scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Diesel Paratha: डीजल पराठा वायरल होने की सच्चाई भी जान लीजिए, 'कौवा कान ले गया' कहावत भी शर्मा जाएगी

Diesel Paratha Viral Story: डीजल पराठा वायरल होने की कहानी कुछ और ही निकली।
Written by: Jyoti Gupta
नई दिल्ली | Updated: May 15, 2024 16:05 IST
diesel paratha  डीजल पराठा वायरल होने की सच्चाई भी जान लीजिए   कौवा कान ले गया  कहावत भी शर्मा जाएगी
Diesel Paratha Chandigarh Dhaba: डीजल वाले पराठे की क्या है असल कहानी।
Advertisement

Diesel Paratha Chandigarh Dhaba: एक कहावत है 'भेड़ चाल' तो दूसरी है 'कौवा कान ले गया'… अब इस डीजल वाले पराठे की कहानी पर कौन सी कहावत सटीक बैठती है वह आप अपने हिसाब से तय कर सकते हैं। सोशल मीडिया पर 'डीजल पराठा' इतनी तेजी के साथ वायरल हुआ कि उसकी आग हमारे आपके मोबाइल के स्क्रीन तक खबर के रूप में पहुंच गई। खबर ये फैली कि चंडीगढ़ में एक ढाबे पर डीजल से बना हुआ पराठा खिलाया जाता है। खबर तो हैरान करने वाली थी ही ऊपर से इसका वीडियो भी लोगों के सामने था जो सोशल मीडिया पर तैर रहा था।

लोगों ने दिल खोलकर डीजल के तेल से पराठा बनाने वाले शख्स को कोसा। उसे ताने दिए और जेल भेजने के दावे भी किए। लोगों को इस बात की हैरानी हो रही थी कि आखिर कोई ढाबे वाला धरती पर रहने वाले मासूम लोगों के साथ इस तरह का जुर्म कैसे कर सकता है। वीडियो वायरल होने के बाद जो गालियां पड़ीं उसकी भनक ढाबे के मालिक को भी लगी। ढाबे के मालिक को काफी आलोचना का सामना करना पड़ा।

Advertisement

सामने आई 'डीजल वाले पराठे' की सच्चाई

दरअसल, डीजल वाले पराठे के इस वीडियो को एक फ़ूड ब्लॉगर अमनप्रीत सिंह ने शेयर किया था। इसके बाद सामने आई डीजल वाले पराठे की सच्चाई। चंडीगढ़ के ढाबे के मालिक ने इस दावे का खंडन किया और कहा कि यह झूठ है। उसके यहां डीजल के पराठे नहीं बनाए जाते हैं। यह पूरी तरह से झूठ है। यह वीडियो सिर्फ मनोरंजन के लिए बनाया गया था। उसके यहां खाने वाले तेल में ही पराठे बनाए जाते हैं और साफ-सफाई का खास ध्यान रखा जाता है। इस वीडियो को ब्लॉगर ने मनोरंजन की नजर से शूट किया था। जिसमें पराठा बनाने वाला मजाक में डीजल पराठा बोल रहा है और इस पर गर्म तेल डालकर जला दे रहा है।

फ़ूड ब्लॉगर ने इंस्टाग्राम से हटाया वीडियो

आपको बता दें कि फ़ूड ब्लॉगर ने इस वीडियो को अपने इंस्टाग्राम से हटा दिया है और अपनी गलती के लिए माफी भी मांगी है। फ़ूड ब्लॉगर ने कहा है कि मेरी वजह से लोगों को जो परेशानी हुई इसके लिए माफी। दरअसल, तथाकथित 'डीज़ल पराठा' बनाते हुए दिखाए गए वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद चंडीगढ़ में सड़क किनारे बना ढाबा अलोचनाओं की जद में आ गया है।

असल में यह सब फूड ब्लॉगर अमनप्रीत सिंह द्वारा शूट किए गए एक वीडियो से शुरू हुआ। वीडियो में जिसमें अमनप्रीत ने दावा किया कि यह ढाबा डीजल में पकाए गए परांठे परोसता है, जिससे लोगों की सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है। वीडियो में खुद को ढाबा मालिक बबलू बताने वाला शख्स कहता है कि वह 'डीजल पराठा' बना रहा है। वह एक कैन से तेल को गर्म तवे पर रखे परांठे पर डाल देते है। जिससे वीडियो में धुआं निकलता दिख रहा है और पराठा जल जाता है। देखते ही देखते यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

Advertisement

लोगों ने की थी सजा देने की मांग

कई लोगों ने अधिकारियों से ढाबे की जांच करने और मालिक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की भी मांग की। कुछ लोगों ने वीडियो पर भी सवाल उठाए। वीडियो वायरल होने के कुछ देर बाद अमनप्रीत सिंह ने इसे डिलीट कर दिया और माफीनामा जारी किया। अपने इंस्टाग्राम पर पोस्ट कर अमनप्रीत ने कहा, "सम्मानित चंडीगढ़ प्रशासन, चंडीगढ़ और पूरे भारत को लोगों से मैं विनम्रतापूर्वक माफी मांगता हूं। मुझे अपने हालिया शेयर किए गए वीडियो को लेकर गहरा खेद है और इसके कारण होने वाली परेशानी को स्वीकार करता हूं। मुझे किसी के लिए भी गहरा खेद है।" मुझसे अपराध हो गया। आपकी समझ और क्षमा मेरे लिए बहुत मायने रखेगी।''

Advertisement

ढाबा मालिक चन्नी सिंह ने कहा, यह वायरल वीडियो मनोरंजन के लिए शूट किया गया था। उन्होंने आगे कहा कि ढाबा खाना बनाने के लिए केवल खाने वाले तेल का उपयोग करता है। चन्नी सिंह ने आगे कहा, "हम 'डीज़ल पराठा' नाम की कोई भी चीज़ ना बनाते हैं ना परोसते हैं।" "ब्लॉगर ने वह वीडियो मनोरंजन के लिए बनाया था। जाहिर सी बात है कोई भी डीजल में पका हुआ पराठा नहीं खाएगा, न ही यह वीडियो में दिखने वाले तरीके से तैयार किया जाता है। वायरल होने के बाद ब्लॉगर ने वीडियो हटा दिया और माफी मांगी। हम केवल खाद्य तेल का उपयोग करते हैं और स्वच्छ भोजन बनाते हैं। हम लंगर के लिए भी भोजन बनाते हैं।" खैर, अब डीजल वाले पराठे पर आपकी क्या राय है। हां ये जरूर हो सकता है कि तेल पुराना हो मगर डीजल तो नहीं है। वरना आग ही लग जाती।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 चुनाव tlbr_img2 Shorts tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो