scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Jio, Airtel, Vi Mobile Tariff Price hike: मोबाइल टैरिफ महंगे होने पर कांग्रेस ने साधा मोदी सरकार पर निशाना, पूछा- क्या यह ‘मित्रवादी पूंजीवाद’ का ‘प्रसाद?

Reliance Jio Airtel Vi Tariff Price hike: जियो, एयरटेल और Vi के मोबाइल टैरिफ महंगे होने के बाद कांग्रेस ने पीएम मोदी पर निशाना साधा है।
Written by: टेक्नोलॉजी डेस्क | Edited By: Naina Gupta
July 05, 2024 17:15 IST
jio  airtel  vi mobile tariff price hike  मोबाइल टैरिफ महंगे होने पर कांग्रेस ने साधा मोदी सरकार पर निशाना  पूछा  क्या यह ‘मित्रवादी पूंजीवाद’ का ‘प्रसाद
Jio, Airtel, Vi Tariff Price Hike: जियो, एयरटेल और Vi के टैरिफ बढ़ने पर कांग्रेस ने साधा पीएम मोदी पर निशाना
Advertisement

Jio, Airtel, Vi Tariff Price hike: देश की तीन बड़ी प्राइवेट टेलिकॉम कंपनियों Jio, Airtel और Vi ने हाल ही में अपने टैरिफ महंगे कर दिए हैं। आज ( जुलाई 2024) को कांग्रेस ने टैरिफ महंगे होने के मुद्दे पर केंद्र सरकार पर निशाना साधा। कांग्रेस ने सवाल करते हुए कटाक्ष किया कि क्या यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के तीसरे कार्यकाल का जनता के लिए उसके ‘मित्रवादी पूंजीवाद’ का ‘प्रसाद’ है?

Advertisement

कांग्रेस पार्टी के महा सचिव रणदीप सुरजेवाला ने सवाल किया कि मोदी सरकार ने 109 करोड़ सेल फोन उपभोक्ताओं की जेब से 34,824 करोड़ रुपये की वसूली की अनुमति क्यों दी?

Advertisement

आपको बता दें कि 3 जुलाई से तीनों प्रमुख दूरसंचार कंपनियों रिलायंस जियो, एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने ढाई साल के बाद मूल्य वृद्धि की घोषणा की। सबसे पहले मुकेश अंबानी के मालिकाना हक वाली सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस जियो ने यह कदम उठाया।

एयरटेल के सबसे सस्ते रिचार्ज प्लान, 1 साल तक वैलिडिटी, अनलिमिटेड 5G डेटा और कॉलिंग जैसे फायदे, पूरी लिस्ट देखें

सुरजेवाला ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘‘हिंदुस्तान के सेल फोन मार्केट में सिर्फ तीन सेल फोन ऑपरेटर हैं। रिलांयस जियो के 48 करोड़, एयरटेल के 39 करोड़ और वोडाफोन आइडिया के 22 करोड़ 37 लाख ग्राहक हैं। ट्राई की एक रिपोर्ट के अनुसार सेल फोन कंपनियां अपने हर सेल फोन ग्राहक से 152.55 पैसे प्रति माह कमाती हैं।’’

Advertisement

उन्होंने कहा, ‘‘27 जून को रिलायंस जियो ने अपने रेट 12 प्रतिशत से 27 प्रतिशत बढ़ा दिए। 8 जून को एयरटेल ने अपने रेट 11 प्रतिशत से 21 प्रतिशत बढ़ा दिए। 29 जून को वोडाफोन आइडिया ने भी अपने रेट 10 प्रतिशत से 24 प्रतिशत बढ़ा दिए’’ ।

Advertisement

सुरजेवाला का कहना था कि साफ है कि तीनों कंपनियों ने सलाह कर सिर्फ 72 घंटे में सेल फोन की शुल्क दर बढ़ाने की घोषणा की। उन्होंने कहा, ‘‘अगर हम सेल फोन कंपनियों का औसत देखें तो पता चलेगा कि रिलायंस जियो के हर यूजर पर 30.51 रुपए की बढ़त हुई है। यानी सालाना 17,568 करोड़ रुपये अतिरिक्त वूसल किए जाएंगे। एयरटेल के ग्राहकों पर 22.88 रुपये की बढ़त हुई है। यह सालाना 10,704 करोड़ रुपये होगा। वोडाफोन के उपभोक्ता पर 24.40 रुपये की बढ़त हुई है यानी सालाना 6,552 करोड़ रुपये वूसले जाएंगे।’’

उन्होंने सवाल किया, ‘‘ क्या मोदी सरकार ने 109 करोड़ सेलफोन उपभोक्ताओं पर लगभग 35 हजार करोड़ रुपए का बोझ डालने से पहले कोई जांच की? क्या मोदी सरकार ने नीलामी के माध्यम से स्पेक्ट्रम की खरीद से होने वाले असर का कोई अध्ययन किया? सुरजेवाला ने कहा, ‘‘ऐसा कैसे हो सकता है कि सभी सेल फोन कंपनियां अपना टैरिफ 15-20 प्रतिशत बढ़ा दें, जबकि उनका इंवेस्टमेंट, कस्टमर बेस आदि सब अलग है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को देश को इस पर जवाब देना चाहिए।

एजेंसी इनपुट के साथ

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो