scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

दिल्ली में भूख हड़ताल पर बैठीं तेलंगाना सीएम केसीआर की बेटी, जानिए क्या है पूरा मामला

के कविता ने कहा कि भाजपा ने 2014 और 2019 के आम चुनावों में कानून को लागू करने का वादा किया था।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Nitesh Dubey
Updated: March 10, 2023 14:50 IST
दिल्ली में भूख हड़ताल पर बैठीं तेलंगाना सीएम केसीआर की बेटी  जानिए क्या है पूरा मामला
के कविता भूख हड़ताल पर (फ़ोटो सोर्स: @RaoKavitha)
Advertisement

भारत राष्ट्र समिति (BRS) की वरिष्ठ नेता के कविता आज नई दिल्ली में भूख हड़ताल कर रही हैं। संसद में महिला आरक्षण विधेयक (Women Reservation Bill in Parliament) पेश करने की मांग को लेकर के कविता भूख हड़ताल पर हैं। दिल्ली में जंतर-मंतर पर के कविता के दिन भर के विरोध में करीब 12 दलों के नेता भाग ले रहे हैं। CPIM नेता सीताराम येचुरी (CPIM leader Sitaram Yechury) ने कहा कि राजनीति में महिलाओं को समान अवसर देने के लिए इस विधेयक को लाना महत्वपूर्ण है।

के कविता तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (Telangana Chief Minister K Chandrashekar Rao) की बेटी भी हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा ने 2014 और 2019 के आम चुनावों में कानून को लागू करने का वादा किया था, लेकिन सत्ता में स्पष्ट बहुमत के साथ आने के बावजूद इसपर एक शब्द नहीं बोला।

Advertisement

के कविता ने कहा, "महिला आरक्षण बिल महत्वपूर्ण है और हमें इसे जल्द लाने की जरूरत है। मैं सभी महिलाओं से वादा करती हूं कि बिल पेश किए जाने तक यह विरोध नहीं रुकेगा।" बता दें कि यह विधेयक लोकसभा और विधानसभाओं में 1/3 सीटों को आरक्षित करने के लिए एक संवैधानिक संशोधन का प्रस्ताव करता है।

कविता ने कहा, "हमने महिला आरक्षण विधेयक को लेकर दिल्ली में भूख हड़ताल के बारे में 2 मार्च को एक पोस्टर जारी किया। ईडी ने मुझे 9 मार्च को बुलाया। मैंने 16 मार्च के लिए अनुरोध किया, लेकिन पता नहीं वे किस जल्दबाजी में हैं। इसलिए मैं 11 मार्च के लिए तैयार हो गई। ईडी मुझसे पूछताछ करने की जल्दी में क्यों थी और मेरे विरोध से एक दिन पहले चुना? यह एक दिन बाद भी हो सकता था।"

Advertisement

ईडी ने मामले में आरोप लगाया गया है कि के कविता उस 'साउथ कार्टेल' का हिस्सा हैं, जिन्हें दिल्ली की अब रद्द की जा चुकी शराब नीति के लागू होने के बाद रिश्वत से फायदा हुआ था। बीआरएस नेता कविता ने आरोपों से इनकार किया और केंद्र पर राजनीतिक लक्ष्यों के लिए जांच एजेंसियों का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा, "पिछले जून से भारत सरकार लगातार अपनी एजेंसियों को तेलंगाना भेज रही है। क्यों? क्योंकि तेलंगाना चुनाव नवंबर या दिसंबर में होने वाले हैं।"

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो