scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

आवाज देकर बच्चों को छत पर बुलाया और कुल्हाड़ी से काट दिया गला, हैरान कर देगी बदायूं हत्याकांड की कहानी

पुलिस ने घेराबंदी कर आरोपी को पकड़ने की कोशिश की तो उसने पुलिस पर फायर किया। जवाबी फायरिंग में उसकी मृत्यु हो गई।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
Updated: March 20, 2024 10:02 IST
आवाज देकर बच्चों को छत पर बुलाया और कुल्हाड़ी से काट दिया गला  हैरान कर देगी बदायूं हत्याकांड की कहानी
बदायूं में फ्लैग मार्च (Source- Screengrab/ ANI)
Advertisement

उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले की बाबा कॉलोनी में मंगलवार शाम मामूली विवाद में दो सगे भाइयों की कुल्हाड़ी से काटकर निर्मम हत्या कर दी गई। इस हमले में तीसरा भाई गंभीर रूप से घायल हो गया। इस बीच पुलिस ने घटना के आरोपी को एक मुठभेड़ में मार गिराया है। डबल मर्डर केस के बाद माहौल देखते हुए पुलिस अधिकारियों और सुरक्षाकर्मियों ने आज सुबह शहर में फ्लैग मार्च निकाला।

डबल मर्डर केस में SSP बदायूं आलोक प्रियदर्शी ने कहा, "कानून-व्यवस्था बिल्कुल सामान्य है। शहर में कोई दिक्कत नहीं है। जनपद में हर जगह स्थिति सामान्य है। हम सोशल मीडिया पर नजर बनाए हुए हैं। आरोपी साजिद अपना नाई का खोखा पीड़ित परिवार के घर के समाने रखता था। उसके घर में आना-जाना भी था। कल शाम 7:30 बजे वे घर के अंदर गया और छत पर दोनों बच्चे खेल रहे थे उन पर हमला किया और दोनों बच्चों की हत्या कर दी। वे जब जाने लगा तो भीड़ ने पकड़ने की कोशिश की लेकिन वे भीड़ से निकल कर भाग गया।

Advertisement

आरोपी साजिद और उसके भाई जावेद के खिलाफ FIR दर्ज़

बदायूं डबल मर्डर केस में मृतक के पिता की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी साजिद और उसके भाई जावेद के खिलाफ FIR दर्ज़ की है। FIR में लिखा गया, "आरोपी साजिद ने मेरी पत्नी से कहा कि उसे पैसे चाहिए क्योंकि उसकी पत्नी बच्चे को जन्म देने वाली है। जब वह पैसे लेने के लिए अंदर गई, तो उसने कहा कि वह अस्वस्थ महसूस कर रहा है और छत पर टहलने जाना चाहता है और मेरे बेटों (मृतक) को अपने साथ ले गया। उसने अपने भाई जावेद को भी छत पर बुला लिया। जब मेरी पत्नी लौटी तो उसने साजिद और जावेद को हाथों में चाकू लिए देखा। साजिद ने मेरे जीवित बेटे पर भी हमला करने की कोशिश की और उसे चोटें आईं। दोनों भाग रहे थे और साजिद ने मेरी पत्नी से कहा कि आज उसने अपना काम पूरा कर लिया है।"

क्या बोला घटना का प्रत्यक्षदर्शी

दोनों मृत बच्चों के जीवित भाई और घटना के प्रत्यक्षदर्शी ने कहा, "सैलून का आदमी यहां आया था। वह मेरे भाइयों को ऊपर ले गया, मुझे नहीं पता कि उसने उन्हें क्यों मारा। उसने मुझ पर भी हमला करने की कोशिश की लेकिन मैंने धक्का दे दिया।" मैंने उसे धक्का दे दिया और नीचे भाग गया। मेरे हाथ और सिर में चोटें आईं। दो लोग (आरोपी) यहां आए थे।"

मुख्य आरोपी साजिद एनकाउंटर में ढेर

पुलिस को सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंच कर स्थिति को संभाला। पुलिस ने घेराबंदी कर उसे पकड़ने की कोशिश की तो उसने पुलिस पर फायर किया। जवाबी फायरिंग में उसकी मृत्यु हो गई।" हत्याकांड का मुख्य आरोपी साजिद एनकाउंटर में ढेर हो गया जबकि दूसरा आरोपी और साजिद का भाई जावेद अभी फरार है।

Advertisement

क्या बोली मृत बच्चों की मां?

मंगलवार देर शाम साजिद नाम का शख्स अपनी दुकान के सामने वाले विनोद सिंह के घर में घुस गया। इस दौरान उसने विनोद की पत्नी से पांच हजार रुपयों की मांग की. बच्चों की मां संगीता ने बताया, "मैं अपने घर में ही कॉस्मेटिक की दुकान चलाती हूं। साजिद शाम को घर आया और उसने उनसे पहले कुछ सामान मांगा जो मैंने उसे दे दिया। उसने कुछ देर बाद 5000 रुपये मांगे मैंने अपने पति से बात करके उनको 5000 रुपये दे दिए.

Advertisement

संगीता ने आगे बताया, "उसके बाद साजिद ने कहा कि उसकी तबीयत थोड़ी सही नहीं लग रही है और ऐसा कहते हुए वह घर में ऊपर चला गया. छत पर दोनों बच्चे आयुष और युवराज थे. बच्चों की दादी ने बताया कि साजिद ने पानी के लिए हनी को आवाज लगाई थी. हनी पानी लेकर ऊपर गया था और कुछ देर बाद चीखने की आवाजें आने लगी और साजिद हाथ में कुल्हाड़ी लेकर, खून में लथपथ नीचे की तरफ आ रहा था।"

बदायूं में डबल मर्डर

पुलिस सूत्रों के अनुसार बदायूं जिले के सिविल लाइंस थाना क्षेत्र की बाबा कॉलोनी में आज देर शाम नाई की दुकान चलाने वाले एक व्यक्ति ने घर में घुसकर तीन सगे भाइयों आयुष, युवराज और आहान उर्फ हनी पर कुल्हाड़ी से हमला किया जिसमें आयुष (12) और आहान उर्फ हनी (आठ) की मौत हो गयी जबकि गंभीर रूप से घायल अवस्था में युवराज को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बरेली परिक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) डॉक्टर राकेश सिंह ने पीटीआई-भाषा को बताया कि घटना के कुछ घंटों बाद साजिद (22) नाम के एक आरोपी को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया। उन्होंने कहा, '' घटना के बाद दो बच्चों की नृशंस हत्या का अभियुक्त खून से लथपथ साजिद ऊर्फ जावेद मौके से भाग गया। हमारी टीम को जब पता चला और उसका पीछा किया तो वह शेखूपुर के जंगल में दिखाई दिया। वहां हमारी एसओजी और थाना पुलिस पीछा करती हुई पहुंची तो अभियुक्त ने पुलिस पर फायर किया और फिर पुलिस की जवाबी गोलीबारी में वह घायल हो गया और उसकी मृत्यु हो गयी।

पुलिस की फायरिंग में आरोपी की मौत

आईजी ने बताया कि साजिद घटना का आरोपी था। खून से लथपथ भाग रहा था तो लोगों ने बताया कि एक व्यक्ति खून से लथपथ भाग रहा है तो उसका पीछा किया गया। उन्होंने बताया कि घटना के कारणों का पता किया जा रहा है। इस बीच, पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) प्रशांत कुमार ने बताया कि घटना रात क़रीब आठ बजे के आसपास हुई, जिसमें साजिद ऊर्फ जावेद नाम के व्यक्ति ने अपनी दुकान के सामने रहने वाले व्यक्ति के घर में जाकर उसके बच्चों पर हमला किया, जिसमें दो बच्चों के मृत्यु हो गई और एक घायल है। कुमार ने बताया कि घटना के बाद साजिद भागा और पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए, उसकी घेराबंदी की। उसने पुलिस पर भी फायरिंग की और जवाबी फायरिंग में घायल हुआ, बाद में उसकी मृत्यु हो गई।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो