scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Uttarakhand: CM पुष्कर सिंह धामी ने बताई जंगलों के दहकने की वजह, आग पर काबू पाने के लिए बनाया प्लान

Uttarakhand: उत्तराखंड के जंगलों में लगातार आने वाले आग लगने के मामलों के चलते पुष्कर सिंह धामी की सरकार पर सवाल खड़े होते रहे हैं।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | Updated: May 15, 2024 17:19 IST
uttarakhand  cm पुष्कर सिंह धामी ने बताई जंगलों के दहकने की वजह  आग पर काबू पाने के लिए बनाया प्लान
Uttarakhand: उत्तराखंड में धामी सरकार का बड़ा कदम (सोर्स - PTI/File)
Advertisement

Uttarakhand Forest Fire: उत्तराखंड में पिछले कुछ महीनों में आग लगने की कई खबरें सामने आई हैं, जिसे काबू करना राज्य की पुष्कर सिंह धामी सरकार (Pushkar Singh Dhami) के लिए एक कड़ी चुनौती बन गया है। अब सीएम ने न केवल आग लगने की वजह भी बताई है, बल्कि ये भी बताया है कि इस आग को कंट्रोल करने के लिए क्या प्लान है। सीएम ने खुद बताया है कि सरकार के इस प्लान से आग तो कंट्रोल होगी ही, साथ ही लोगों की जेब भी भर सकती है।

दरअसल, राज्य सरकार का मानना है कि जंगलो में लगने वाली आग की एक बड़ी वजह तो पिरूल ही हैं। बता दें कि चीड़ के पेड़ के पत्तों को पिरूल कहते हैं और अब आग लगने का कारण पता लगने के बाद अब राज्य सरकार ने जनता से ही इन पिरूल को खरीदने का प्लान बनाया है।

Advertisement

सीएम धामी ने खुद दी जानकारी

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस मुद्दे के संबंध में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट में लिखा कि जंगलों में आग लगने की घटनाओं का एक प्रमुख कारण पिरुल होता है। जिसके निस्तारण के लिए हम आमजन के साथ मिलकर अभियान चला रहे हैं। 'पिरुल लाओ, पैसे पाओ'।

सीएम धामी ने कहा कि इस अभियान के तहत बड़ी संख्या में लोग पिरुल को इकट्ठा कर ₹ 50/किलो की दर से सरकार को बेच रहे हैं। जिसका व्यापक असर भी देखने को मिल रहा है। इस अभियान से वर्तमान में वनाग्नि की घटनाएं काफी कम हो गई हैं, साथ ही वन क्षेत्र के पास रहने वाले ग्रामीणों की आमदनी भी हो रही है।

Advertisement

केंद्र से नहीं रिलीज हुआ फंड

हालांकि, एक तरफ जहां सीएम धामी जंगलों की आग की रोकथाम को लेकर अपनी नई योजना के बारे में बता रहे हैं, तो दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई के दौरान उनकी सरकार के प्रतिनिधि वकील ने केंद्र की ही बीजेपी सरकार की मुश्किलें बढ़ा दीं। उत्तराखंड सरकार ने कहा कि हमारे आधे कर्मचारी ड्यूटी पर थे, जो कि काफी समय तक चुनाव में लगे हुए थे।

इतना ही नहीं, राज्य की बीजेपी सरकार ने केंद्र सरकार द्वारा फंड न जारी होने की बात भी कही। सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान राज्य सरकार ने कहा कि हम केंद्र द्वारा फंड रिलीज होने का इंतजार कर रहे हैं।

क्यों नाराज हो गया है सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को फटकार लगाते हुए कहा कि सरकार केवल बहाना बना रही है। वहीं वन विभाग के अधिकारियों की चुनावी कार्यों में होने वाली ड्यूटी पर लगाए जाने को लेकर भी सवाल उठाए। हालांकि अब चुनाव संपन्न हो गए हैं। ऐसे में मुख्य सचिव ने इस संबंध में निर्देश दे दिया है, जिसके चलते हम अपना आदेश अब वापस ले रहे हैं।

बता दें कि जंगलों में आग लगने को लेकर राज्य सरकार को सुप्रीम कोर्ट ने काफी फटकार लगाई और यह तक सवाल उठा दिए कि आखिर वन विभाग के कर्मचारियों को चुनावी कार्यों में क्यों लगाया गया।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 चुनाव tlbr_img2 Shorts tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो