डायबिटीज पेशेंट चोट लगने पर अपनाएं ये 5 तरीके, घाव भरने में मिलेगी मदद

डायबिटीज पेशेंट को किसी भी तरह की चोट लगने पर उनके घाव जल्दी नहीं भर पाते हैं।

दरअसल, मधुमेह रोगियों की इम्युनिटी बेहद कमजोर होती है। दूसरी ओर अनियंत्रित शुगर घाव के बैक्टीरिया को रोकने में नाकाम करने लगती है, इससे बैक्टीरिया घाव पर लेयर बना लेता है और वे भर नहीं पाते हैं।

वहीं, अगर घाव गहरा है और इसे ठीक होने में ज्यादा समय लग रहा है, तो यह अधिक खतरनाक हो सकता है। इसी कड़ी में यहां हम आपको कुछ टिप्स बता रहे हैं, जो घाव जल्दी भरने में मददगार हो सकती हैं।

चोट लगने पर उस हिस्से को अधिक साफ रखने की कोशिश करें। ध्यान रखें, उसमें गंदगी जरा भी न रह जाए। थोड़ी-सी भी गंदगी चोट को गहरा कर सकती है।.

अगर मामूली चोट से भी काफी ज्यादा खून बह रहा है, तो सबसे पहले उसे सादे पानी से धोकर कॉटन की मदद से साफ कर लें। चोट वाले हिस्से को दबाएं नहीं। यदि इससे भी फायदा नहीं होता है, तो डॉक्टर की मदद लें।

किसी भी घाव के लिए सही ड्रेसिंग बेहद जरूरी है। साथ ही इसे नियमित अंतराल पर बदलने की जरूरत भी होती है। 

चोट लगने पर ब्लड शुगर को कंट्रोल करना अधिक जरूरी हो जाता है। ब्लड शुगर का स्तर जितना ज्यादा होगा, घावों को ठीक होने में उतना ही अधिक समय लगेगा।

इन सब के अलग चोट लगने पर उस हिस्से को गर्म पानी के संपर्क में लाने से भी बचें। गर्म पानी घाव को जल्दी भरने में बाधा बन सकता है। (P.C- Freepik)