सद्गुरु ने बताया पुरानी से पुरानी कब्ज का चमत्कारी उपचार

कब्ज होने पर आंतों में गंदगी जम जाती है या मल ठीक से बाहर नहीं आ पाता। ऐसे में सद्गुरु जग्गी वासुदेव ने पुरानी से पुरानी कब्ज से राहत पाने के लिए कुछ चमत्कारी उपचार बताए हैं।

पानी वाली चीजों का सेवन

सद्गुरु के मुताबिक, खाने में पानी की मात्रा ज्यादा होनी चाहिए। सब्जियों में 70 प्रतिशत से ज्यादा और फलों में 90 फीसदी से भी ज्यादा पानी होता है। कब्ज से राहत पाने के लिए इन दोनों का सेवन लाभकारी साबित हो सकता है।

भोजन के बीच अंतर

सद्गुरु की माने तो, दो खाने के बीच अंतर से कब्ज की समस्या काफी कम हो जाती है। एक खाने से दूसरे खाने के बीच पर्याप्त अंतर होने से कब्ज की दिक्कत नहीं आती है।

देसी घी

देसी घी ऐसा ल्यूब्रिकेंट है जो डायजेस्टिव सिस्टम को चिकना करता है। खाने का पहला निवाला घी का होना चाहिए इससे मलाशय साफ रहता है और वहां ज्यादा देर तक चीजें चिपकती नहीं हैं।

नीम-हल्दी

सद्गुरु के मुताबिक, सुबह खाली पेट नीम-हल्दी की छोटी-छोटी गोलियां लेने से डायजेस्टिव सिस्टम तुरंत साफ हो जाता है।

डेयरी प्रोडक्ट्स

डेयरी प्रोडक्ट्स का अधिक सेवन करने से बचना चाहिए। इसमें ऐसे एंजाइम्स होते हैं जो पानी में घुल नहीं पाते और मलाशय में जाकर चिपक जाते हैं जिससे कब्ज की समस्या हो सकती है।

ये चमत्कारी उपाय

सद्गुरु ने कब्ज की समस्या में आंवला, बहेड़ा औऱ हरितकी को चमत्कारी फल बाताया है। इनको सही तरीके से मिलाकर त्रिफला बनता है। थोड़े पानी या एक चम्मच दूध/शहद के साथ लेने से डायजेस्टिव सिस्टम की सही तरीके से सफाई हो जाती है।

अरंडी तेल को भी सद्गुरु ने चमत्कारी नुस्खा बताया है। एक चम्मच में थोड़े से आरंडी तेल को गर्म करके पानी या दूध में डालकर पीने से कुछ दिनों में इस समस्या से निजात पा सकते हैं।

Source: freepik