scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

अधिकारियों ने नहीं सुनी फरियाद तो माइक लेकर पेड़ पर चढ़ गए भाजपा नेता; वीडियो हो रहा वायरल

पुलिस को बुलाकर प्रियेश को उतारने का प्रयास शुरू किया गया, पहले तो उन्होंने किसी की बात सुनने से इनकार कर दिया।
Written by: ट्रेंडिंग न्‍यूज टीम | Edited By: Avinash Tiwari
Updated: December 03, 2023 15:43 IST
अधिकारियों ने नहीं सुनी फरियाद तो माइक लेकर पेड़ पर चढ़ गए भाजपा नेता  वीडियो हो रहा वायरल
अधिकारियों से परेशान होकर पेड़ पर चढ़े बीजेपी नेता (फोटो सोर्स- @RahulsainiUp35)
Advertisement

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर से एक अजीब मामला सामने आया है। यहां अधिकारियों से नाराज होकर एक बीजेपी नेता पेड़ पर चढ़ गए। उनके हाथ में एक माइक था, जिस पर वह अपनी बात कह रहे थे। यह देखकर अधिकारी हैरत में पड़ गए। इसके बाद बीजेपी नेता को पेड़ से उतारने की कोशिश शुरू हुई। काफी देर बाद वह पेड़ से उतरे और फिर उन्होंने इसके पीछे की वजह बताई।

कुशीनगर के प्रियेश गौड़ जो युवा मोर्चा का पूर्व जिला उपाध्यक्ष हैं, वह इस बात से नाराज थे कि उनकी बहन का जाति प्रमाण पत्र नहीं बन पा रहा था। तहसील के कर्मचारी उन्हें दौड़ा रहे थे। वहीं समाधान दिवस के मौके पर वह तहसील पहुंचे और पेड़ पर माइक लेकर चढ़ गए और माइक से चिल्लाने लगे।

Advertisement

पेड़ पर खड़े होकर शख्स को चिल्लाता देख लोग हैरत में पड़ गए। अधिकारी भी परेशान हो गए। उन्हें समझ ही नहीं आ रहा था कि इस स्थिति को संभाले कैसे। पुलिस को बुलाकर प्रियेश को उतारने का प्रयास शुरू किया गया, पहले तो उन्होंने किसी की बात सुनने से इनकार कर दिया। काफी देर बाद उन्होंने अधिकारियों की बात सुनी और पेड़ से उतरे।

सामने आए वीडियो में देखा जा सकता है कि प्रियेश जब पेड़ पर चढ़े तो पेड़ के नीचे बड़ी संख्या में लोग एकत्रित हो गए थे। इसके बाद खुद नायब तहसीलदार प्रियेश के पास पहुंचे और उनकी बात सुनी। उन्होंने बताया कि बहनों का जाति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन दिया था लेकिन अधिकारी उसे निरस्त कर दे रहे थे। कई दिनों से वह धरने पर बैठे थे लेकिन किसी ने उनकी बात नहीं सुनी।

इसके बाद प्रियेश ने पेड़ पर चढ़कर अपनी बात कहने का फैसला लिया। तहसील समाधान दिवस के मौके पर वह माइक लेकर पेड़ पर चढ़ गया और अपनी बात जोर-जोर से कहने लगा। यह देखकर अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए और उन्हें पेड़ से उतारने का प्रयास शुरू हुआ। साथ ही उन्हें काम को जल्द से जल्द करने का आश्वासन भी दिया गया।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो