scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Facebook ने कर दिया खेला! Snapchat, YouTube और Amazon के डेटा के लिए लाखों यूजर्स की हुई जासूसी, जानें क्या था प्रोजेक्ट

Facebook Snoop in user's phone: Meta ने Snapchat, YouTube और Amazon के डेटा के लिए यूजर्स की जासूसी की।
Written by: टेक्नोलॉजी डेस्क | Edited By: Naina Gupta
Updated: March 27, 2024 12:20 IST
facebook ने कर दिया खेला  snapchat  youtube और amazon के डेटा के लिए लाखों यूजर्स की हुई जासूसी  जानें क्या था प्रोजेक्ट
फेसबुक द्वारा स्नैपचैट, यूट्यूब और ऐमजॉन यूजर्स की जासूसी का मामला सामने आया है।
Advertisement

Facebook एक बार फिर विवादों में घिरता नजर आ रहा है। कैलिफोर्निया की फेडरल कोर्ट ने नए डॉक्युमेंट्स रिलीज किए हैं जिनसे यह खुलासा हुआ है कि Meta के मालिकाना हक वाले सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक द्वारा Snapchat, YouTube और Amazon यूजर्स की जासूसी की जा रही थी। मार्क जुकरबर्ग के स्वामित्व वाली कंपनी कोडनेम ‘Project Ghostbusters’ वाले प्रोजेक्ट के जरिए स्नैपचैट यूजर्स के नेटवर्क ट्रैफिक को इंटरसेप्ट और डीक्रिप्ट कर रही थी।

कोर्ट द्वारा रिलीज किए गए दस्तावेज, कंज्यूमर्स और मेटा के बीच चल रही कानूनी लड़ाई का हिस्सा हैं। और इनसे पता चलता है कि कंपनी किस तरह प्रतिद्वन्दी ऐप्स को इस्तेमाल कर रहे यूजर्स के नेटवर्क ट्रैफिक को ऐनालाइज (विश्लेषण) कर रही थी। स्नैपचैट जैसी सर्विसेज द्वारा इस्तेमाल किए गए पुराने एनक्रिप्शन के एक्सेस के लिए फेसबुक ने एक स्पेशल टेक्नेलॉजी डिवेलप की जिससे यह पता लगाया जा सके कि यूजर्स दूसरे प्लेटफॉर्म्स पर क्या एक्टिविटीज कर रहे हैं।

Advertisement

रेलवे ने बदला दिल्ली से जाने वाली इस ट्रेन का टाइम, शेड्यूल, रूट, स्टॉपेज

जब Mark Zuckerberg ने किया था ईमेल

बता दें कि 9 जून 2016 को फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने एक इंटरनल ईमेल में कहा था, 'जब कभी कोई स्नैपचैट के बारे में सवाल पूछता है तो आमतौर पर जवाब होता है कि उनका ट्रैफिक इनक्रिप्टेड होने के चलते हमारे पास उनसे जुड़ा कोई ऐनालिटिक्स नहीं है। वो तेजी से बढ़ोत्तरी कर रहे हैं, इसलिए जरूरी है उनका सही ऐनालिटिक्स डेटा पाने के लिए हम नया तरीका खोजें। शायद हमें पैनल या फिर कस्टम सॉफ्टवेयर की जरूरत है। आपको यह पता लगाना है कि ऐसा कैसे किया जाए। '

Bank Holiday in April 2024: अगले महीने 30 में से 14 दिन नहीं खुलेंगे बैंक, जानें किस-किस दिन सरकारी छुट्टी, पूरी लिस्ट

Advertisement

ज़ुकरबर्ग द्वारा इस ईमेल को भेजने के बाद ही कंपनी के डिवेलपर्स ने Onavo (VPN जैसी सर्विस) के इस्तेमाल का सुझाव दिया जिसका अधिग्रहण फेसबुक ने 2013 में किया था। एक महीने बाद Onavo पर काम कर रही टीम ने नया सॉल्यूशन दिया जिसमें यह बताया गया था कि ऐंड्रॉयड और iOS डिवाइसेज पर 'किट्स' इंस्टॉल की जाएं।

Advertisement

एक दूसरे ईमेल में फेसबुक ने कहा था इस तकनीक के जरिए इन-ऐप यूजेज यानी ऐप में यूजर का इनक्रिप्टेड ट्रैफिक को भी पढ़ा जा सकता है। कोर्ट द्वारा रिलीज दस्तावेज से पता चलता है कि फेसबुक ने स्नैपचैट के बाद इस प्रोग्राम को YouTube और Amazon पर भी यूजर्स की जासूसी करने के लिए इस्तेमाल किया।

आपको बता दें कि Meta की Onavo यूनिट को लेकर विवाद नया नहीं है। इससे पहले भी टीम यूजर डेटा कलेक्ट करने को लेकर कई बार विवादों में आ चुकी है। इजरायली कंपनी से Onavo का अधिग्रहण करने के बाद मेटा ने इस सर्विस के इस्तेमाल उन लाखों यूजर्स के जरिए अपने प्रतिद्वन्दियों पर नजर रखने के लिए किया जो ऐप का इस्तेमाल कर रहे थे।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो