scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

इस शख्स ने सालों से नहीं झपकईं पलकें, महिला के चक्कर में तबाह कर ली अपनी जिंदगी

काफी पहले दांत की समस्या के चलते पीट ब्रॉडहर्स्ट के गाल कुछ ज्यादा ही बड़े हो गए थे।
Written by: Avinash Tiwari | Edited By: Avinash Tiwari
Updated: December 06, 2023 16:28 IST
इस शख्स ने सालों से नहीं झपकईं पलकें  महिला के चक्कर में तबाह कर ली अपनी जिंदगी
प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स- Pexels)
Advertisement

खूबसूरत दिखने के लिए लोग ना जाने क्या क्या तरकीबें अपनाते हैं। कोई मेकअप करवाता है तो कोई प्लास्टिक सर्जरी का सहारा लेता है। हालांकि ऐसे कई उदाहरण हैं जो खूबसूरत दिखने के चक्कर में अपना चेहरा ही खराब करवा चुके हैं। ऐसा ही एक और मामला सामने आया है, खूबसूरत दिखने के लिए चक्कर में एक शख्स के ऐसा कुछ हुआ, जिससे वह अपनी पलकें ही नहीं झपका पाता।

बर्मिंघम के रिटायर चित्रकार और डेकोरेटर पीट ब्रॉडहर्स्ट ने खूबसूरत दिखने के लिए कॉस्मेटिक सर्जरी करवाने का फैसला किया लेकिन उनका यह फैसला बेहद गलत साबित हुआ। पीट ब्रॉडहर्स्ट ने बताया गया कि वह एक महिला के साथ रिश्ते में थे, जो उन्हें छोड़ रही थी। पीट ने जब महिला ने छोड़ने का कारण पूछा तो उसने कहा कि तुम अपना चेहरा देखो, यही कारण है कि मैं जा रही हूं।

Advertisement

दरअसल काफी पहले दांत की समस्या के चलते पीट ब्रॉडहर्स्ट के गाल कुछ ज्यादा ही बड़े हो गए थे। जिससे वह थोड़ा अलग दिखते थे। यही वजह थी कि उनके कई रिश्ते टूट गये थे। इसके बाद पीट ब्रॉडहर्स्ट ने सर्जरी करवाने का फैसला किया। पीट ब्रॉडहर्स्ट ने कहा कि जो कुछ हुआ उसने मेरे जीवन को पूरी तरह से नष्ट कर दिया। अपना जीवन शुरू करने के बजाय, मैं अपना चेहरा सही करने की कोशिश करने के लिए जुनूनी था।

पीट ब्रॉडहर्स्ट ने बर्मिंघम के बीएमआई द प्रीरी अस्पताल में ब्लेफेरोप्लास्टी और राइनोप्लास्टी कराने के लिए संपर्क किया जो उन्हें £11,000 का प्रस्ताव दिया, जिससे उनके गालों को छोटा करने में मदद मिलेगी। 24 जनवरी, 2019 को उन्हें नौ घंटे की प्रक्रिया से गुजरना पड़ा और अगले दिन छुट्टी दे दी गई। उन्होंने बताया कि मैं अपनी आंख बंद करने में असमर्थ था। सर्जरी के अगले दिन ही मेरे दिमाग में यह विचार आने लगा कि कि काश मैंने यह सब ना करवाया होता।

Advertisement

पीट ब्रॉडहर्स्ट ने बताया कि जब वह पलक झपकाते थे या सोते थे तो उनकी आंखें पूरी तरह से बंद नहीं होती थीं, जिससे उन्हें जलन होती थी। इसके लिए वह कई डॉक्टरों से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन इसका इलाज नहीं हो पाया। 13 मई, 2019 को उनकी एक घंटे तक सर्जरी हुई, लेकिन समस्या फिर भी दूर नहीं हुई। करीब चार से वह अपनी पलकें बंद कर पाने में असमर्थ हैं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो