scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

राजस्थान विधानसभा में जमकर हंगामा, दोनों पक्ष आए आमने-सामने, स्पीकर देवनानी का पारा हुआ हाई

राजस्थान विधानसभा के दूसरे दिन 'जय श्रीराम' के नारों के बाद कार्यवाही शुरू की गई। जिसके बाद जमकर हंगामा हुआ। इस बीच स्पीकर देवनानी को गुस्सा आ गया।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Jyoti Gupta
जयपुर | Updated: January 23, 2024 16:41 IST
राजस्थान विधानसभा में जमकर हंगामा  दोनों पक्ष आए आमने सामने  स्पीकर देवनानी का पारा हुआ हाई
गुस्से में स्पीकर देवनानी।
Advertisement

राजस्थान विधानसभा की कार्यवाही के दूसरे दिन भी जमकर हंगामा हुआ। जय श्रीराम के नारों के बाद कार्यवाही शुरू की गई। इसके बाद विपक्ष ने कई सारे मुद्दे को लेकर हंगामा किया। विपक्ष का दावा था कि उन्हें प्रश्नकाल में सरकार की तरफ से कई प्रश्नों के 'समुचित उत्तर' नहीं मिले। हंगामे की शुरुआत सरकारी भर्ती परीक्षा प्रश्नपत्र लीक मामलों की जांच को लेकर हुई। इस मुद्दे को लेकर सत्ता पक्ष व विपक्ष के सदस्य आमने-सामने आ गए।

Advertisement

इसके अलावा ‘राजीव गांधी युवा मित्र योजना’ को बंद किए जाने का मुद्दा भी शून्यकाल में उठा जहां व‍िपक्ष के कई विधायकों ने सरकार से अपना फैसला वापस लेने की मांग की। इस योजना के तहत अशोक गहलोत सरकार ने अपनी योजनाओं के प्रचार-प्रसार के लिए हर जिले में युवाओं की भर्ती की थी। नवगठित विधानसभा में मंगलवार को पहला प्रश्नकाल था। इसकी शुरुआत राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के विधायक हनुमान बेनीवाल के प्रश्नपत्र लीक मामलों की जांच संबंधी सवाल से हुई।

Advertisement

सीबीआई जांच की मांग

राज्य के गृह मंत्री की ओर से स्वास्थ्य मंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर ने सदन में बताया कि साल 2021 से 2023 तक ऐसे लगभग बीस मामले सामने आए। हालांकि बेनीवाल उनके जवाब से संतुष्ट नहीं हुए और ऐसे मामलों की सीबीआई जांच करवाने की मांग की। इसे लेकर सदन में काफी हंगामा हुआ।

बाद में बेरोजगारों को भत्ता दिए जाने संबंधी कई सवालों के जवाब से विपक्ष असंतुष्ट नजर आया। कार्यवाही के पहले दिन प्रश्नों के उत्तर देने में संबंधित मंत्रियों के अटकने का दावा करते हुए विपक्षी विधायक गोविंद सिंह डोटासरा ने कटाक्ष किया और विधानसभा अध्‍यक्ष वासुदेव देवनानी से कहा कि मंत्रियों को प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए। डूंगरपुर की पंचायत समिति च‍िखली के भवन निर्माण में अनियमितता संबंधी सवाल के जवाब में मंत्री मदन दिलावर ने दो अधिकारियों को निलंबित करने की घोषणा सदन में की।

कार्यवाही के दौरान विधानसभा अध्यक्ष देवनानी कई बार सदस्यों के व्यवहार से नाराज दिखे। उन्होंने सदस्यों को सदन में इधर-उधर नहीं घूमने की हिदायत दी। साथ ही उन्होंने अधिकारियों को भी कार्यवाही के दौरान सदन से उठकर नहीं जाने को कहा। शून्यकाल में रोहित बोहरा सहित कई विपक्षी विधायकों ने मौजूदा सरकार द्वारा ‘राजीव गांधी युवा मित्र योजना’ को बंद करने व इससे 5000 युवाओं के बेरोजगार होने का मुद्दा उठाया।

Advertisement

उन्‍होंने कहा कि मौजूदा सरकार चाहती तो इस योजना का नाम बदल सकती थी लेकिन इसे बंद नहीं करना चाह‍िए था। कांग्रेस ने इसे लेकर सदन से बहिर्गमन भी किया। बाद में विधायक अनिता भदेल ने राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव रखा।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो