए गए हैं।

सुरंग से बाहर निकलते ही अस्पताल जाएंगे मजदूर

वहीं, रेस्क्यू टीमों ने मजदूरों के परिजनों से उनके कपड़े और बैग तैयार रखने के लिए कहा था। सुरंग से बाहर निकलते ही इन मजदूरों को तुरंत हॉस्पिटल ले जाया गया है।

Source: PTI