scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Anurag Thakur: हिमाचल के हाईवे पर बस में धक्का मारते दिखे अनुराग ठाकुर, बिलासपुर में हो गई थी खराब

ठाकुर हिमाचल के ही रहने वाले हैं और वो चुनाव के चलते सूबे के दौरे पर हैं। उनकी कोशिश यातायात व्यवस्था को सुचारू करने की थी।
Written by: जनसत्ता ऑनलाइन | Edited By: संजय दुबे
Updated: November 09, 2022 10:12 IST
anurag thakur  हिमाचल के हाईवे पर बस में धक्का मारते दिखे अनुराग ठाकुर  बिलासपुर में हो गई थी खराब
Advertisement

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर हिमाचल प्रदेश के हाईवे पर बस में धक्का मारते दिखे। बिलासपुर में बीच सड़क एक बस खराब हो गई थी। अनुराग का काफिला वहां से गुजर रहा था। वो अपनी कार से उतरे और सड़क पर खड़ी बस को धक्का मारते दिखे। उनकी कोशिश यातायात व्यवस्था को सुचारू करने की थी। ठाकुर हिमाचल के ही रहने वाले हैं और वो चुनाव के चलते सूबे के दौरे पर हैं। हिमाचल प्रदेश में 12 नवंबर को मतदान होगा और मतगणना आठ दिसंबर को होगी।

इससे पहले उन्होंने मंगलवार को दावा किया कि हिमाचल प्रदेश में भाजपा दोबारा सत्ता में आने पर अगले पांच साल में राज्य के हर गांव को ‘मेटल रोड’ से जोड़ेगी और तीर्थस्थलों के बुनियादी ढांचे में सुधार किया जाएगा। राज्य में बिलासपुर जिले के घुमारवीं, झंडूता और सदर विधानसभा क्षेत्रों में चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए अनुराग ठाकुर ने कहा कि परिवहन के बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए भाजपा अगले 10 वर्षों में राज्य में ‘प्रोजेक्ट शक्ति’ का क्रियान्वयन करेगी।

Advertisement

उन्होंने कहा कि राज्य में तीर्थस्थलों और मंदिरों के पास परिवहन और बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए अगले 10 वर्षों में 12,000 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के मद्देनजर हर विधानसभा क्षेत्र में ‘मोबाइल क्लिनिक वैन’ की संख्या को दोगुना किया जाएगा।

कांग्रेस पर लगाया राज्य के विकास में बाधा उत्पन्न करने का आरोप

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में ‘डबल इंजन’ सरकार ने पिछले आठ वर्षों में ग्रामीण क्षेत्रों में 12,000 किलोमीटर लंबी सड़कों का निर्माण किया है और राज्य आधुनिक वंदे भारत ट्रेन के जरिये राष्ट्रीय राजधानी से जुड़ गया है। भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए राज्य में, विशेषकर बिलासपुर जिले में, विकास परियोजनाओं में बाधा उत्पन्न करने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा, ‘‘हमने 1,470 करोड़ रुपये की एम्स परियोजना को मंजूरी दी थी, लेकिन तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने इसके लिए जमीन आवंटित नहीं की थी। 2010 में, राज्य में तत्कालीन भाजपा सरकार ने राज्य के लिए एक केंद्रीय विश्वविद्यालय का प्रस्ताव रखा, लेकिन कांग्रेस सरकार ने इस प्रक्रिया में बाधा उत्पन्न की थी।’’

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो