scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

UP के इस गांव में एक ही परिवार के 5 लोगों समेत 7 की मौत ने मचाई सनसनी, जांच करने पहुंची मेडिकल टीम

UP: रायबरेली के एक गांव में हफ्ते भर के अंदर एक ही परिवार के 5 लोगों की मौत हो गई। इसके अलावा दो अन्य लोगों की भी मौत हुई है।
Written by: न्यूज डेस्क
Updated: April 02, 2024 17:08 IST
up के इस गांव में एक ही परिवार के 5 लोगों समेत 7 की मौत ने मचाई सनसनी  जांच करने पहुंची मेडिकल टीम
रायबरेली के एक गांव में लोगों की संदिग्द मौतों से दहशत (सोर्स - एक्सप्रेस फोटो)
Advertisement

उत्तर प्रदेश के दांडी समेत जुड़ावन मजरे, ममुनी गांव में पिछले 20 दिन में सात लोगों ने अपनी जान गंवाई है। इनमें से 5 लोग एक ही परिवार के थे। इसके चलते पूरे गांव में दहशत का माहौल है, जिसके चलते स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच करने पहुंची। इस दौरान टीम में चिकित्सा विभाग के अपर निदेशक डॉक्टर जीपी गुप्ता भी मौजूद थे।

जानकारी के मुताबिक, ममुनी ग्राम सभा के बुजुर्ग जगदीश मौर्य को 8 मार्च को डायरिया हुआ था। अब परिजन जब तक इस मामले को पूरी तरह समझ भी पाते, तब तक उनका निधन हो गया।

Advertisement

बुजुर्ग की मौत के बाद उनके परिवर के शिवबहादुर की मौत 17 मार्च को, ठाकुरदीन की मौत 26 मार्च को, और रामनारायण की मौत 28 मार्च को हो गई थी। 30 मार्च को रामेश्वर ने भी अपनी जान दे दी थी। ये सभी उसी मौर्य परिवार के सदस्य थे।

जांच करने गई थी स्वास्थ्य विभाग की टीम

इन मौतों को लेकर परिवार के लोगों को कहना है कि मरने वाले सभी लोगों को सांस लेने में सबसे ज्यादा परेशानी हो रही थी। पड़ोसी गांव पूरे जुड़ावन में 19 मार्च को राम कुमार और 22 मार्च को राजलाल पटेल की मौत हो गई थी। इन दोनों को भी मौर्य परिवार के मृतक लोगों की तरह ही समस्या हो रही थी।

Advertisement

लगातार बढ़ते मौतों के आंकड़े के चलते पूरे ग्रामीण इलाके में दहशत का माहौल फैल गया था। लोगों को एक बार फिर 2020-21 का कोरोना काल याद आने लगा था। मामले की जानकारी गांव के ही सत्यपाल विश्वकर्मा द्वारा स्वास्थ्य विभाग को दी गई, जिसके बाद मेडिकल टीम ने गांव का दौरा किया और सावधानी के चलते गांव में दवाओं को छिड़काव करवाया है, जिससे कीटाणुओं का नाश किया जा सके।

Advertisement

सीएचसी अधीक्षक डॉक्टर भावेश कुमार का कहना है कि सूचना मिलने पर टीम ने जाकर परीक्षण किया है, रिपोर्ट आने के बाद ही वजहों का पता चल पाएगा। वहीं ग्राम प्रधान देवेश शुक्ला ने बताया कि गांव में साफ सफाई लगातार कराई जा रही है और जिनकी भी मौत हुई , वे किसी न किसी बीमारी से पीड़ित थे।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो