scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

iPhone Spyware: फिर खतरे में आईफोन यूजर्स! Apple का अलर्ट- Pegasus जैसा नया स्पाईवेयर कर सकता है अटैक, हैक हो जाएगा फोन!

Apple Spyware Warning in India: ऐप्पल ने भारत समेत 91 देशों के कुछ यूजर्स को नोटिफिकेशन भेजकर पेगासुस स्पाईवेयर के अटैक की चेतावनी जारी की है।
Written by: टेक्नोलॉजी डेस्क | Edited By: Naina Gupta
Updated: April 11, 2024 12:16 IST
iphone spyware  फिर खतरे में आईफोन यूजर्स  apple का अलर्ट  pegasus जैसा नया स्पाईवेयर कर सकता है अटैक  हैक हो जाएगा फोन
iPhone Spyware: ऐप्पल ने आईफोन यूजर्स के लिए जारी की चेतावनी
Advertisement

Apple Spyware Warning: ऐप्पल ने भारत में अपने कुछ यूजर्स को उनके आईफोन में खतरे से जुड़ी नई चेतावनी जारी की है। इसके अलावा यह नोटिफिकेशन 91 अन्य देशों के कुछ यूजर्स को भी भेजी गई है। क्यूपर्टिनो की कंपनी ने अपने यूजर्स को चेतावनी देते हुए कहा है कि उनके आईफोन को इजरायली NSO Group के विवादास्पद पेगासुस मैलवेयर (Pegasus Malware) जैसे 'mercenary spyware' द्वारा निशाना बनाया जा सकता है।

ऐप्पल ने हाल हाल ही में हुए लगातार अटैक के लिए किसी भी स्टेकहोल्डर को जिम्मेदार नहीं ठहराया है। बता दें कि अक्टूबर 2023 में ऐप्पल ने भारत में सभी पार्टियों के विपक्षी नेताओं को एक ऐसा ही नोटिफिकेशन भेजा था। इस नोटिफिकेशन को कांग्रेस के शशि थरूर से लेकर आम आदमी पार्टी के राघव चड्ढा और TMC की महुआ मोइत्रा तक को भेजा गया था। इस नोटिफिकेशन में उनके iPhone पर "संभावित राज्य-प्रायोजित स्पाइवेयर हमले" (potential state-sponsored spyware attack) की चेतावनी दी गई थी।

Advertisement

JioSaavn Subscription Plan: सिर्फ 29 रुपये में यूज करें नया जियोसावन सब्सक्रिप्शन प्लान, जानें क्या है सबसे सस्ता ऑफर

सरकार के दबाव के बाद ऐप्पल ने बाद में यह स्पष्ट किया था कि कि वह "खतरे की सूचनाओं के लिए किसी विशिष्ट राज्य-प्रायोजित हमलावर को जिम्मेदार नहीं ठहराती है।

बता दें कि भारत में ऐप्पल ने नई थ्रेट नोटिफिकेशन ईमेल 11 अप्रैल (गुरुवार) रात 12.30 AM पर भेजी है। यह ईमेल उन यूजर्स को भेजा गया है जिन पर पेगासुस जैसे स्पाईवेयर का खतरा है। फिलहाल यह पता नहीं चला है कि कितने लोगों को ऐप्पल की तरफ से खतरे की चेतावनी दी गई है। इस ईमेल में NSO-Group के पेगासुस स्पाईवेयर का जिक्र है और बताया गया है कि इस तरह के टूल को दुनियाभर में लोगों को टारगेट करने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है।

Advertisement

ऐप्पल का नया थ्रेट मेल

हमारे सहयोगी Indian Express ने ईमेल की एक कॉपी देखी, जिसका सब्जेक्ट है- “ALERT: Apple detected a targeted mercenary spyware attack against your iPhone,”

Advertisement

नोटिफिकेशन ईमेल में आगे कहा गया, 'ऐप्पल को पता चला है कि आप पर एक mercenary spyware द्वारा अटैक टारगेट किया जा रहा है जिससे आपकी Apple ID XXX- से जुड़ा iPhone हैक हो सकता है। यह अटैक खासतौर पर आपको निशाना बनाने के लिए हो रहा है और इसकी वजह आपका नाम और आपका काम दोनों हो सकता है। हालांकि, ऐसे हमलों का पता लगाते समय पूर्ण निश्चितता के साथ कुछ भी संभव नहीं है, Apple ने पूरे भरोसे का साथ यह चेतावनी दी है, कृपया इसे गंभीरता से लें ।'

ऐप्पल ने थ्रेट मेल में आगे बताया, 'Mercenary spyware अटैक, जैसे कि एनएसओ ग्रुप के पेगासस का इस्तेमाल करने वाले हमले, असाधारण तौर पर बहुत कम होते हैं और नियमित सायबर आपराधिक गतिविधि या उपभोक्ता मैलवेयर की तुलना में बहुत ज्यादा सोफिस्टिकेटेड (परिष्कृत) होते हैं। इस तरह के अटैक में लाखों डॉलर का खर्चा होता है और इन्हें बहुत कम लोगों के खिलाफ ही इस्तेमाल किया जाता है लेकिन यह टारगेट जारी है और दुनियाभर में यूजर्स निशाने पर हैं।'

दिग्गज टेक्नोलॉजी कंपनी ने यूजर्स को सावधान रहने की सलाह दी है। इसके साथ ही रिसीव होने वाले सभी लिंक को लेकर सजग रहने को कहा है। साथ ही अनजान लोगों से मिलने वाले किसी भी लिंक या अटैचमेंट को ना खोलने की भी सलाह दी है। हालांकि, ऐप्पल ने यह नहीं बताया है कि आखिर किस वजह से कंपनी को थ्रेट नोटिफिकेशन जारी करना पड़ा है।

बता दें कि ऐप्पल ने इस तरह के थ्रेट नोटिफिकेशन 2021 में भेजना शुरू किया था। और तब से लेकर अभी तक 150 देशों में इस तरह के ईमेल रिसीव हो चुके हैं। पिछले साल (2023) में कम से कम 20 भारतीय आईफोन यूजर्स को यह नोटिफिकेशन मिला था।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 चुनाव tlbr_img2 Shorts tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो