scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

इस साल कब है छठ पूजा? जानें नहाय-खाय, खरना, संध्या अर्घ्य और उषा अर्घ्य देने का समय, देखें पूरा कैलेंडर

Chhath Puja 2024: छठ पूजा का पर्व पूरे चार दिनों तक चलता है। इस दौरान महिलाएं सूर्य देव के साथ षष्ठी पूजा करती हैं। देखें छठ पर्व का पूरा कैलेंडर
Written by: Shivani Singh
नई दिल्ली | Updated: July 05, 2024 13:49 IST
इस साल कब है छठ पूजा  जानें नहाय खाय  खरना  संध्या अर्घ्य और उषा अर्घ्य देने का समय  देखें पूरा कैलेंडर
Chhath Puja 2024 Date: जानें छठ पूजा के बारे में हर एक जानकारी
Advertisement

Chhath Puja 2024: हिंदू धर्म में छठ का पर्व बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है। वैदिक पंचांग के अनुसार, हर साल कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि से छठ पूजा आरंभ होती है, जो पूरे 4 दिनों तक रही है। इस दिन महिलाएं अपनी संतान की लंबी आयु और अच्छे स्वास्थ्य के लिए करीब 36 घंटे तक निर्जला व्रत रखती है। इसे सबसे कठिन व्रतों में से एक माना जाता है। बता दें कि इस पर्व का आरंभ नहाय-खाय के साथ होता है और व्रत का पारण चौथे दिन उगते हुए सूर्य को अर्घ्य देने के साथ समाप्त होता है। इस पर्व को बिहार, झारखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल आदि जगहों पर मनाया जाता है। आइए जानते हैं इस साल कब से शुरू हो रहा है छठ पर्व। इसके साथ ही जानें मुहूर्त के साथ अन्य जानकारी…

Advertisement

कब है छठ 2024? ( Chhath Puja 2024 Date)

हिंदू पंचांग के अनुसार, कार्तिक शुक्ल षष्ठी तिथि के साथ छठ पूजा आरंभ होती है। षष्ठी तिथि 7 नवंबर को सुबह 12 बजकर 41 मिनट से आरंभ हो रही है, 8 नवंबर को सुबह 12 बजकर 35 मिनट समाप्त हो रही है। उदया तिथि के आधार पर छठ पूजा 7 नवंबर को है। इस दिन शाम के समय सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा।

Advertisement

छठ पूजा 2024 कैलेंडर ( Chhath Puja 2024 Calendar)

छठ पूजा का पहला दिन: नहाय खाय- 0 5 नवंबर 2024, मंगलवार
छठ पूजा का दूसरा दिन: खरना- 6 नवंबर 2024, बुधवार
छठ पूजा का तीसरा दिन: संध्या अर्घ्य- 7 नवंबर , गुरुवार
छठ पूजा का चौथा दिन: उषा अर्घ्य- 8 नवंबर, शुक्रवार

नहाय खाय 2024 ( Chhath Puja 2024 Nahaye Khaye)

छठ पूजा के पहले दिन को नहाय-खाय कहा जाता है। इस दिन सूर्योदय सुबह 6 बजकर 39 मिनट पर है। इसके साथ ही सूर्यास्त शाम 5 बजकर 41 मिनट पर है। इस दिन व्रती स्नान करती हैं और एक समय भोजन करती है।

Advertisement

खरना 2024 ( Chhath Puja 2024 Kharna)

छठ पूजा के दूसरे दिन को खरना कहा जाता है। इस दिन छठी माता के लिए भोग बनाया जाता है। शाम के समय मीठा भात और लौकी की खिचड़ी खाई जाती है।

Advertisement

छठ पूजा अर्घ्य ( Chhath Puja 2024 Ardhaya Timing)

छठ पूजा के तीसरे दिन शाम के समय सूर्यदेव को अर्घ्य दिया जाता है। इसके साथ ही बांस के सूप में फल, गन्ना, चावल के लड्डू, ठेकुआ सहित अन्य सामग्री रखकर नदी, सरोवर के अंदर खड़े होकर पूजा की जाती है। इस दिन सूर्यास्त  शाम 5 बजकर 29 मिनट पर है।

उषा अर्घ्य 2024 Chhath Sun Rise 2024)

छठ पूजा के चौथे दिन उगते हुए सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है। इस दिन सूर्योदय सुबह 6 बजकर 37 मिनट पर है।  इस दिन व्रती अपने व्रत का पारण कर देती हैं।

डिसक्लेमर- इस लेख में दी गई किसी भी जानकारी की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों जैसे ज्योतिषियों, पंचांग, मान्यताओं या फिर धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है। इसके सही और सिद्ध होने की प्रामाणिकता नहीं दे सकते हैं। इसके किसी भी तरह के उपयोग करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह जरूर लें।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो