scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Rishikesh AIIMS: एम्स में यौन उत्पीड़न के आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस का फिल्मी स्टाइल, छठी मंजिल तक पहुंचा दी एसयूवी

आरोपी को गिरफ्तार कर वापस लौटते वक्त प्रदर्शन कर रही भीड़ ने एसयूवी को देखा और उसका पीछा किया।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | May 23, 2024 21:02 IST
rishikesh aiims  एम्स में यौन उत्पीड़न के आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस का फिल्मी स्टाइल  छठी मंजिल तक पहुंचा दी एसयूवी
पुलिसकर्मियों ने छठी मंजिल पर पहुंचा दी एसयूवी। (इमेज- सोशल मीडिया)
Advertisement

Rishikesh AIIMS: उत्तराखंड के ऋषिकेश एम्स में एक जूनियर डॉक्टर के द्वारा नर्सिंग अधिकारी पर कथित रूप से यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए गए अब इसी मांग को लेकर डॉक्टर ने खूब विरोध प्रदर्शन किया इसके बाद पुलिस ने मंगलवार को आरोपी को गिरफ्तार कर लिया उन्होंने आरोपी को एकदम फिल्मी स्टाइल में अरेस्ट किया है। पुलिस आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए एसयूवी लेकर हॉस्पिटल की छठी मंजिल पर पहुंची।

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है एक महिंद्रा एसयूवी पीसीआर को एक व्यस्त वार्ड में एंट्री करते देखा जा सकता है। जबकि उसे एक पुलिसकर्मी गाइड कर रहा है। मरीजों को स्ट्रेचर पर लेटे हुए देखा जा सकता है। इसके अलावा कुछ सिक्योरिटी गार्डों को भी पुलिस की गाड़ी के लिए रास्ता बनाते हुए देखा जा सकता है।

Advertisement

पुलिस ने इन धाराओं के तहत दर्ज किया मामला

कथित यौन उत्पीड़न की घटना रविवार की शाम को हुई थी। नर्सिंग अधिकारी सतीश कुमार पर आरोप है कि जब एक ऑपरेशन चल रहा था तो उन्होंने ऑपरेशन थियेटर के अंदर एक जूनियर रेजिडेंट डॉक्टर को परेशान किया। इतना ही नहीं, उन पर अश्लील मैसेज भेजने का भी आरोप है। पुलिस ने बताया कि उन्हें मंगलवार को मामले की जानकारी दी गई। इसके बाद आईपीसी की धारा 354 और 506 के तहत एफआईआर दर्ज की गई। इस बीच कई जूनियर और सीनियर रेजिडेंट्स आरोपी की गिरफ्तारी की मांग करते हुए डीन ऑफिस के बाहर धरने पर बैठ गए।

देहरादून के एसएसपी अजय सिंह ने कहा कि 19 मई की घटना के बाद मामले को शुरू में एम्स प्रशासन ने संभाला था। कुछ स्वास्थ्य समस्या की शिकायत के बाद आरोपी को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अधिकारी ने कहा कि मंगलवार को कई डॉक्टरों के विरोध प्रदर्शन के लिए इकट्ठा होने के बाद पुलिस को जानकारी दी गई और एक एफआईआर दर्ज की गई। धीरे-धीरे सभी का गुस्सा बढ़ने लगा। आरोपी को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया।

मंगलवार को जब पुलिस पहुंची तो एम्स के एक सुरक्षा गार्ड ने कहा कि हमें आरोपी को वार्ड से बाहर निकालना होगा। वरना मामला काफी बढ़ सकता है और यहां तक कि भीड़ उसकी हत्या भी कर सकती है। हमने उसे सुरक्षित बाहर निकालने के लिए एंबुलेंस वाले रास्ते का इस्तेमाल किया। आरोपी को पैदल लाने में कठिनाई होने की वजह से पुलिस की एसयूवी छठी मंजिल पर पहुंची और आरोपी को अरेस्ट कर लिया।

Advertisement

महिला आयोग की अध्यक्ष ने डीन से की मुलाकात

आरोपी को गिरफ्तार कर वापस लौटते वक्त प्रदर्शन कर रही भीड़ ने एसयूवी को देखा और उसका पीछा किया। सिंह ने आगे कहा कि पहली मंजिल पर एसयूवी को घेर लिया गया और फिर एम्स के गार्डो ने एसयूवी को बाहर निकालने के लिए एक अलग रास्ता बनाया। बुधवार को राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने एम्स में पहुंचकर पीड़िता के साथ ही डीन जया चतुर्वेदी और अन्य महिला डॉक्टरों से मुलाकात कर मामले की जानकारी ली थी। इसके बाद कंडवाल ने देहरादून के डीएम को तुरंत जांच कमेटी के गठन करने का निर्देश दिया। अधिकारियों ने बताया कि आरोपी को एम्स प्रशासन ने सस्पेंड कर दिया है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 चुनाव tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो