हाइपोथायरायडिज्म के लिए अपनाएं एक्सपर्ट के ये टिप्स, नेचुरल तरीके से कंट्रोल होगी बीमारी

हाइपोथायरायडिज्म एक ऑटोइम्यून स्थिति है, जिसमें शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली गलती से थायरॉयड ग्रंथि पर हमला करती है।

इससे शरीर में थायराइड हॉर्मोन का निर्माण कम होने लगता है और थायराइड ग्लैंड अंडर एक्टिव हो जाती है, इसी स्थिति को हाइपो थायराइड या हाइपोथायरायडिज्म कहा जाता है।

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, हाइपोथायरायडिज्म को जड़ से खत्म नहीं किया जा सकता है। हालांकि, लाफस्टाइल और खानपान में कुछ हेल्दी बदलाव कर इस बीमारी को आप आसानी से कंट्रोल जरूर कर सकते हैं।

इसी कड़ी में पोषण विशेषज्ञ लवनीत बत्रा ने अपने इंस्टाग्राम हैंडल पर एक पोस्ट के जरिए हाइपोथायरायडिज्म को कंट्रोल करने के लिए कुछ नेचुरल और असरदार तरीके बताए हैं। आइए जानते हैं इसके बारे में-

न्यूट्रिशनिस्ट के मुताबिक, हाइपोथायरायडिज्म पर काबू पाने के लिए विटामिन डी को अपनी डाइट का हिस्सा बनाएं। इस स्थिति में विटामिन डी की कमी देखने को मिलती है। इसके लिए आप मशरूम, दूध, अंडा, टोफू आदि खा सकते हैं।

सेलेनियम थायराइड हार्मोन को सक्रिय करने में मदद करता है। ऐसे में आप सेलेनियम से भरपूर फूड जैसे नट्स, सूरजमुखी के बीज, फलियां या ऑट्स का सेवन कर सकते हैं।

जिंक भी थायराइड हार्मोन को सक्रिय करने में मददगार है, इसके लिए आप कद्दू के बीज, तिल के बीज, मूंगफली या काजू को खानपान में शामिल कर सकते हैं।

आयोडीन थायराइड हार्मोन बनाने के लिए जरूरी है। वहीं, नमक, दही, पनीर, समुद्री भोजन जैसे मछली आदि में आयोडीन की भरपूर मात्रा पाई जाती है। आप इन्हें अपनी डाइट का हिस्सा बना सकते हैं।

इन सब के अलावा लवनीत बत्रा हर रोज 30 से 40 ग्राम फाइबर लेने की सलाह देती हैं। इसके लिए आप एवोकाडो, सेब, केले या चने को अपनी डेली डाइट में शामिल कर सकते हैं। (P.C- Freepik)