scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Vadodara Boat Capsizes: मंदिर जा-जाकर दंपत्ति ने मांगी थी मन्नत, शादी के 17 साल बाद बने थे माता-पिता, नाव हादसे में डूब गए दोनों बच्चे

Vadodara Boat Capsizes: हरनी झील में नाव पलटने के कारण दंपत्ति ने अपने दोनों बच्चों को खो दिया। दोनों शादी के 17 साल बाद माता-पिता बने थे।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Jyoti Gupta
अहमदाबाद | Updated: January 19, 2024 14:37 IST
vadodara boat capsizes  मंदिर जा जाकर दंपत्ति ने मांगी थी मन्नत  शादी के 17 साल बाद बने थे माता पिता  नाव हादसे में डूब गए दोनों बच्चे
वडोदरा नाव हादसे में दंपत्ति ने दोनों बच्चों को खो दिया। (express)
Advertisement

Vadodara Boat Capsizes News: गुजरात के वडोदरा नाव हादसे में 16 लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में 14 छात्र और दो शिक्षक शामिल हैं। हरनी झील में नाव पटल जाने से मृतकों के परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। वहीं एक ऐसे दंपत्ति भी हैं जिन्हें शादी के 17 साल बाद माता-पिता बनने का सुख प्राप्त हुआ था मगर इस हादसे ने उनके दोनों बच्चों को उनसे छीन लिया। यह परिवार अजवा रोड पर रहता है। बेटा दूसरी और बेटी तीसरी कक्षा में पढ़ती थी। दरअसल, न्यू सनराइज स्कूल के छात्र शिक्षकों के साथ गुरुवार को पिकनिक मनाने गए थे।

शादी के 17 साल बाद दंपत्ति बने थे माता-पिता

हमारे सहयोगी द इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत के समय दंपति के रिश्तेदार ने कहा कि दोनों बच्चों को झील से बाहर निकालने के बाद प्राइवेट अस्पताल ले जाया गया मगर उन्हें बचाया नहीं जा सका। रिश्तेदान ने आगे कहा कि वे दोनों अपने माता-पिता की शादी के 17 साल बाद पैदा हुए थे। उनका जब जन्म हुआ तो परिवार के लोग काफी खुश हुए थे। उनके जन्म के लिए दंपत्ति ने कई सालों तक मंदिर में मन्नत मांगी, पूजा की। रिश्तेदार ने बताया कि फिलहाल बच्चे के पिता यूनाइटेड किंगडम से वडोदरा आ रहे हैं।

Advertisement

वहीं पैनीगेट मस्जिद के मौलवी मुफ्ती इमरान ने कहा कि परिवार ने एसएसजी अस्पताल में सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली हैं। यहां दोनों शवों का पोस्टमॉर्टम किया गया। उन्होंने आगे कहा, " बच्चों के पिता के आने के बाद उनके शवों को अंतिम संस्कार के लिए बरामद किया जाएगा।" हादसे की वजह से परिवार गमगीन है।

दरअसल, छात्र पिकनिक मनाने आए थे और हरनी झील में नाव की सवारी कर रहे थे, उसी समय हादसा हो गया। वहीं जो छात्र बच गए हैं उनका एसएसजी अस्पताल में इलाज किया जा रहा है।

Advertisement

गृह राज्य मंत्री सांघवी ने कहा- आयोजकों की गलती के कारण हुआ हादसा

मामले में गुजरात के गृह राज्य मंत्री सांघवी ने मीडिया कहा, ‘‘नौका पलटने की घटना में 14 छात्रों और दो शिक्षकों की मौत हो गई। वहीं 18 छात्रों और दो शिक्षकों को बचाया गया। हमें पता चला है कि नौका पर केवल 10 छात्र ही लाइफ जैकेट पहने हुए थे जो साबित करता है कि इसमें आयोजकों की गलती थी।’’

Advertisement

सांघवी ने आगे कहा कि भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 304 (गैर इरादतन हत्या) और 308 (गैर इरादतन हत्या का प्रयास) के तहत एक एफआईआर दर्ज की गई है। फिलहाल दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो