scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

रविवारी सेहत: दमा का पूरे दम से करें इलाज तो स्थिति पर नियंत्रण संभव

काम के दौरान सांस के जरिए शरीर में जाने वाले पदार्थों (एलर्जी या रसायनों) से भी दमा हो सकता है।
Written by: जनसत्ता | Edited By: Bishwa Nath Jha
नई दिल्ली | December 31, 2023 11:46 IST
रविवारी सेहत  दमा का पूरे दम से करें इलाज तो स्थिति पर नियंत्रण संभव
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर। फोटो- (इंडियन एक्‍सप्रेस)।
Advertisement

दमा एक सामान्य दीर्घकालिक स्थिति है जो खांसी, घरघराहट, सीने में जकड़न और सांस फूलने का कारण बन सकती है। इन लक्षणों की गंभीरता हर व्यक्ति में अलग-अलग होती है। अधिकांश लोगों में दमा को अधिकांश समय अच्छी तरह से नियंत्रित किया जा सकता है, हालांकि कुछ लोगों को ज्यादा समस्याएं हो सकती हैं।

कभी-कभी, दमा के लक्षण धीरे-धीरे या अचानक गंभीर हो सकते हैं। इसे दमा के हमले के रूप में जाना जाता है। गंभीर हमलों के लिए अस्पताल में इलाज की आवश्यकता हो सकती है क्योंकि यह हमला जीवन के लिए खतरा हो सकता है।

Advertisement

कारण क्या है?

दमा छोटी नलिकाओं, जिन्हें ब्रांकाई कहा जाता है, की सूजन के कारण होता है। ये फेफड़ों से हवा को अंदर और बाहर ले जाती हैं। यदि आपको दमा है, तो श्वसनी में सूजन होगी और सामान्य से अधिक संवेदनशील होगी। जब आप किसी ऐसी चीज के संपर्क में आते हैं जो आपके फेफड़ों को परेशान करती है तो आपकी श्वसन नलिका संकीर्ण हो जाती है। उसके आसपास की मांसपेशियां कड़ी हो जाती हैं, और चिपचिपा कफ बढ़ जाता है।

सामान्य दमा को बढ़ाने में ये कुछ कारण हो सकते हैं

  • घर की धूल के कण
  • जानवर का फर
  • पराग
  • सिगरेट का धुआं
  • व्यायाम
  • विषाणु संक्रमण

काम के दौरान सांस के जरिए शरीर में जाने वाले पदार्थों (एलर्जी या रसायनों) से भी दमा हो सकता है। यदि आपको लगता है कि काम के दौरान आपके लक्षण बदतर हैं और छुट्टी पर बेहतर हो जाते हैं, तो अपने चिकित्सक से बात करें। कुछ लोगों में अस्थमा विकसित होने का कारण पूरी तरह से समझा नहीं जा सका है, हालांकि यह ज्ञात है कि यदि आपके परिवार में इस स्थिति का इतिहास है तो आपको इसके विकसित होने की अधिक संभावना है। दमा किसी भी उम्र में विकसित हो सकता है, जिसमें छोटे बच्चे और बुजुर्ग लोग भी शामिल हैं।

Advertisement

इलाज कैसे होता है

हालांकि अस्थमा का कोई इलाज नहीं है, लेकिन ऐसे कई उपचार हैं जो स्थिति को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं। उपचार दो महत्त्वपूर्ण लक्ष्यों पर आधारित है, जो हैं:- लक्षणों से राहत और भविष्य के लक्षणों और हमलों को रोकना अधिकांश लोगों के लिए, इसमें कभी-कभी या आमतौर पर दैनिक दवाओं का उपयोग शामिल होता है। इसमें इन्हेलर का उपयोग किया जाता है। हालांकि, संभावित कारण की पहचान करना और उनसे बचना भी अहम है।

आपके पास अपने चिकित्सक से सहमत एक व्यक्तिगत दमा कार्य योजना होनी चाहिए जिसमें आपके द्वारा ली जाने वाली दवाओं के बारे में जानकारी शामिल हो। इससे बदतर हो रहे लक्षणों को पहचानने और इसके लिए कदम उठाने में मदद मिलती है। कई लोगों के लिए दमा एक दीर्घकालिक स्थिति है- खासकर यदि यह पहली बार वयस्कता में विकसित होता है तो। दमा के लक्षण आमतौर पर नियंत्रण करने लायक होते हैं और उपचार से ठीक किया जा सकता है।

दमा से पीड़ित बच्चों के लिए, किशोरावस्था के दौरान स्थिति में सुधार हो सकता है। हालांकि यह बाद में लौट सकता है। मध्यम या गंभीर बचपन का दमा बने रहने या बाद में लौटने की संभावना अधिक होती है।

(यह लेख सिर्फ सामान्य जानकारी और जागरूकता के लिए है। उपचार या स्वास्थ्य संबंधी सलाह के लिए विशेषज्ञ की मदद लें।)

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो