scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Lok Sabha Elections: चुनाव में कैसे लगाया जाएगा खर्चे का हिसाब? नोएडा में हेलीपैड, फॉर्म हाउस, समोसा, कचौड़ी और DJ सहित 281 आइटम के दाम फिक्स

Lok Sabha Elections: उप जिला निर्वाचन अधिकारी एवं अपर जिलाधिकारी अतुल कुमार के मुताबिक, चुनाव खर्च के आकलन के समय कोई विवाद न हो इसके लिए रेट लिस्ट जारी की जा रही है। उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में कोई भी उम्मीदवार मूल्य को कम नहीं आंक सकता। पढ़ें, धीरज मिश्रा की रिपोर्ट-
Written by: न्यूज डेस्क
Updated: March 09, 2024 08:36 IST
lok sabha elections  चुनाव में कैसे लगाया जाएगा खर्चे का हिसाब  नोएडा में हेलीपैड  फॉर्म हाउस  समोसा  कचौड़ी और dj सहित 281 आइटम के दाम फिक्स
Lok Sabha Elections: नोएडा में हेलीपैड, फॉर्म हाउस, समोसा, कचौड़ी और DJ सहित 281 आइटम के दाम फिक्स। (एक्सप्रेस फाइल)
Advertisement

Lok Sabha Elections: लोकसभा चुनाव में खाने-पीने के खर्चे का हिसाब कैसे लगाया जाएगा। इसको लेकर गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन ने 281 आइटम के रेट निर्धारित किए हैं। इन आइटमों में नोएडा में हेलीपैड, फॉर्म हाउस, समोसा, कचौड़ी और डीजे सहित 281 आइटम के दाम फिक्स किए गए हैं।

गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन जिन चीजों के रेट फिक्स किए हैं, उनमें 100 रुपये में शाकाहारी थाली, 10 रुपये में एक समोसा या एक कप चाय, 15 रुपये में कचौरी, 25 रुपये में एक सैंडविच और 90 रुपये में एक किलोग्राम जलेबी भी शामिल हैं। इन 281आइटम के आधार पर आगामी लोकसभा चुनावों के लिए राजनीतिक दलों के खर्च की गणना की जाएगी।

Advertisement

उप जिला निर्वाचन अधिकारी एवं अपर जिलाधिकारी अतुल कुमार के मुताबिक, चुनाव खर्च के आकलन के समय कोई विवाद न हो इसके लिए रेट लिस्ट जारी की जा रही है। उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में कोई भी उम्मीदवार मूल्य को कम नहीं आंक सकता। मान लीजिए उन्होंने 1,000 समोसे परोसे हैं या मिठाई बांटी है तो उसकी कीमत इस रेट लिस्ट के आधार पर ही तय होगी। हां, अगर कोई बिल जमा करता है तो खर्च की गणना अलग से की जाएगी।

जिन अन्य मदों के लिए दरें जारी की गई हैं उनमें महंगे बुनियादी ढांचे, जैसे हेलीपैड, लक्जरी वाहन और फार्महाउस से लेकर फूल, कूलर और सोफा जैसी कई वस्तुएं शामिल हैं। डीएम कार्यालय के आंकड़ों के मुताबिक, एक हेलीपैड की दर 2.30 लाख रुपये तय है।

इसी तरह, एक फार्महाउस की लागत प्रति दिन 22,000 रुपये होगी, जबकि एक विवाह लॉन की लागत 11,000 रुपये होगी। प्रशासन ने फर्नीचर के भी रेट तय किए हैं। इसमें एक कुर्सी (13 रुपये प्रति पीस), सोफा (80 रुपये), और बिस्तर (40 रुपये) के लिए एक मानक दर निर्धारित की है। गुलाब की माला (120 रुपये), गेंदे की माला (12 रुपये) और गुलदस्ता (180 रुपये) के लिए भी दरें निर्धारित की गई हैं। डीजे की सेवा लेने के इच्छुक लोगों को यह सुनिश्चित करना होगा कि लागत प्रति दिन 4,200 रुपये से अधिक न हो।

Advertisement

प्रशासन ने बाल्टी (4 रुपये), प्लास्टिक गिलास (2 रुपये), ट्रे (7 रुपये) और जग (4 रुपये) जैसी वस्तुओं की दर भी तय की है। वहीं विज्ञापन के लिए स्टील फ्रेम होर्डिंग का कितना खर्च आएगा। इसको लेकर भी प्रशासन ने दाम तय किए हैं। इसके लिए 29.50 रुपये प्रति वर्ग फीट, लकड़ी का फ्रेम होर्डिंग, 12.29 रुपये और साधारण होर्डिंग (3*2) 100 रुपये प्रति पीस। इलेक्ट्रॉनिक आइटमों में प्रति 15 मिनट में एक ड्रोन कैमरे की दर 16,000 रुपये तय की गई है।

Advertisement

खाने-पीने के चीजों के अंतर्गत कुल 26 वस्तुओं की दरें निर्धारित की गई हैं। मांसाहारी थाली (180 रुपये), पुरी सब्जी (30 रुपये प्रति प्लेट), सैंडविच (25 रुपये) और काशु बर्फी (700 रुपये प्रति किलो)। वाहनों को लेकर टाटा सफारी या होंडा सिटी (फ्यूल सहित) की लागत प्रति दिन 3,500 रुपये होगी।

मल्टीप्लेक्स सिनेमा घरों में विज्ञापन चलाने की दर जहां 463 रुपये प्रति स्क्रीन प्रति सेकंड प्रति सप्ताह तय की गई है, वहीं विभिन्न समाचार पत्रों में प्रति वर्ग सेंटीमीटर विज्ञापन छापने की दर 21.41 रुपये से लेकर 291.85 रुपये तक है।

कुमार ने कहा कि रेट लिस्ट बाजार सर्वे के बाद और उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी द्वारा निर्धारित मानकों के अनुसार तैयार की गई है। कुमार के अनुसार, हमने मौजूदा बाजार मूल्य का मूल्यांकन किया और तदनुसार, वस्तुओं की दर तय की। इसके अलावा, हमने सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ दो बैठकें कीं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो