scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

रविवारी दाना-पानी: दिवाली के अवसर पर घर में बनाएं स्वादिष्ट मिठाई

दिवाली पर लगभग हर घर में मिठाई आती है और मेहमानों का उसी से मुंह मीठा कराया जाता है। यह मिठाई यदि बाजार से लाने के बजाय घर में तैयार की जाए तो स्वाद दोगुना होगा ही, मिलावटी खाने से भी बचाव हो जाएगा।
Written by: जनसत्ता | Edited By: Bishwa Nath Jha
Updated: November 12, 2023 11:43 IST
रविवारी दाना पानी  दिवाली के अवसर पर घर में बनाएं स्वादिष्ट मिठाई
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर। फोटो- (इंडियन एक्‍सप्रेस)।
Advertisement

सबकी पसंद गुजिया

गुजिया दिवाली के मौके पर सबसे अधिक खाई जाने वाली मिठाई होती है। गुजिया खास तौर पर मैदा या गेहूं के आटे से बनाई जाती है। यह एक तरह की भरावन वाली मिठाई होती है, जिसमें मैदे के अंदर बहुत से स्वादिष्ट मेवे, खोया और इसी तरह की अन्य सामग्री भरी जाती है। उत्तर भारत की यह सबसे प्रसिद्ध मिठाइयों में शामिल है। खास यह कि बाजार के मुकाबले घर पर बनाई गई गुजिया अधिक स्वादिष्ट और रसीली होती है। दिवाली में आप भी अपने घर पर ही गुजिया बनाएं, ताकि आने वाला हर मेहमान अलग तरह का स्वाद साथ लेकर जाए। घर पर गुजिया बनाने का सबसे बड़ा लाभ यह होता है कि उसमें अपनी मनपसंद सामग्री डाल सकते हैं। मावे के साथ-साथ यदि उसमें सूखे मेवे भी भरे जाएं तो क्या कहने।

सामग्री

गुजिया के लिए सूजी, मैदा या आटा, मक्खन, दूध, फल, सूखे मेवे, मावा और घी चाहिए।

Advertisement

बनाने की विधि

सबसे पहले एक बर्तन में घी डालकर चूल्हे पर चढ़ा दें। जब घी अच्छी तरह गर्म हो जाए, तो इसमें सूजी डालकर भून लें। भुनी हुई सूजी में सूखा घिसा हुआ नारियल, चिरौंजी, बारीक कटे हुए बादाम और पिस्ता, इलायची पाउडर, केसर आदि डालें। इस सारी सामग्री को चम्मच से अच्छी तरह चलाकर मिश्रण तैयार कर लें। इसके बाद एक बड़े कटोरे में मैदा या आटा डालें और उसके ऊपर थोड़ा घी डालें।

मैदे को चलाते हुए घी को इस तरह डालते जाना है कि ये दोनों अच्छी तरह मिश्रित हो जाएं। इस मिश्रण में हल्का गर्म पानी डाल दें और मैदा या आटे को कड़ा ही गूंथे, ताकि जब इसके अंदर भरावन भरा जाए तो वह बाहर न निकले। गूंथे हुए आटे को दस से पंद्रह मिनट तक अलग रख दें। इसके बाद बर्तन में शक्कर का पिसा हुआ पाउडर डालें और इसमें पहले से तैयार कर रखे गए सूखे मेवे का मिश्रण डाल दें।

Advertisement

चम्मच से चलाते हुए इसे भी अच्छी तरह मिला लें। अब जो आटा गूंथ कर रखा गया है, उसकी छोटी-छोटी लोई बनाएं और इन्हें पूरी के रूप में बेल लें। इसके बाद एक-एक कर पूरी को गुजिया स्टैंड के अंदर रखें और भरावन डालकर बंद करें। इस तरह तैयार गुजियों को घी में हल्का भूरा होने तक तल लें। आप इन्हें तुरंत भी परोस सकते हैं और एक-दो हफ्ते रखकर भी खा सकते हैं।

Advertisement

मेवे वाले गुलाब जामुन

स बार गुलाब जामुन से अपने मेहमानों का मुंह मीठा जरूर कराएं। यह ऐसी मिठाई है, जो देश के हर कोने में उपलब्ध होती है। यूं तो यह साधारण दूध, खोया, पनीर, चीनी आदि को मिलाकर बनाया जाता है, लेकिन यदि इनमें सूखे मेवे का मिश्रण कर लिया जाए तो इसका स्वाद और पौष्टिकता बढ़ जाती है।

कैसे बनाएं

गुलाब जामुन बनाने के लिए मैदा, खाद्य तेल, जैम, जरूरत मुताबिक मसाले, सूखे मेवे, खोया, दूध, पनीर आदि लें। सबसे पहले खोये और मैदा को तब तक मथें जब तक यह नरम न हो जाए। इसमें चुटकी भर इलायची का पाउडर और खाने का सोडा मिला लें। इसके बाद सूखे मेवे, खोवा, केसर और दूध को अच्छी तरह मिलाकर भरावन तैयार कर लें।

एक बर्तन में चीनी और पानी डालकर मिलाएं। इसमें इलायची का पाउडर, केसर की पंखुड़ियां डालें और गाढ़ा होने तक पकने दें। अब गूंथे हुए खोया-मैदा से गोलाकार लोई बनाएं और उनमें सूखे मेवे आदि का भरावन भरकर गुलाब जामुन तैयार कर लें। एक बर्तन में तेल गर्म करें और उसमें ये गुलाब जामुन डालें। हल्का सुनहरा होने पर निकाल कर थोड़ा ठंडा करें और चीनी से तैयार चाशनी में डुबो दें। अब गुलाब जामुन खाने के लिए तैयार है। ल्ल

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो