scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Ram Mandir Inauguration: VHP ने लोगों से अयोध्या के बजाय घर के पास वाले मंदिर पहुंचने के लिए क्यों कहा? 22 जनवरी के लिए ये है प्लान

विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले राम लला के प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम की व्यापक स्तर पर तैयारियां की हैं। इस दिन विश्व भर में पांच लाख से अधिक मंदिरों में विशेष पूजा का आयोजन होगा और करोड़ों हिंदू इसमें सहभाग करेंगे।
Written by: सुशील राघव | Edited By: Jyoti Gupta
Updated: November 13, 2023 18:30 IST
ram mandir inauguration  vhp ने लोगों से अयोध्या के बजाय घर के पास वाले मंदिर पहुंचने के लिए क्यों कहा  22 जनवरी के लिए ये है प्लान
राम मंदिर। फोटो-(इंडियन एक्‍सप्रेस )।
Advertisement

विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले राम लला के प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम की व्यापक स्तर पर तैयारियां की हैं। इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए विहिप 10 करोड़ से अधिक लोगों को निमंत्रण देगी। इस दिन विश्व भर में पांच लाख से अधिक मंदिरों में विशेष पूजा का आयोजन होगा और करोड़ों हिंदू इसमें सहभाग करेंगे।

विहिप के केंद्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने सोमवार को कहा है कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के आह्वान पर अयोध्या में जनवरी में होने वाले राम लला के प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम के निमित्त हम 10 करोड़ से अधिक लोगों को निमंत्रण देंगे। अयोध्या में इस दिन हिंदुत्व की सभी छटाओं के लगभग 4,000 प्रमुख संत, विहिप के प्रमुख पदाधिकारी और देश का वरिष्ठ सामाजिक, सांस्कृतिक एवं रचनात्मक नेतृत्व शामिल होंगे।

Advertisement

22 जनवरी छोटी दिवाली की तरह होगी

कुमार ने कहा कि हम भगवान श्रीराम के 14 वर्ष बाद अयोध्या लौटने की खुशी में दिवाली मनाते हैं लेकिन 22 जनवरी को तो वह दूसरी दीपावली होगी, जब श्रीराम 500 वर्षों के बाद, भारत की स्वतंत्रता के अमृतवेला में अपने जन्म-स्थान पर लौटेंगे। इसलिए यह आवश्यक है कि विश्व का समस्त हिंदू समाज इस प्राण प्रतिष्ठा समारोह में प्रत्यक्ष शामिल हो। सब रामभक्तों को तो उसी दिन अयोध्या नहीं बुलाया जा सकता। इसलिए हमारा आह्वान है कि विश्व भर के हिंदू अपने मुहल्ले या गांव के मंदिर को ही अयोध्या मानकर वहां एकत्र हों। वहां की परंपरानुसार पूजा-पाठ, आराधना व अनुष्ठान करें, पूज्य संतों द्वारा दिए गए विजय महा-मंत्र – ‘श्रीराम जय राम जय जय राम’ का जाप करें तथा अयोध्या के भव्य-दिव्य कार्यक्रम के सीधे प्रसारण को साक्षात देखें, आरती में अपना स्वर मिलाएं, प्रसाद बांटें और इस ऐतिहासिक कार्यक्रम के प्रत्यक्षदर्शी बनकर आनंद मनाएं।

विहिप कार्याध्यक्ष ने दिल्ली में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पांच नवंबर को श्रीराम मंदिर में पूजित अक्षत (पीले चावल) कलश संगठन की दृष्टि से बने 45 प्रांतों में भेजे जा चुके हैं। तीर्थ क्षेत्र न्यास के आह्वान पर इस अक्षत निमंत्रण को लेकर, विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता अन्य हिंदू संगठनों से मिलकर, एक जनवरी से 15 जनवरी के बीच, देश के नगर ग्रामों में, हिंदू परिवारों तक जाएंगे। ऐसा ही कार्यक्रम विदेशों में रहने वाले हिंदुओं के लिए भी आयोजित किया गया है। प्रत्येक परिवार को हम इस निमंत्रण के साथ भगवान और उनके मंदिर का पूजा में रखने लायक एक चित्र और अन्य आवश्यक जानकारियां भी देंगे। हमारा अभी तक का आकलन है कि यह आयोजन विश्व भर में पांच लाख से अधिक मंदिरों में अवश्य होगा और करोड़ों-करोड़ हिंदू इसमें सहभाग करेंगे।

Advertisement

1984 से चले मुक्ति अभियान में लाखों हिंदुओं की सहभागिता

इस बार हम समाज के पास कुछ मांगने नहीं जा रहे। इसलिए इस कार्य में जुटी टोलियां या कार्यकर्ता कोई भी भेंट, दान या अन्य सामग्री स्वीकार नहीं करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि 1984 से चले मुक्ति अभियान में लाखों हिंदुओं की सहभागिता रही है। अनेक मुक्ति योद्धा बलिदान भी हुए हैं या अब इस दुनिया में नहीं हैं। उनके भी परिवार, उनके स्वप्न की इस पूर्ति को देखना चाहते हैं। विहिप ने देश को 45 भागों में बांटकर प्रत्येक भाग के लिए 27 जनवरी से 22 फरवरी के बीच में उस भाग के लिए निश्चित दिन अयोध्या पधारने का निवेदन किया है। ऐसे लगभग एक लाख लोगों के दर्शनों की व्यवस्था की गई है।

Advertisement

उन्होंने आह्वान किया कि 22 जनवरी की पुण्य रात्रि को प्रत्येक हिंदू परिवार कम से कम पांच दीपक अवश्य जलाए और उसके बाद किसी भी दिवस को सपरिवार, ईष्ट-मित्रों सहित अयोध्या दर्शन के लिए पधारें। विश्व हिंदू परिषद को विश्वास है कि रामजी का यह मंदिर विश्व में हिंदुओं में समरसता, एकत्व व आत्मगौरव का संचार करेगा और भारत को परम वैभव की ओर ले जाने के लिए एक राष्ट्र मंदिर बन कर उभरेगा।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो