scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे किसानों की महापंचायत आज, नोएडा में धारा 144 लागू, संसद घेराव का किया ऐलान

किसान संगठनों का कहना है कि किसान आंदोलन के दौरान सरकार की तरफ से मानी गई मांगों को आज तक पूरी नहीं किया गया है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
Updated: February 07, 2024 07:57 IST
अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे किसानों की महापंचायत आज  नोएडा में धारा 144 लागू  संसद घेराव का किया ऐलान
नोएडा में धारा 144 लागू (Source- AFP)
Advertisement

जमीन अधिग्रहण से प्रभावित किसानों का ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण पर चल रहा अनिश्चितकालीन धरना मंगलवार को आठवें दिन भी जारी रहा। किसान संगठनों ने अपनी मांगों को लेकर दिल्ली में प्रदर्शन का ऐलान किया है। किसान संगठन अपनी मांगों के समर्थन में 13 फरवरी को दिल्ली के लिए रवाना होंगे और जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करेंगे। किसान समूहों ने अपनी मांगों को लेकर राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन पर दबाव बढ़ाने के लिए 7 फरवरी को 'किसान महापंचायत' बुलायी है और 8 फरवरी 2024 को दिल्ली में संसद तक विरोध मार्च निकालने का ऐलान किया है।

किसानों ने अपने धरने-प्रदर्शन की तैयारियां तेज कर दी हैं। भारतीय किसान नौजवान यूनियन ने सोनीपत जिले के खरखौदा में ट्रैक्टर मार्च निकाला। किसानों ने कहा है कि 13 फरवरी तक अगर उनकी मांगे नहीं मानी गईं तो वे दिल्ली की तरफ कूच करेंगे। संगठनों का कहना है कि किसान आंदोलन के दौरान सरकार की तरफ से मानी गई मांगों को आज तक पूरी नहीं किया गया है। इन्हीं मांगों को पूरा करवाने के लिए किसान संगठन दिल्ली कूच की तैयारी कर रहे हैं।

Advertisement

नोएडा- ग्रेटर नोएडा में धारा 144 लागू

नोएडा और ग्रेटर नोएडा में किसानों के विरोध-प्रदर्शन के मद्देनजर गौतम बुद्ध नगर पुलिस ने मंगलवार को कहा कि सीआरपीसी की धारा 144 के तहत 7 और 8 फरवरी को प्रतिबंध लागू रहेंगे। पुलिस ने एक ट्रैवल एडवाइजरी भी जारी की है, जिसमें किसानों के आंदोलन के मद्देनजर यात्रियों को दोनों शहरों में कुछ मार्गों पर बदलाव के प्रति आगाह किया गया। यातायात विभाग ने जनता को दादरी, तिलपता, सूरजपुर, सिरसा, रामपुर-फतेहपुर और ग्रेटर नोएडा की विभिन्न सड़कों पर मार्ग परिवर्तन के बारे में आगाह किया है।

किसानों का दिल्ली में संसद तक मार्च

नोएडा और ग्रेटर नोएडा में किसान समूह दिसंबर 2023 से स्थानीय विकास प्राधिकरणों द्वारा अधिग्रहीत अपनी भूमि के बदले अधिक मुआवजे और विकसित भूखंडों की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शनकारी किसान समूहों ने अपनी मांगों पर दबाव बनाने के लिए बुधवार को किसान महापंचायत और बृहस्पतिवार को राष्ट्रीय राजधानी में संसद तक मार्च का आह्वान किया है।

Advertisement

किसानों का कहना है कि प्राधिकरण के द्वारा किसानों की समस्याओं को गंभीरता से नहीं लिया जा रहा। किसान नेता सुनील फौजी ने ऐलान किया कि अन्य सभी संगठनों को जोड़कर आंदोलन में बड़ी तादाद में किसानों को शामिल किया जाएगा। किसानों ने कहा कि नोएडा के सभी 81 गांवों के हजारों किसान 8 फरवरी को संसद घेराव के लिए ट्रैक्टर मार्च निकालेंगे।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो