scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

योगी सरकार बदलेगी गाजियाबाद का नाम? नगर निगम में पास हुआ प्रस्ताव, तीन फाइनल नामों पर सीएम योगी करेंगे फैसला

Ghaziabad: नगर निगम (GNN ) ने मंगलवार को गाजियाबाद का नाम बदलने का एक प्रस्ताव पारित किया। अंतिम निर्णय लेने के लिये इसे अब सीएम योगी आदित्यनाथ के पास भेजा जाएगा।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Jyoti Gupta
गाजियाबाद | January 09, 2024 21:27 IST
योगी सरकार बदलेगी गाजियाबाद का नाम  नगर निगम में पास हुआ प्रस्ताव  तीन फाइनल नामों पर सीएम योगी करेंगे फैसला
सीएम योगी। (एक्सप्रेस फाइल)
Advertisement

गाजियाबाद का नाम बदलने वाला है। जी हां नगर निगम (GNN ) ने मंगलवार को गाजियाबाद का नाम बदलने का एक प्रस्ताव पारित किया। अंतिम निर्णय लेने के लिए इसे अब सीएम योगी आदित्यनाथ के पास भेजा जाएगा। गाजियाबाद की महापौर सुनीता दयाल ने मंगलवार को बताया, "गाजियाबाद का नाम बदलने का प्रस्ताव पार्षदों द्वारा पूर्ण बहुमत से पारित किया गया और अब इसे सीएम योगी आदित्यनाथ के पास भेजा जाएगा। नया नाम उनके निर्णय के अनुसार रखा जाएगा।"

उन्होंने आगे कहा कि जनता और हिंदू संगठनों की मांग को ध्यान में रखते हुए तीन नाम हरनंदी नगर, गजप्रस्थ और दूधेश्वरनाथ नगर सुझाए गए हैं। साहिबाबाद विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक सुनील शर्मा ने कहा कि पिछले साल उन्होंने राज्य विधानसभा में इस संबंध में एक प्रस्ताव पेश किया था, जिसमें गाजियाबाद का नाम बदलकर गजप्रस्थ करने का सुझाव दिया गया था।

Advertisement

सीएम को सुझाए गए तीन नाम

प्राचीन मंदिर दूधेश्वर नाथ के प्रधान पुजारी महंत नारायण गिरि ने मीडिया को बताया कि पिछले साल उन्होंने मुख्यमंत्री से बात की थी और गाजियाबाद के लिए तीन नाम गजप्रस्थ, दूधेश्वरनाथ नगर या हरनंदीनगर सुझाए थे। उन्होंने कहा कि ये नाम महाभारत के इतिहास से संबंधित हैं क्योंकि यह क्षेत्र हस्तिनापुर का हिस्सा था। उन्होंने कहा कि यह एक घना जंगल था जहां हाथी रहा करते थे और चूंकि हाथी को हिंदी में 'गज' कहा जाता है इसलिए गाजियाबाद को पहले गजप्रस्थ के नाम से जाना जाता था।

गिरि ने दावा किया कि मुगल बादशाह अकबर के करीबी सहयोगी गाजीउद्दीन ने इस नगर का नाम बदलकर गाजियाबाद कर दिया था। उन्होंने कहा, ''हिंदू पवित्र ग्रंथों के अनुसार गाजियाबाद को हरनंदी के नाम से जाना जाता था जो भगवान ब्रह्मा की बेटी और गंगाजी की छोटी बहन थीं। गाजियाबाद में स्थित भगवान शिव का एक प्राचीन मंदिर दूधेश्वरनाथ लगभग 5000 साल पुराना है इसलिए गाजियाबाद का नाम बदलकर दूधेश्वरनाथ नगर का सुझाव दिया गया था।"

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो