scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री चंदन राम दास का निधन, राज्य में तीन दिन के राजकीय शोक का ऐलान

लंबे समय से चंदन राम दास बीमार चल रहे थे लेकिन आज सुबह उनकी तबियत अचानक ज्यादा बिगड़ गई।
Written by: niteshdubey | Edited By: Nitesh Dubey
Updated: April 26, 2023 15:31 IST
उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री चंदन राम दास का निधन  राज्य में तीन दिन के राजकीय शोक का ऐलान
चंदन राम दास का निधन हो गया (फ़ोटो सोर्स: सोशल मीडिया)
Advertisement

उत्तराखंड सरकार में कैबिनेट मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता चंदन राम दास का आज निधन हो गया। लंबे समय से चंदन राम दास बीमार चल रहे थे। आज सुबह उनकी तबियत अचानक बिगड़ गई। उसके बाद उन्हें बागेश्वर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन डॉक्टरों के हर संभव प्रयास के बावजूद उनकी जान नहीं बच पाई। उनके निधन के बाद प्रदेश में तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया है।

वहीं उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंत्री के निधन पर दुख जताया। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, "मंत्रिमंडल में मेरे वरिष्ठ सहयोगी श्री चंदन राम दास जी के आकस्मिक निधन के समाचार से स्तब्ध हूं। उनका निधन जनसेवा एवं राजनीति के क्षेत्र में अपूरणीय क्षति है। ईश्वर पुण्यात्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान एवं परिजनों व समर्थकों को यह असीम कष्ट सहन करने की शक्ति प्रदान करें। ॐ शांति।"

Advertisement

चंदन राम दास छात्र जीवन से ही नेतागिरी में रुचि रखते थे। 1997 में नगर पालिका बागेश्वर के निर्दलीय अध्यक्ष बने थे। उससे पहले एमबी डिग्री कॉलेज हल्द्वानी में बीए प्रथम वर्ष में हुए चुनाव में निर्विरोध संयुक्त सचिव के रूप में चुने गए थे। पिछले चार बार से वह लगातार विधायक चुने जा रहे थे। वर्ष 2007, 2012, 2017 और 2022 में वे लगातार चौथी बार विधायक चुने गए थे।

चंदन राम दास का राजनीतिक करियर भी काफी लंबा था और वह बीजेपी के कद्दावर नेताओं में गिने जाते थे। 2006 में वह बीजेपी में शामिल हुए थे। उन्हें उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और महाराष्ट्र के पूर्व राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Former CM Bhagat Singh Koshyari) का करीबी बताया जाता था। 2006 में भगत सिंह कोश्यारी ने ही चंदन राम दास को बीजेपी में शामिल करवाया था।

Advertisement

मंगलवार को प्रकाश सिंह बादल का हुआ था निधन

बता दें कि मंगलवार की रात देश के दिग्गज राजनेता प्रकाश सिंह बादल का निधन हो गया। प्रकाश सिंह बादल को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी, इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन मंगलवार शाम को उनका निधन हो गया। प्रकाश सिंह बादल पांच बार पंजाब के मुख्यमंत्री रह चुके थे। पीएम मोदी समेत देश की सभी बड़ी हस्तियों ने प्रकाश सिंह बादल के निधन पर दुख प्रकट किया। प्रकाश सिंह बादल शिरोमणि अकाली दल के फाउंडर थे।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो