scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Telangana MLAs Poaching Case: विधायकों की खरीद फरोख्त के मामले की जांच सीबीआई के हवाले, हाईकोर्ट के फैसले का बीजेपी ने किया स्वागत

Telangana News, BRS MLAs Poaching Case: टीआरएस के विधायक पायलट रोहित रेड्डी समेत चार विधायकों ने 26 अक्टूबर को तीन लोगों रामचंद्र भारती, नंद कुमार और सिम्हाजी स्वामी के खिलाफ निष्ठा बदलने के बदले 100 करोड़ रुपये का लालच देने की शिकायत दर्ज कराई थी।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
Updated: December 26, 2022 23:13 IST
telangana mlas poaching case  विधायकों की खरीद फरोख्त के मामले की जांच सीबीआई के हवाले  हाईकोर्ट के फैसले का बीजेपी ने किया स्वागत
Advertisement

High Court Directed CBI To Probe Case: तेलंगाना में विधायकों की खरीद-फरोख्त किए जाने के आरोपों और सियासी अस्थिरता की गतिविधियों की पड़ताल केंद्रीय जांच ब्यूरो करेगा। भारत राष्ट्र समिति (BRS) जिसे पहले तेलंगाना राष्ट्र समिति (Telangana Rashtra Samithi) कहा जाता था, के विधायक पायलट रोहित रेड्डी (Pilot Rohith Reddy) समेत चार विधायकों ने 26 अक्टूबर को तीन लोगों रामचंद्र भारती उर्फ सतीश शर्मा (Ramachandra Bharati alias Satish Sharma), नंदू कुमार (Nandu Kumar) और सिम्हायाजी स्वामी (Simhayaji Swamy) के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। बाद में तीनों नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया था। उन्हें तब गिरफ्तार किया गया था जब वे कथित रूप से सत्तारूढ़ बीआरएस के चार विधायकों को भाजपा में शामिल होने के लिए लुभाने की कोशिश कर रहे थे। हाल ही में उन्हें हाईकोर्ट से जमानत मिली थी।

100 करोड़ रुपये में विधायक को खरीदने का आरोप

रेड्डी ने आरोप लगाया था कि आरोपितों ने उन्हें 'निष्‍ठा' बदलने के लिए सौ करोड़ रुपये की पेशकश की थी और बदले में विधायक को टीआरएस छोड़ना पड़ा और अगले विधानसभा चुनाव में भाजपा के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ना पड़ा। उन्होंने कथित तौर पर रेड्डी से और बीआरएस विधायक लाने को कहा था। आरोप है कि उन्होंने भाजपा में शामिल होने के लिए प्रत्येक को 50 करोड़ रुपये देने की भी बात कही थी। हाईकोर्ट ने सीबीआई को इसकी जांच शुरू करने का निर्देश दिया है। सीबीआई से जांच के निर्देश का भारतीय जनता पार्टी ने स्वागत किया है।

Advertisement

BRS विधायक का दावा- भाजपा जांच एजेंसियों की मदद से परेशान कर रही है

इससे पहले भारत राष्ट्र समिति के विधायक पायलट रोहित रेड्डी ने रविवार को दावा किया था कि तेलंगाना में विधायक खरीद-फरोख्त मामले में पार्टी का पर्दाफाश करने के लिए भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार जांच एजेंसियों की मदद से उन्हें परेशान कर रही है। हैदराबाद के तेलंगाना भवन में मीडिया से बात करते हुए रेड्डी ने कहा कि वह इसके खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे।

उन्होंने आरोप लगाया, "आप जानते हैं कि 2 महीने पहले क्या हुआ था। स्वामीजी के रूप में कुछ भाजपा नेता आए और तेलंगाना के विधायकों को खरीदने और तेलंगाना में बीआरएस सरकार को गिराने की कोशिश की। एक जिम्मेदार तेलंगाना नागरिक होने के नाते मैंने उनके नाटक का पर्दाफाश कर दिया हूं। अब भाजपा मुझे निशाना बना रही हैं और मेरे खिलाफ ईडी, आईटी और सीबीआई का इस्तेमाल कर रही है।"

Advertisement

कोर्ट ने भाजपा की याचिका खारिज कर दी

इस मामले में तीन अभियुक्तों और भाजपा द्वारा एसआईटी से किसी स्वतंत्र एजेंसी या सीबीआई को मामले को स्थानांतरित करने की मांग करने वाली रिट याचिकाओं पर सुनवाई के बाद, उच्च न्यायालय ने तकनीकी आधार पर भाजपा की याचिका खारिज कर दी। हालांकि, हाईकोर्ट ने अभियुक्तों की याचिकाओं को स्वीकार कर लिया और जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो को सौंप दी। याचिकाकर्ताओं ने एक स्वतंत्र एजेंसी से मामले की जांच की मांग करते हुए कहा कि निष्पक्ष जांच संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत प्रदत्त मौलिक अधिकारों का हिस्सा है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो