scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Dhananjay Singh: 'आपके नेता को सहानुभूति की जरूरत', धनंजय सिंह को सजा सुनाए जाने पर पत्नी श्रीकला की मार्मिक अपील

Lok Sabha Elections: सजा सुनाए जाने से पहले धनंजय सिंह ने जौनपुर से लोकसभा चुनाव लड़ने के संकेत दिए थे।
Written by: न्यूज डेस्क
March 07, 2024 09:57 IST
dhananjay singh   आपके नेता को सहानुभूति की जरूरत   धनंजय सिंह को सजा सुनाए जाने पर पत्नी श्रीकला की मार्मिक अपील
Lok Sabha Elections: जौनपुर के पूर्व सांसद धनंजय सिंह की पत्नी श्रीकला ने भावुक अपील की है। (@ShrikalaSingh)
Advertisement

Dhananjay Singh Wife Shrikala Touching Appeal: जौनपुर के पूर्व सांसद और बाहुबली नेता धनंजय सिंह को कोर्ट ने अपहरण और रंगदारी मामले में सात साल की सजा सुनाई है। साथ ही 50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है। इसके बाद कोर्ट ने धनंजय सिंह को जेल भेज दिया।

इस घटनाक्रम के बाद धनंजय सिंह पत्नी और जौनपुर की जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीकला धनंजय सिंह ने बुधवार रात एक्स पर कार्यकर्ताओं से भावुक अपील की है। श्रीकला ने कार्यकर्ताओं से कहा कि आपके नेता को आपकी सहानुभूति की जरूरत है।

Advertisement

श्रीकला धनंजय सिंह ने सोशल एक्स पर लिखा, "हम आपकी भावनाओं की कद्र करते हैं, लेकिन फैसला न्यायपालिका ने दिया है, जिसका हमें सम्मान करना‌ चाहिए। अपने नेता धनंजय सिंह का अनुसरण करते हुए किसी भी नेता या दल के बारे में आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे आपके नेता के व्यक्तित्व पर दुष्प्रभाव पड़ेगा।'

जौनपुर की जिला पंचायत अध्यक्ष ने कहा, 'आपके नेता ने बड़ी शुचिता की राजनीति की है। कभी किसी भी दल अथवा नेता के लिए गलत शब्दों का इस्तेमाल नहीं किया। कृपया आप भी संयम बनाएं। धैर्य से काम लें। आपके नेता को आपके सहानुभूति की जरूरत है। उम्मीद करती हूं कि आप मेरी बातों पर अमल करेंगे।'

सजा सुनाए जाने के बाद धनंजय सिंह ने कहा था कि इस निर्णय के खिलाफ हम हाई कोर्ट जाएंगे। आज फर्जी मुकदमे में मुझे फर्जी सजा सुनाई गई।

Advertisement

धनंजय सिंह को किस मामले में हुए सजा?

10 मई 2020 को जौनपुर के लाइन बाजार थाने में मुजफ्फरनगर निवासी नमामि गंगे के प्रोजेक्ट मैनेजर अभिनव सिंघल ने अपहरण और रंगदारी मांगने का आरोप लगाते हुए धनंजय सिंह और उनके साथी विक्रम पर केस दर्ज कराया था। पुलिस की दी गई तहरीर पर आरोप लगया गया था कि विक्रम अभिनव सिंघल का अपहरण कर पूर्व सांसद के आवास पर ले गया था।

Advertisement

वहां धनंजय सिंह पिस्टल लेकर आए और गालियां देते हुए उनको कम गुणवत्ता वाली सामग्री की आपूर्ति करने के लिए दबाव बनाया। उनके द्वारा इनकार करने पर धमकी देते हुए रंगदारी मांगी थी। इस शिकायत के आधार पर पुलिस ने धनंजय सिंह और उनके सहयोगियों के खिलाफ केस दर्ज करके अरेस्ट कर लिया था। बाद में कोर्ट से उन्हें जमानत मिल गई थी।

वहीं बीजेपी ने जब लोकसभा की पहली सूची जारी की तो उस सूची में जौनपुर लोकसभा सीट से महाराष्ट्र के गृहमंत्री रहे कृपाशंकर सिंह को प्रत्याशी घोषित किया गया। इसके तुरंत बाद धनंजय सिंह की पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। जिसमें उन्होंने एक बार से जौनपुर लोकसभा सीट से किस्मत आजमाने का संकेत दिया था।

जौनपुर के पूर्व सांसद धनंजय सिंह ने एक्स पर एक पोस्टर शेयर करते हुए लिखा था, "साथियों! तैयार रहिए… लक्ष्य बस एक लोकसभा 73, जौनपुर।'' इसके साथ ही 'जीतेगा जौनपुर-जीतेंगे हम' के साथ अपनी फोटो भी शेयर की थी। हालांकि,धनंजय सिंह को लेकर अभी तक यह साफ नहीं है कि वो किस पार्टी से चुनाव लड़ेंगे या फिर निर्दलीय ताल ठोकेंगे।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो