scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Ayodhya Ram Mandir pran pratishtha: व्हाट्सऐप पर राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा का VIP पास मिलने का दावा, खतरनाक है माजरा, पूरी डिटेल

Ayodhya Ram Mandir pran pratishtha invites on WhatsApp: अगर आपको भी 22 जनवरी 2024 को होने वाले राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा सामारोह के VIP पास के लिए व्हाट्सऐप पर इनवाइट मिला है तो अलर्ट हो जाएं। यह एक स्कैम हो सकता है।
Written by: टेक्नोलॉजी डेस्क | Edited By: Naina Gupta
Updated: January 15, 2024 14:10 IST
ayodhya ram mandir pran pratishtha  व्हाट्सऐप पर राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा का vip पास मिलने का दावा  खतरनाक है माजरा  पूरी डिटेल
Ram Mandir Ayodhya Invites: राम मंदिर अयोध्या के भेजे जा रहे फर्जी इनवाइट
Advertisement

Ayodhya Ram Temple’s pran pratishtha: अयोध्या राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह की तैयारियां जोरों पर हैं। और इस बीच स्कैमर्स भी एक्टिव हो गए हैं और वह इस मौके का लगत फायदा उठाकर, आम लोगों की मेहनत की कमाई लूटने की कोशिश में हैं। इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप WhatsApp पर राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह के फर्जी वीआईपी (Fake VIP Invites) इनवाइट का लालच देकर ये ऑनलाइन फ्रॉड नया तरीका खोज लाए हैं।

News18 की एक रिपोर्ट के मुताबिक, बहुत सारे व्हाट्सऐप यूजर्स को ‘Ram Janmabhoomi Grihsampark Abhiyan.APK’ नाम की एक APK (Android Application Package) फाइल मिलनी शुरू हो गई है। लोगों को उनके ऐंड्रॉयड फोन में इस फाइल को इंस्टॉल करके राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह का VIP एक्सेस मिलने की बात कही जा रही है। इसके अलावा मैसेज में लोगों से यह फाइल ज्यादा से ज्यादा फॉरवर्ड करने को भी कहा जा रहा है।

Advertisement

प्राइवेट फोटो से लेकर कॉन्टैक्ट चोरी तक का खतरा

बता दें कि फिलहाल रिपोर्ट में यह जिक्र नहीं किया गया है कि असल में यह APK फाइल करती क्या है। हालांकि, उम्मीद है कि इसमें स्पाईवेयर हो सकते हैं जो इंस्टॉल होने पर यूजर के स्मार्टफोन को हैक कर डेटा चुरा सकते हैं। रियल-टाइम लोकेशन एक्सेस करने से लेकर फाइनेंशियल फ्रॉड तक, यह सिंगल ऐप आपके स्मार्टफोन का कंट्रोल आपसे लेकर कॉन्टैक्ट, प्राइवेट फोटोज और वीडियो तक चुरा सकता है।

गौर करने वाली बात है कि ना तो राम मंदिर ट्र्स्ट (Ram Madir trust) और ना ही केंद्र व राज्य सरकार ने VIP इनवाइट के लिए किसी तरह का कोई ऐप लॉन्च किया है। बता दें कि व्हाट्सऐप पर फॉरवर्ड फाइल में मिल रहा ऐप फेक है और इससे डेटा चोरी के साथ -साथ पैसों का नुकसान हो सकता है।

Advertisement

ऐंड्रॉयड स्मार्टफोन के लिए इस तरह की APK फाइल्स एक बड़ी समस्या है। हालांकि, आईफोन यूजर्स को इससे फर्क नहीं पड़ेगा क्योंकि Apple iPhones में यूजर्स को साइडलोड ऐप्स डाउनलोड करने की इजाजत नहीं होती।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो