scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Ram Mandir: पहले दिन 5 लाख ने किए दर्शन, भीड़ देख खुद योगी ने संभाला मोर्चा, श्रद्धालुओं से की संयम और सहयोग की अपील । Photos

Ram Mandir: गोंडा, बस्ती और अंबेडकरनगर की सड़कों पर उस समय कुछ किलोमीटर तक तब लंबा ट्रैफिक जाम लग गया, जब पुलिस ने अयोध्या की ओर जाने वाली सभी सड़कों को पूरी तरह से बंद कर दिया।
Written by: न्यूज डेस्क
अयोध्या | Updated: January 24, 2024 01:47 IST
ram mandir  पहले दिन 5 लाख ने किए दर्शन  भीड़ देख खुद योगी ने संभाला मोर्चा  श्रद्धालुओं से की संयम और सहयोग की अपील । photos
पहले दिन ५ लाख ने किए राम लला के दर्शन (PTI)
Advertisement

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर में रामलला के दर्शन के लिए पहले दिन करीब पांच लाख से ज्यादा श्रद्धालु पहुंचे। मंगलवार देर शाम तक पांच लाख से अधिक श्रद्धालु भगवान राम के बाल स्वरूप का दर्शन कर चुके थे। रामलला के दर्शन के लिए उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर अयोध्या के डीएम ने शहर में आठ स्थानों पर मजिस्ट्रेट तैनात कर दिए हैं।

कई बार बेकाबू हुई भीड़

Advertisement

रामलला के दर्शन के लिए अयोध्या पहुंची भक्तों की भीड़ मंगलवार को कई बार काबू से बाहर होती दिखी लेकिन पुलिस प्रशासन के आला अधिकारियों ने स्थिति को तुरंत संभाल लिया और लोगों को लाइनों में खड़ा लगाकर भगवान राम के दर्शन कराये। सूचना निदेशक शिशिर ने मंगलवार देर शाम जारी एक बयान में बताया,''आज पांच लाख श्रद्धालुओं ने रामलला के दर्शन किये हैं।''

सीएम योगी ने खुद संभाला मोर्चा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देर शाम X पर पोस्ट कर बताया, ''आज श्री अयोध्या धाम में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर परिसर का स्थलीय निरीक्षण किया। इस अवसर पर संबंधित अधिकारियों को पूज्य साधु-संतों व श्रद्धालुओं हेतु प्रभु श्री रामलला के सुलभ एवं सहज दर्शन के साथ ही सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुचारू रूप से संचालित करने हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए।''

Advertisement

देर रात जारी एक बयान के मुताबिक श्रीरामलला के बालरूप विग्रह की प्राण-प्रतिष्ठा अनुष्ठान के अगले दिन अयोध्या में उमड़े लाखों श्रद्धालुओं के सुगम दर्शन के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जमीन स्तर पर खुद मोर्चा संभाल लिया है। मंगलवार को अचानक अयोध्या पहुंचे मुख्यमंत्री ने पहले हवाई सर्वेक्षण कर स्थिति का जायजा लिया फिर स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों के साथ बैठक कर श्रद्धालुओं की सुरक्षा, सुविधा और सहूलियत के लिए आवश्यक इंतजाम करने के लिए दिशा-निर्देश दिया।

Advertisement

इसके बाद श्री रामजन्मभूमि मंदिर पहुंचे मुख्यमंत्री ने मंदिर न्यास के पदाधिकारियों के साथ दर्शन के लिए उमड़ रहे भारी संख्या श्रद्धालुओं के प्रबंधन, दर्शन-पूजन व्यवस्था को और व्यवस्थित करने पर चर्चा की। इस बीच, मुख्यमंत्री ने देश के हर कोने से आ रहे श्रद्धालुओं से संयम और सहयोग की अपील की है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि अयोध्या में उमड़े जनसलाब के बीच सबको रामलला के दर्शन हों, इसके लिए संयम बनाये रखें।

आठ स्थानों पर मजिस्ट्रेट तैनात

मुख्यमंत्री के निर्देश पर अयोध्या के डीएम ने आठ स्थानों पर मजिस्ट्रेट तैनात कर दिए हैं। इन मजिस्ट्रेट को शांति, सुरक्षा, यातायात व लोक व्यवस्था के प्रबंधन के लिए लगाया गया है। श्रद्धालुओं के सुगम व सुरक्षित दर्शन हेतु अयोध्या पुलिस द्वारा सभी ड्यूटी प्वाइंटों पर पुलिस बल तैनात कर रही सतर्कता बरती जा रही है। जनपद के सभी बार्डर, बैरियर, चेक प्वाइंट पर पुलिस बल की ड्युटी लगाकर जनपद मे आने वाले सभी संदिग्ध वाहनों, व्यक्तियों की चेकिंग की जा रही है। साथ ही सभी महत्वपूर्ण स्थानों, होटल, रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन पर संदिग्ध वाहनों, व्यक्तियों की जांच की जा रही है। किसी भी तरह के अफवाह को रोकने के सोशल मीडिया प्लेटफार्म्स पर भी सतर्क नजर रखी जा रही है।

अयोध्या में उमड़ा आस्था का हुजूम

रामलला के प्राण प्रतिष्ठा के बाद पहले दिन हाड़ कंपाने वाली ठंड के बावजूद अयोध्या की सड़कों पर आस्था का हुजूम उमड़ पड़ा। धर्मपथ, राम पथ और श्रीराम जन्मभूमि पथ के मार्गों पर तिल रखने की जगह नहीं दिख रही थी। भीड़ के चलते रामलला के कपाट एक घंटे पहले खोले गए। रात तीन बजे से ही दर्शन के लिए श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। लोगों में मंदिर के अंदर जाने के लिए होड़ मची। ऐसे में मंदिर के अंदर खचाखच भीड़ के बीच एटीएस और आरएएफ कमांडो दाखिए हुए।

मंदिर के कपाट तो सुबह सात बजे खुले लेकिन रात के दूसरे पहर से ही दर्शनार्थी श्रद्धालुओं की अपरिमित कतार लग गई। सुबह मंदिर के कपाट खुलने के बाद श्रीरामलला के दर्शन का सिलसिला शुरू हुआ तो आस्थावानों की संख्या असंख्य होने लगी। दोपहर होते-होते करीब तीन लाख श्रद्धालु प्रभु का बाल रूप निहार कर निहाल हो चुके थे और करीब इतनी ही संख्या प्रतीक्षारत श्रद्धालुओं की थी। (भाषा)

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो