scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Sandeshkhali Incident: संदेशखाली में क्या हुआ? बंगाल विधानसभा में जमकर हंगामा, स्मृति ईरानी ने लगाए गंभीर आरोप

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना में संदेशखाली के कई इलाकों में पिछले कुछ दिनों से तनाव व्याप्त है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
कोलकाता | Updated: February 12, 2024 18:31 IST
sandeshkhali incident  संदेशखाली में क्या हुआ  बंगाल विधानसभा में जमकर हंगामा  स्मृति ईरानी ने लगाए गंभीर आरोप
केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Source- Express)
Advertisement

पश्चिम बंगाल के संदेशखाली इलाके में महिलाएं पिछले कुछ दिन से प्रदर्शन कर रही हैं। उनका आरोप है कि तृणमूल कांग्रेस के फरार नेता शाहजहां शेख और उनके समर्थकों ने उनका यौन उत्पीड़न किया। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल सीवी आनंद बोस ने सोमवार को संदेशखाली क्षेत्र का दौरा किया और कहा कि वह वहां के घटनाक्रम को देखकर स्तब्ध हैं और उनकी अंतरात्मा हिल गई है। वहीं, बंगाल विधानसभा में भी इस मुद्दे पर जमकर हंगामा हुआ। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि ममता बनर्जी हिंदुओं के नरसंहार के लिए जानी जाती हैं।

संदेशखाली हिंसा पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा, "ममता बनर्जी हिंदुओं के नरसंहार के लिए जानी जाती हैं। वह अब अपने आदमियों को टीएमसी कार्यालय में युवा विवाहित हिंदू महिलाओं को बलात्कार के लिए ले जाने की अनुमति देंगी। यह आदमी कौन है जिस पर संदेशखाली की महिलाओं ने बंगाली हिंदू महिलाओं के सामूहिक बलात्कार का आरोप लगाया? अब तक हर कोई सोच रहा है कि शेख शाहजहां कौन है। अब ममता बनर्जी को इस सवाल का जवाब देना होगा कि शेख शाहजहां कहां हैं?"

Advertisement

महिलाओं ने मीडिया को अपनी आपबीती सुनाई

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि संदेशखाली में कुछ महिलाओं ने मीडिया को अपनी आपबीती सुनाई है। महिलाओं ने कहा है कि टीएमसी के गुंडे हर घर में सबसे खूबसूरत महिला की पहचान करने के लिए घर-घर गए। उन्होंने कहा, "उन महिलाओं के पतियों से कहा गया कि भले ही तुम पति हो लेकिन अब तुम्हारा अपनी पत्नी पर कोई अधिकार नहीं है। वे हर रात महिलाओं का अपहरण कर लेते थे। वे जब तक संतुष्ट नहीं हो जाते थे, हमें नहीं छोड़ते थे।"स्मृति ईरानी ने कहा कि ये सभी आरोप क्षेत्र की दलित, एसटी, मछुआरा और किसान समुदाय की महिलाओं ने लगाए हैं।

गौरतलब है कि कि संदेशखाली में महिलाओं ने पिछले दिनों विरोध-प्रदर्शन किया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि स्थानीय टीएमसी नेता शेख शाहजहां और उनके गिरोह ने उनका यौन उत्पीड़न किया और उनकी जमीन के बड़े हिस्से पर बलपूर्वक कब्जा कर लिया है।

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल ने कहा कि उनकी अंतरात्मा हिल गई

राज्यपाल बोस ने आश्वासन दिया कि उनकी कलाई पर राखी बांधने वाली सताई हुई महिलाओं को न्याय दिलाने के लिए पूरी तरह मदद की जाएगी। बोस ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैंने जो देखा वो भयावह, स्तब्ध करने वाला और मेरी अंतरात्मा को हिला देने वाला था। मैंने वो कुछ देखा जो कभी नहीं देखना चाहिए था। मैंने कई चीजें सुनी थीं जो कभी नहीं सुननी चाहिए थीं। मुझे विश्वास नहीं हो रहा कि कविगुरु रवींद्रनाथ टैगोर की भूमि पर यह सब हुआ।’’ राज्यपाल ने कहा कि वह संविधान के प्रावधानों के तहत, कानून के अनुसार इससे लड़ेंगे। बोस ने संदेशखाली के हालात पर राज्य सरकार से व्यापक रिपोर्ट मांगी है।

Advertisement

टीएमसी नेता शेख शाहजहां पर यौन उत्पीड़न का आरोप

दरअसल, पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना में संदेशखाली के कई इलाके पिछले कुछ दिनों से तनाव में हैं। 9 फरवरी को ग्रामीणों ने तृणमूल कांग्रेस नेताओं की संपत्तियों को आग लगा दी थी। संदेशखाली के जेलियाखाली इलाके में उत्तेजित भीड़ ने स्थानीय तृणमूल कांग्रेस के नेता शिबोप्रसाद हाजरा के तीन पोल्ट्री फार्मों में आग लगा दी थी। गुस्साए ग्रामीणों ने स्थानीय तृणमूल नेता की कुछ अन्य संपत्तियों में भी तोड़फोड़ की और आग लगा दी थी।

कुछ दिन पहले एक अन्य स्थानीय TMC नेता उत्तम सरदार की संपत्तियों पर भी स्थानीय लोगों ने हमला किया था। शेख शाहजहां, उत्तम सरदार और शिबोप्रसाद हाजरा सहित स्थानीय तृणमूल कांग्रेस नेतृत्व के विरोध में ग्रामीण गुरुवार को सड़कों पर उतर आए थे। 5 जनवरी को ईडी की एक टीम पर हमले के बाद टीएमसी नेता शेख शाहजहां फरार हैं। ग्रामीणों का कहना है कि वे चाहते हैं कि शाहजहां के साथ उत्तम सरदार और शिबोप्रसाद हाजरा को भी गिरफ्तार किया जाए।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो